हरक्यूलिस विमान से पूर्वांचल एक्‍सप्रेस-वे पर उतरेंगे PM Modi, वायुसेना दिखाएगी ताकत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को  पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन (PM Narendra Modi to inaugurate Purvanchal Expressway) करेंगे।
 
Purvanchal Expressway.jpeg
Purvanchal Expressway

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को  पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन (PM Narendra Modi to inaugurate Purvanchal Expressway) करेंगे। 22,500 करोड़ की लागत से बने लखनऊ से गाजीपुर को जोड़ने वाले 340 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के बाद उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्से की राजधानी लखनऊ से कनेक्टिविटी बेहतर हो जाएगी।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) वायुसेना के विमान हरक्यूलिस (Hercules) से एक्सप्रेसवे पर लैंड करेंगे। इसके साथ ही सुल्तानपुर में एक्सप्रेस-वे पर बने 3.2 किलोमीटर लंबी पट्टी पर 45 मिनट का एयरशो भी होगा, जिसमें वायुसेना के विमान शक्ति प्रदर्शन करते दिखेंगे। इस एयर शो में मिराज-2000, सुखोई-30 और जगुआर विमान हिस्सा लेंगे।


यूपी के 9 शहरों से गुजरेगा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे (Purvanchal Expressway) उत्तर प्रदेश के 9 शहरों से होकर गुजरेगा। यह एक्सप्रेस-वे लखनऊ, बाराबंकी, अयोध्या, अंबेडकरनगर, अमेठी, सुलतानपुर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर जिले की सीमाओं से होकर गुजरेगा। इस एक्सप्रेस-वे की वजह से वाराणसी, गोरखपुर, प्रयागराज जैसे जिलों को भी फायदा होगा।

सिर्फ 8:30 घंटे में पहुंचेंगे नोएडा से गाजीपुर
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे (Purvanchal Expressway) ने सिर्फ यूपी ही नहीं, बल्कि पूर्वी यूपी के जिलों की दिल्ली से दूरी भी कम कर दी है. नोएडा से आगरा को जोड़ने वाला यमुना एक्सप्रेस-वे 165 किलोमीटर का है, जिसे 2 घंटे में तय किया जा सकता है। इसके बाद आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की लंबाई 302 किलोमीटर है, जिसे तय करने में 3 घंटे का समय लगेगा। लखनऊ से गाजीपुर को जोड़ने वाले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की दूरी 341 किलोमीटर है, जिसे साढ़े तीन घंटे में तय कर सकते हैं। अब यूपी के इन तीन एक्सप्रेस-वे के माध्यम से 800 से ज्यादा किलोमीटर की दूरी अब सिर्फ 8 घंटे 30 मिनट में पूरी कर लेंगे।

सिर्फ 3 साल में बनकर तैयार हुआ पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे
सिर्फ 3 साल में 22 हजार 500 करोड़ की लागत से बनकर तैयार पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे 6 लेन का बनकर तैयार है, लेकिन भविष्य में इसे 8 लेन में भी बदला जा सकता है। एग्जीक्यूटिव इंजीनियर देवेंद्र कुमार ने बताया कि 120 की स्पीड डिजाइन की गई है, लेकिन स्पीड लिमिट 100 किलोमीर प्रति घंटे रखा गया है। क्रैश बैरियर को एक्सप्रेस-वे के चारों तरफ इस्तेमाल किया गया है. एक्सप्रेस वे को Q4 क्वालिटी से बनाया गया है।