यूपी में आयकर विभाग की ताबड़तोड़ छापेमारी, इत्र कारोबारी के 6 ठिकानों से 160 करोड़ मिले

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में आयकर विभाग (Income Tax Department) के ताबड़तोड़ छापेमारी जारी है। यूपी चुनाव से ठीक पहले आयकर विभाग (Income Tax Department) की छापेमारी पर सियासी माहौल गरमाया है। लेकिन आयकर विभाग (Income Tax Department) की छापेमारी में करोड़ों की अघोषित संपत्ति का भी खुलासा हो रहा है। इसी कड़ी में गुरूवार को आयकर विभाग (Income Tax Department) की मुंबई विंग ने को इत्र कारोबारी पीयूष जैन के छह ठिकानों पर छापे मारे। सूत्रों के मुताबिक, 160 करोड़ की अघोषित रकम का खुलासा हुआ है जबकि 90 करोड़ रुपये नगद मिले हैं।

 
iy
सूत्रों के मुताबिक, कानपुर में इत्र कारोबारी पीयूष जैन के छह ठिकानों पर आयकर विभाग (Income Tax Department) की छापे मारी में मिले नगद रूपये की गणना के लिए नोट गिनने वाली चार मशीनें मंगाई गईं।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में आयकर विभाग (Income Tax Department) के ताबड़तोड़ छापेमारी जारी है। यूपी चुनाव से ठीक पहले आयकर विभाग (Income Tax Department) की छापेमारी पर सियासी माहौल गरमाया है। लेकिन आयकर विभाग (Income Tax Department) की छापेमारी में करोड़ों की अघोषित संपत्ति का भी खुलासा हो रहा है। इसी कड़ी में गुरूवार को आयकर विभाग (Income Tax Department) की मुंबई विंग ने को इत्र कारोबारी पीयूष जैन के छह ठिकानों पर छापे मारे। सूत्रों के मुताबिक, 160 करोड़ की अघोषित रकम का खुलासा हुआ है जबकि 90 करोड़ रुपये नगद मिले हैं।

सूत्रों के मुताबिक, कानपुर में इत्र कारोबारी पीयूष जैन के छह ठिकानों पर आयकर विभाग (Income Tax Department) की छापे मारी में मिले नगद रूपये की गणना के लिए नोट गिनने वाली चार मशीनें मंगाई गईं। आयकर विभाग (Income Tax Department) ने देर रात पीयूष जैन के कन्नौज स्थित चार परिसरों, कानपुर में आनंदपुरी स्थित आवास और फैक्ट्री, आफिस, पेट्रोल पंप व कोल्ड स्टोरेज पर आयकर विभाग (Income Tax Department) की टीमों ने एक साथ छापे मारे। आयकर अधिकारियों ने उनके मुंबई और गुजरात स्थित शोरूमों और आफिस में भी कार्रवाई की है।

आयकर विभाग (Income Tax Department) को पीयूष जैन के घर पर मिली रकम का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आयकर विभाग (Income Tax Department) को नोट गिनने के लिए चार मशीनें मंगवानी पड़ीं। यह मशीनें देर रात तक उनके आवास पर ही थीं। जांच में यह भी सामने आया है कि पीयूष जैन की दो कंपनियां सऊदी अरब में हैं। कानपुर में आवास और कन्नौज में इत्र का कारोबार होने के बाद भी पीयूष जैन के कारोबार का मुख्य सेंटर मुंबई है। इसीलिए मुंबई की आयकर विंग ने छापों की कमान संभाली है।