राहुल गांधी को दिल्ली एयरपोर्ट पर रोका गया, यूपी सरकार के अनुरोध पर उठाया कदम

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले जाने की जिद पर अड़े कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी को दिल्ली एयरपोर्ट पर रोक लिया गया है। यह जानकारी लखनऊ में पुलिस कमिश्‍नर डी.के.ठाकुर ने दी। 
 
Rahul Gandhi stopped at Delhi airport.jpeg
राहुल गांधी


लखनऊ/नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले जाने की जिद पर अड़े कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी को दिल्ली एयरपोर्ट पर रोक लिया गया है। यह जानकारी लखनऊ में पुलिस कमिश्‍नर डी.के.ठाकुर ने दी। 

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि राहुल गांधी ने शासन से सीतापुर और लखीमपुर जाने की अनुमति मांगी थी। हमें अवगत कराया गया है कि शासन ने अनुमति देने से इनकार कर दिया है। शासन ने शायद दिल्ली हावई अड्डे के अधिकारियों से भी कहा है कि उन्हें आने न दें। उन्‍होंने कहा कि सीतापुर के एसपी और डीएम ने भी हमें लिखित रूप से अवगत कराया है कि वहां प्रियंका गांधी हैं। राहुल गांधी, कांग्रेस कार्यकर्ताओं, नेताओं के आने से कानून व्यवस्था की स्थिति खराब हो सकती है। उन्होंने भी आग्रह किया है कि किसी भी परिस्थिति में राहुल गांधी को सीतापुर न आने दिया जाए। 

इससे पहले राहुल गांधी ने दिल्ली में एक प्रेस कॉफ्रेंस की। उन्होंने उत्तर प्रदेश और केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि किसानों पर सरकार का आक्रमण हो रहा है। किसानों को जीप से कुचला जा रहा है। राहुल ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए यह भी कहा कि पीएम लखनऊ गए लेकिन लखीमपुर नहीं गए। 

राहुल गांधी ने कहा कि यह किसानों का मुद्दा है। प्रियंका के साथ धक्का-मुक्की हुई इससे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता। राहुल ने आगे कहा कि हमें मार दिया जाए, गाड़ दिया जाए, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता...हमारी ट्रेनिंग ऐसी हुई है। यह किसानों का मुद्दा है। मैं लखनऊ जाकर जमीनी हकीकत पता करना चाहता हूं। 

राहुल ने इस दौरान कहा कि सरकार किसानों की ताकत नहीं समझ पा रही है। उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानून किसानों पर हमला है। राहुल ने कहा कि पूरे देश के किसानों पर योजनागत तरीके से हमला हो रहा रहा, पहले भूमि अधिग्रहण बिल वापस किया गया और फिर तीन काले कानून लाए गए। राहुल ने कहा कि यूपी में किसानों को मारा जा रहा है। इस सरकार में जो रेप करते हैं, किसानों को मारते हैं वे जेल से बाहर रहते हैं और जो कुछ नहीं करते उन्हें जेल में डाला जा रहा है।