मध्यप्रदेश में रद होंगे पंचायत चुनाव, शिवराज कैबिनेट ने राज्यपाल को भेजा प्रस्ताव

मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने ओमीक्रॉन की दहशत को देखते हुए पंचायत चुनाव पर बड़ा फैसला लिया है. प्रदेश में पंचायत चुनाव अब टल जाएंगे। शिवराज सरकार की कैबिनेट बैठक में आज पूर्व में पारित अध्यादेश को वापस ले लिया
 
मध्यप्रदेश में रद होंगे पंचायत चुनाव, शिवराज कैबिनेट ने राज्यपाल को भेजा प्रस्ताव 

भोपाल। मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने ओमीक्रॉन की दहशत को देखते हुए पंचायत चुनाव पर बड़ा फैसला लिया है. प्रदेश में पंचायत चुनाव अब टल जाएंगे। शिवराज सरकार की कैबिनेट बैठक में आज पूर्व में पारित अध्यादेश को वापस ले लिया और इसे अनुमोदन के लिए राज्यपाल को भेजा जा रहा है। इसके बाद राज्य निर्वाचन आयोग पंचायत चुनाव को निरस्त करने का फैसला करेगा। वहीं, पंचायत चुनाव को टाले जाने का एक कारण यह भी माना जा रहा है कि इंदौर में ओमिक्रॉन के 8 केस सामने आए हैं। इससे शिवराज सरकार में अलर्ट में आ गई है।

प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि रविवार को हुआ कैबिनेट की बैठक में सरकार ने फैसला लिया है। पंचायत चुनाव से जुड़े एक अध्यादेश को राज्यपाल को भेज रहे हैं। राज्यपाल की मंजूरी मिलने के बाद इसे चुनाव आयोग को भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार पंचायत राज्य संशोधन अध्यादेश वापस ले रही है। इस पर विधानसभा में विधेयक प्रस्तुत किया जाना था, लेकिन नहीं हो सका।

बता दें कि बीते शुक्रवार को ही नरोत्तम मिश्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। ऐसे में व्यक्तिगत राय यह है कि पंचायत चुनाव को टाला जाना चाहिए। कोरोना काल में अन्य राज्यों में पंचायत चुनाव के अच्छे नतीजे सामने नहीं आए हैं। उन्होंने कहा था कि चुनाव किसी की जिंदगी से बड़ा नहीं है। लोगों की जान हमारे लिए पहली प्राथमिकता है। पंचायत चुनावों का हमारा जो पूर्व अनुभव है, अन्य प्रदेशों में चुनाव हुए थे, उनसे लोगों की सेहत को काफी नुकसान हुआ था। मेरी व्यक्तिगत राय यह है कि कोरोना की दहशत को देखते हुए चुनावों को टाला जाना चाहिए।