यूक्रेन के मंत्री का दावा: हमारा विमान हाईजैक हुआ, सरकार का इनकार

अफगानिस्तान से यूक्रेन का विमान हाईजैक कर लिया गया है।
 
plan
यूक्रेन का विमान हाईजैक

नई दिल्ली। अफगानिस्तान से यूक्रेन का विमान हाईजैक कर लिया गया है। यह विमान अपने नागरिकों को रेसक्यू करने काबुल गया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, हाईजैकर्स विमान को ईरान की ओर ले जा रहे हैं। यूक्रेन के उप विदेश मंत्री येवगेनी येनिन ने जानकारी देते हुए बताया कि  येवगेनी येनिन ने बताया है कि 22 अगस्त को हमें पता चला कि हमारे एक प्लेन को हाईजैक कर लिया गया। फिर 24 अगस्त को पता चला कि विमान चोरी कर लिया गया है। यह विमान यूक्रेन के नागरिकों को एयरलिफ्ट करने के बजाए यात्रियों के एक अज्ञात समूह के साथ ईरान के लिए उड़ान भरी। हमारे अगले तीन रेस्क्यू मिशन भी असफल रहे क्योंकि हमारे लोग काबुल एयरपोर्ट के परिसर तक नहीं पहुंच सके।

हालांकि ईरान ने यूक्रेन के इस बात का खंडन किया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक़ ईरान के विमानन नियामक ने यूक्रेन के दावे का खंडन करते हुए कहा कि यूक्रेनी विमान 23 अगस्त की रात मशहद में फ्यूल के लिए रुका और फिर यूक्रेन चला गया।

येवगेनी येनिन के मुताबिक हाईजैकर्स हथियारों से लैस थे। हालांकि उन्होंने इस मामले में कुछ भी नहीं बताया है कि विमान का क्या हुआ, यूक्रेन इस विमान को वापस लेगा या नहीं और यूक्रेन इस विमान को वापस लेने के लिए क्या कर रहा। उन्होंने बस इतनी जानकारी दी है कि विदेश मंत्री दिमित्री कुलेबा की अध्यक्षता में पूरी राजनयिक सेवा पूरे सप्ताह 'दुर्घटना परीक्षण मोड में काम कर रही थी'।

उधर यूक्रेन विदेश मंत्रालय के अध्यक्ष ओलेग निकोलेंको ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि यूक्रेन का कोई विमान काबुल या कहीं और हाईजैक नहीं हुआ है। कुछ मीडिया आउटलेट की ओर से हाईजैक प्लेन के बारे में जानकारियां साझा की जा रही हैं, जो कि वास्तविकता के अनुरूप नहीं है।

बता दें कि 22 अगस्त को 31 यूक्रेन के नागरिक सहित कुल 83 लोग एक मिलिट्री ट्रांसपोर्ट प्लेन अफगानिस्तान से यूक्रेन की राजधानी कीव पहुंचा था। राष्ट्रपति ऑफिस ने बताया है कि 12 यूक्रेन के सैन्यकर्मी लौट आए है  जबकि विदेशी पत्रकारों सहित कई और लोगों को भी बाहर निकाला गया है। ऑफिस ने बताया था कि यूक्रेन के करीब 100 लोगों को अभी भी अफगानिस्तान से रेस्क्यू करना है।