Connect with us

उत्तर प्रदेश

यूपी में मजदूरों को दिए जाएंगे 1000 रुपये, Yogi goverment का बड़ा ऐलान

Published

on

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस (Corona virus) के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। संक्रमण के भय से काम व धंधे बंद होने के कारण परेशान हो रहे दिहाड़ी मजदूरों को योगी सरकार (Yogi goverment) ने बड़ी राहत दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने शनिवार को ऐलान किया कि सरकार तत्काल प्रभाव से प्रदेश के 35 लाख मजदूरों को 1000 रुपये प्रति व्यक्ति देगी।

जरूरत पड़ने पर सरकार और मदद करेगी

उन्होंने कहा कि प्रतिदिन कमाने वाले लोगों के लिए इस पैकेज की घोषणा की जा रही है। 15 लाख पंजीकृत दिहाड़ी मजदूर और 20.37 लाख रिक्शा, खोमचे वालों, रेहड़ी वाले, फेरी वाले, निर्माण कार्य करने वाले श्रमिकों को उनकी दैनिक जरूरतों को पूरा करने में मदद करने के लिए एक-एक हजार रुपये दिए जा रहे हैं। आवश्यकता पड़ने पर इसमें और भी सहयोग किया जाएगा।

मनरेगा श्रमिकों का तुरंत होगा भुगतान, राशन का इंतजाम

इसके अलावा सभी पंजीकृत मजदूरों को भरण पोषण भत्ता देंगे। मुख्यमंत्री ने मनरेगा मजदूरी को तुरंत भुगतान देने की घोषणा की। एक हजार रुपये की सहायता राशि सीधे अकाउंट में जाएगी। खोमचे वालों को खाद्यान उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि 1.65 करोड़ परिवारों को अनाज उपलब्ध होगा। बीपीएल परिवारों को 20 किलो गेहूं, 15 किलो चावल को मुफ्त मिलेगा। पीडीएस दुकानों के जरिए अनाज दिया जाएगा। अप्रैल मई की पेंशन अप्रैल में ही दी जाएगी।

जनता कर्फ्यू को सफल बनाने की अपील

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वारयस के खिलाफ हम जो लड़ाई लड़ रहे हैं, आम जनता भी सरकार के साथ मिलकर इस लड़ाई को लड़े। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर रविवार को अघोषित जनता कर्फ्यू को सफल बनाने के लिए आम जनता से इसका पालन करते हुए अपने घरों में रहने की अपील की।

रविवार को मेट्रो और सेवाएं बंद

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी को प्रधानमंत्री द्वारा बुलाए गए जनता कर्फ्यू का पालन करना चाहिए। इसके तहत रविवार को राज्य की सभी मेट्रो रेल, राज्य और सिटी बस सेवाएं रात दस बजे तक बंद रहेंगी। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की वे बाजारों में भीड़ न लगाएं। वहीं उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुओं की जमाखोरी नहीं हो और कीमत से अधिक दाम पर वस्तुएं किसी भी सूरत में नहीं बेची जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे पास पर्याप्त खाद्यान हैं, भीड़ भाड़ ना करें, संक्रमण ना होने दें। दुकानों में लाइन ना लगाएं, जो जरूरी हो वहीं लेने जाएं। हम किसी भी चीज की किल्लत नहीं होने देंगे।

READ  दुनिया घूमने के लिए बेची पूरी संपत्ति, क्या हुआ कि 20 मिनट में सब खत्म

कोरोना के 23 में से 09 मरीज हुए ठीक

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में कुल 23 लोग कोरोनो वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। कुल मामलों में से नौ लोग ठीक हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि हमारे पास राज्य में पर्याप्त संख्या में आइसोलेशन वार्ड हैं। मल्टीपलेक्स सिनेमा घर और स्कूल बंद हैं। हर स्तर पर सतर्कता बरती जा रही है।

उत्तर प्रदेश

लखनऊ के 18 जमाती अभी भी दिल्ली में, पुलिस की जांच में हुआ खुलासा

Published

on

By

लखनऊ। लखनऊ से दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में जमात में शामिल होने गए 18 जमाती अभी भी दिल्ली में हीं है। जांच के बाद इस बात का खुलासा हुआ है। इन 18 लोगों में कुछ लोगों से लखनऊ पुलिस की बातचीत भी हुई है, वे सभी एक साथ दिल्ली में है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त कानून व्यवस्था नवीन अरोड़ा ने एक न्यूज एजेंसी से बातचीत में कहा कि दिल्ली के निजामुद्दीन में हुई जमात में शामिल होने गए 18 जमाती में पांच जमाती अपने साथ पत्नियों को भी ले गए थे। मतलब दिल्ली गये लोगों की कुल संख्या 23 है। ये सभी एक साथ दिल्ली में ही क्वांटाइन हो रहे हैं।

यह जानकारी कुछ जमातियों के फोन पर बातचीत में लखनऊ पुलिस को हुई है। जमातियों के ज्यादातर फोन नम्बर लखनऊ में बैठे परिजन के ही थे। कुछ नम्बर ही जमातियों ने अपने दिए थे जिससे यह जानकारी निकल सकी है।गौरतलब है कि दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में जमात का आयोजन हुआ, जिसमें लखनऊ समेत पूरे देश से जमातियों का जुटना हुआ था।

READ  मायावती ने सपा को बताया धोेखेबाज, अखिलेश यादव पर किए चुन-चुन कर वार
Continue Reading

उत्तर प्रदेश

गोंडा गोलीकांड: सपा नेताओं की हत्या के मामले में थानाध्यक्ष निलंबित

Published

on

By

कार्रवाई

-मुख्य आरोपी समेत सभी आरोपी गिरफ्तार ,हत्या में इस्तेमाल हथियार बरामद

-दो पक्षों के विवाद के बाद शुक्रवार को हुई थी फायरिंग

गोण्डा। उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में समाजवादी पार्टी (सपा )के दो नेताओं की हत्या के मामले में बड़ी कार्रवाई की गई है। इस मामले में उमरी बेगमगंज के थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने वारदात में शामिल मुख्य आरोपी अतुल सिंह समेत सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने आला-ए-कत्ल बरामद किया गया है।

मामला उमरी बेगम थाना क्षेत्र के परास पट्टी मझवार गांव का है। जहां शुक्रवार की देर शाम पुरानी रंजिश को लेकर हुए विवाद में हुई फायिरंग में देवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ लाठी सिंह (55 वर्ष) पुत्र शिव बहादुर सिंह, विजय कुमार सिंह पुत्र शिव बहादुर सिंह, चन्द्र मोहन यादव पुत्र बल राम, देवेंद्र सिंह पुत्र राम बहादुर, रानू सिंह पुत्र उमेश सिंह, अतुल सिंह पुत्र कालिका, कन्हैया पुत्र जगदम्बा पाठक को गोली लगी थी। सभी को घायल अवस्था में इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया। जिला अस्पताल के चिकित्सक डॉक्टर शुऐब ने देवेंद्र प्रताप और कन्हैया को मृत घोषित कर दिया था।

पप्पू सिंह उर्फ परास ने बताया कि ग्राम के प्रधान और जिला पंचायत सदस्य के विरुद्ध में मनरेगा पैसा को लेकर शिकायत की गई थी। उसी की जांच ग्राम में आई थी। जांच की जानकारी होने पर टीम के सामने बयान देने गए थे। तभी ताबड़तोड़ कई गोली चलाई गईं। जिसमें सात लोगों को गोली लग गई। बाद में दो लोगों की मौत हो गई।

READ  यूपी में बड़ा हादसा : क्रेशर प्लांट की गिरने दीवार से नाबालिग समेत पांच लोगों की मौत, सात घायल

डीआईजी राकेश सिंह ने बताया की इस घटना में मुख्य अभियुक्त अतुल सिंह समेत सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इन सभी के खिलाफ रासुका लगाने की तैयारी की जा रही है। साथ ही लापरवाही बरतने पर थानाध्यक्ष उमरी बेगमगंज को निलंबित कर दिया गया है। एसओजी प्रभारी रहे अतुल चतुर्वेदी को नया थाना अध्यक्ष बनाया गया है।

गौरतलब है कि लॉक डाउन के दौरान जनपद में हुई इस घटना को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीधे संज्ञान में लेते हुए डीएम व एसपी को कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे।

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश में इस दिन भी खुले रहेंगे बैंक, सरकार ने रद्द की छुट्टियां

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 6 अप्रैल और 10 अप्रैल को बैंक खुले रहेंगे। महावीर जयंती और गुड फ्राइडे के मौके पर बैंकों में छुट्टी होती थी, लेकिन इस बार उत्तर प्रदेश में ऐसा नहीं होगा। उत्तर प्रदेश में महावीर जयंती 6 अप्रैल और गुड फ्राइडे 10 अप्रैल को सभी बैंक खुले रहेंगे। दोनों दिन बैंक में प्रतिदिन की तरह ही कामकाज होगा।

लॉकडाउन के कारण राज्य सरकार DBT  के माध्यम से किसानों और गरीबों को उनके बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर कर रही है। यही कारण है कि राज्य के सभी बैंकों के 6 अप्रैल और 10 अप्रैल के घोषित अवकाश को निरस्त कर दिया गया हैं।

बताते चलें कि यूपी सरकार राज्य के अलग-अलग वर्ग के जरूरतमंदों को पैसे ट्रांसफर कर रही है। इसमें बुजुर्ग, महिला और गरीब वर्ग के लोग शामिल है। वित्त मंत्रालय ने ये अपील की इस बीच महिला जन-धन खाताधारकों से राहत राशि की निकासी के लिए इंडियन बैंक एसोसिएशन (आईबीए) की समयसारिणी का पालन करने की अपील की है।

मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बैंकों में भीड़ लगाने से बचा जाना चाहिए। चेक करें छुट्टियों की लिस्ट वित्त सेवा सचिव देवाशीष पांडा ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘महिला जन-धन खाताधारकों से अपील की जाती है कि वे अपने खाता संख्या के आखिरी अंक को देख लें और उसके आधार पर आईबीए की समयसारिणी का अनुसरण करें। पैसों की निकासी किसी भी एटीएम से भी की जा सकती है।

एटीएम से इस निकासी पर कोई शुल्क नहीं लगेगा। आपस में दूरी का पालन करें और कोरोना वायरस से लड़ें।  कैसे मिलेगा महिलाओं को पैसा? आईबीए की तय समयसारिणी के हिसाब से जिन महिला जन-धन खाताधारकों की खाता संख्या का आखिरी अंक शून्य या एक है, उनके खाते में तीन अप्रैल को पैसे डाले जाएंगे। जिनकी खाता संख्या का आखिरी अंक दो या तीन है, उन्हें चार अप्रैल को पैसे मिलेंगे। इसी तरह चार या पांच आखिरी अंक वाले सात अप्रैल को, छह या सात अंक वाले आठ अप्रैल को तथा आठ या नौ अंक वाले नौ अप्रैल को पैसे निकाल सकेंगे। बता दें कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत घोषित तीन किस्तों की ये पहली किस्त है।

READ  दुनिया घूमने के लिए बेची पूरी संपत्ति, क्या हुआ कि 20 मिनट में सब खत्म
Continue Reading

Trending