राहुल और प्रियंका गांधी लखीमपुर रवाना, अखिलेश यादव कल जाएंगे,दिल्ली से लखनऊ तक चला हाईवोल्टेज ड्रामा

लखीमपुर -खीरी कांड में मारे गए किसानों के परिवार से मिलने के लिए कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी  तिकुनिया गांव के लिए सीतापुर से रवाना हो गए। 
 
Rahul and Priyanka Gandhi leave for Lakhimpur story pic
लखीमपुर- खीरी कांड


लखनऊ। लखीमपुर- खीरी कांड में मारे गए किसानों के परिवार से मिलने के लिए कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी बुधवार देर शाम तिकुनिया गांव के लिए सीतापुर से रवाना हो गए। 

राहुल गांधी लखनऊ से निकलने के बाद सीधे सीतापुर ​के पीएसी गेस्ट हाउस पहुंचकर प्रियंका गांधी से मिले। वे यहां करीब आधे घंटे रुके। इसके बाद दोनों भाई-बहन किसानों से मिलने के लिए लखीमपुर के लिए निकल गए। सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी गुरुवार को लखीमपुर खीरी जाएंगे।

दिल्ली से लखनऊ तक हाईवोल्टेज ड्रामा

इससे पहले आज दिन राहुल गांधी के लखीमपुर खीरी दौरे को लेकर दिन भर दिल्ली से लेकर लखनऊ तक हाईवोल्टेज ड्रामा चलता रहा। पहले खबर आई की राहुल गांधी को दिल्ली एयरपोर्ट पर रोक दिया गया। हालांकि बाद में उनको लखनऊ जाने की इजाजत मिल गई। इसके कुछ घंटे बाद ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने राहुल और प्रियंका गांधी समेत राजीनीतिक दलों के प्रतिनिधि मंडल को लखीमपुर जाने की इजाजत दे दी। 

अपनी गाड़ी से लखीमपुर जाने पर अड़े 

कहानी यहीं खत्म नहीं हुई । राहुल गांधी लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचे पर अपनी गाड़ी से लखीमपुर जाने की बात पर अड़ गए जबकि अफसर तय रूट से उनके जाने की बात कहते रहे। 

लखनऊ एयरपोर्ट पर धरने पर बैठे 

इससे नाराज राहुल गांधी पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ लखनऊ एयरपोर्ट पर धरने पर बैठ गए। बाद में राहुल गांधी को उनकी गांड़ी से लखीमपुर जाने की अनुमति मिल गई 

 टिकैत ने दी देशव्यापी आंदोलन की चेतावनी 

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे और लखीमपुर खीरी कांड के सभी आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है। टिकैत ने चेतावनी दी है कि अगर सरकार एक सप्ताह के भीतर किसानों के साथ किए गए समझौते को लागू करने में विफल रही तो देशव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा।