काबुल बम धमाके में अब तक 109 लोगों की मौत, अमेरिका ने कहा- हमलावरों को ढूंढ-ढूंढ कर मारेंगे

अफगानिस्तान में गुरुवार को  काबुल एयरपोर्ट के बाहर हुए सीरियल बम धमाकों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 109 हो गई है।  98 लोग घायल हैं। इनमें से 62 लोगों की हालत गंभीर है।
 
Bomb blast outside Kabul airport
काअुल एयपोर्ट के बाह बम धमाका


काबुल।  अफगानिस्तान में गुरुवार को  काबुल एयरपोर्ट के बाहर हुए सीरियल बम धमाकों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 109 हो गई है।  98 लोग घायल हैं। इनमें से 62 लोगों की हालत गंभीर है।

मरने वालों में 13 अमेरिकी सैनिक भी हैं। इस दौरान 20 अमेरिकी सैनिक घाय़ल हुए हैं, जिनमें से 8 की हालत गंभीर है। इस आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट आतंकवादी संगठन ने ली है। दो आत्मघाती हमलावरों में से एक अफगानिस्तान से था और एक अन्य पाकिस्तान से था।

इसी बीच व्हाइट हाउस की ओर से एक बड़ी घोषणा की गई है कि अफगानिस्तान के काबुल में आतंकवादी हमलों में मारे गए पीड़ितों के सम्मान में 30 अगस्त की शाम तक अमेरिका का ध्वज आधा झुका रहेगा।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार एक बम धमाका एयरपोर्ट के अब्बे गेट पर और दूसरा धमाका एयरपोर्ट के बाहर बैरन होटल के पास हुआ। दोनों घटनास्थल आस-पास ही हैं। हमले में कई अफगान नागरिक भी हताहत हुए हैं। घायलों का अस्पतालों में उपचार जारी है।

 
इस बीच शुक्रवार को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि हमला करने वालों को ढूंढ-ढूंढकर मारेंगे, किसी को छोड़ेंगे नहीं। आतंकी हमले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने व्हाइट हाउस के सिचुएशन रूम में मीटिंग की। इसके बाद उन्होंने देश को संबोधित किया।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन की ओर से भी लोगों को सतर्क किया गया था। काबुल में अमेरिकी दूतावास की ओर से जारी अलर्ट में कहा गया था कि अमेरिकी और अफगान नागरिक एयरपोर्ट की ओर यात्रा करना टाल दें। यही नहीं एयरपोर्ट के गेट पर जो भी लोग पहले से मौजूद हैं, वे तत्काल वहां से दूर चले जाएं।