PM मोदी की सुरक्षा में चूक: पंजाब सरकार ने जांच के लिए बनाई कमेटी, 3 दिन में देगी रिपोर्ट , सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मामला

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक के मामले की जांच के लिए पंजाब सरकार ने हाई लेवल कमेटी बना दी है। इस कमेटी में जस्टिस (सेवामुक्त) मेहताब सिंह गिल और गृह एवं न्याय मामले के प्रमुख सचिव अनुराग वर्मा को रखा गया है। यह कमेटी 3 दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। सरकारी के मुताबिक इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं।
 
Big lapse in PM Modi's security in Punjab
PM मोदी की सुरक्षा में चूक: पंजाब सरकार ने जांच के लिए बनाई कमेटी

नई दिल्ली। पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक के मामले की जांच के लिए पंजाब सरकार ने हाई लेवल कमेटी बना दी है। इस कमेटी में जस्टिस (सेवामुक्त) मेहताब सिंह गिल और गृह एवं न्याय मामले के प्रमुख सचिव अनुराग वर्मा को रखा गया है। यह कमेटी 3 दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। सरकारी के मुताबिक इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं।

सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग

वहीं, पीएम की सुरक्षा में चूक के मामले में सुप्रीम कोर्ट में भी याचिका दायर की गई है। सीनियर एडवोकेट मनिंदर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट से इस मामले की जांच करवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि भटिंडा के जिला एवं सेशन जज को निर्देश दिए जाएं कि वे इस मामले में पुलिस की ओर से बरती गई कोताही से जुड़े सभी सबूत इकट्‌ठा करें।

सीजेआई के नेतृत्व वाली पीठ ने मनिंदर सिंह से पूछा कि आप अदालत से क्या उम्मीद कर रहे हैं और क्या कथित सुरक्षा चूक भटिंडा या फिरोजपुर में हुई? इसके जवाब में सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार के कारण प्रधानमंत्री सड़क पर फंसे रहे। यह पंजाब सरकार की एक गंभीर चूक थी।  राज्य में राजनीतिक स्थिति को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में पूरी तरह से जांच की जानी चाहिए।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मांगी है रिपोर्ट
PM नरेंद्र मोदी की फिरोजपुर विजिट के दौरान हुई सुरक्षा चूक के मामले में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि ऐसी घटना को स्वीकार नहीं किया जा सकता। इस मामले में जवाबदेही तय की जाएगी।

CM चन्नी ने सुरक्षा में चूक की बात नहीं मानी
पंजाब के CM चरणजीत चन्नी अभी तक प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के किसी भी मामले को नकार रहे हैं। उन्होंने कहा कि PM मोदी ने अचानक हवाई के बजाय सड़क मार्ग से जाने का कार्यक्रम बना लिया, जिसकी वजह से ऐसी स्थिति पैदा हुई। उनका कहना था कि फिरोजपुर में भाजपा की रैली में 70 हजार कुर्सियां लगा दी गईं, लेकिन लोग 700 आए। जिसकी वजह से प्रधानमंत्री को रैली रद्द करनी पड़ी।