पंजाब मे इस भाषा को किया गया अनिवार्य, न पढ़ाने पर लगेगा 2 लाख जुर्माना

पंजाब मे 1 से 10वीं तक के स्कूलों में पंजाबी भाषा को नहीं पढ़ाने पर 2 लाख रुपये तक जुर्माना लगाया जाएगा. कैबिनेट की बैठक में पंजाब और अन्य भाषा शिक्षा एक्ट-2008 में संशोधन कर स्कूलों पर जुर्माने की राशि को बढ़ाने को मंजूरी दे दी गई है. अब स्कूलों में पंजाब भाषा को विकल्प के रूप में नहीं अनिवार्य रूप से विद्यार्थियों को पढ़ाया जाएगा.

 
PANJAB
पंजाब मे इस भाषा को किया गया अनिवार्य, न पढ़ाने पर लगेगा 2 लाख जुर्माना

पंजाब मे 1 से 10वीं तक के स्कूलों में पंजाबी भाषा को नहीं पढ़ाने पर 2 लाख रुपये तक जुर्माना लगाया जाएगा. कैबिनेट की बैठक में पंजाब और अन्य भाषा शिक्षा एक्ट-2008 में संशोधन कर स्कूलों पर जुर्माने की राशि को बढ़ाने को मंजूरी दे दी गई है. अब स्कूलों में पंजाब भाषा को विकल्प के रूप में नहीं अनिवार्य रूप से विद्यार्थियों को पढ़ाया जाएगा.

बैठक में पंजाब विधानसभा के मौजूदा सत्र में यह विधेयक पेश करने के लिए भी हरी झंडी दे दी है. सरकार के इस फैसले से एक्ट का उल्लंघन करने पर जुर्माना राशि 25,000, 50,000 और 1 लाख रुपये से बढ़ाकर क्रमवार 50,000, 1 लाख रुपये और 2 लाख रुपये हो जाएगी.

नए नियमों के अनुसार 1 महीने से अधिक समय के लिए पहली बार उल्लंघन करने वाले स्कूल पर 50,000 रुपये का जुर्माना लगया जाएगा. दूसरी बार उल्लंघन करने पर 1 लाख और तीसरी बार उल्लंघन करने पर 2 लाख रुपये जुर्माना लगाया जाएगा. इसी तरह धारा 8 के तहत उप-धारा 1-ए भी शामिल की गई है जिसके अनुसार राज्य सरकार जहां भी यह महसूस करे कि ऐसा किया जाना अपेक्षित और व्यावहारिक है तो लिखित रूप में कारण स्पष्ट कर राज्य सरकार सरकारी गजट में अधिसूचना जारी कर एक्ट की धारा 8 की उप धारा 1 के अधीन निर्धारित जुर्मानों को बढ़ा या घटा सकती है.