मध्य प्रदेश : बर्थ डे पार्टी में महिला कांस्टेबल के साथ गैंगरेप, वीडियो बनाकर देता था धमकी

 मध्यप्रदेश में दरिंदगी का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर आप हैरान हो जाएंगे। प्रदेश के नीमच जिले में एक आम महिला नहीं बल्कि एक कॉन्स्टेबल के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। जिले के महिला थाने की एक महिला कांस्टेबल ने 5 लोगों के खिलाफ गैंगरेप का आरोप लगाया है।
 
मध्य प्रदेश : बर्थ डे पार्टी में महिला कांस्टेबल के साथ गैंगरेप, वीडियो बनाकर देता था धमकी 

भोपाल। मध्यप्रदेश में दरिंदगी का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर आप हैरान हो जाएंगे। प्रदेश के नीमच जिले में एक आम महिला नहीं बल्कि एक कॉन्स्टेबल के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। जिले के महिला थाने की एक महिला कांस्टेबल ने 5 लोगों के खिलाफ गैंगरेप का आरोप लगाया है। महिला कांस्टेबल की पहले नीमच जिले में तैनाती हो चुकी है और मूलत: नीमच जिले की ही रहने वाली है। महिला कांस्टेबल की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया गया है। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया है। पीड़ित महिला कांस्टेबल फिलहाल इंदौर अपनी सेवाएं दे रही हैं।

दरअसल, नीमच जिले की महिला थाना प्रभारी ने बताया कि बीते 5 महीने पहले महिला कांस्टेबल की पवन नाम के युवक से सोशल मीडिया के जरिए दोस्ती हुई थी। इसके बाद बातचीत आगे बढ़ी। एक दिन पवन ने महिला कांस्टेबल को बर्थ डे पार्टी के लिए आमंत्रित किया. जहां उसके साथ पवन सहित अन्य आरोपियों ने महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। इस दौरान महिला कांस्टेबल की शिकायत पर पवन सहित अन्य आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर मामला की जांच-पड़ताल की जा रही है।

इस दौरान आरोपियों ने महिला पुलिस का एक वीडियो भी बनाया था, जिसके माध्यम से महिला कांस्टेबल को डरा धमका कर एक लाख रुपए की मांग की जा रही थी। वहीं इस बात का खुलासा करने पर जान से मारने की धमकी दी जाने लगी थी। इस बात से तंग आकर पुलिस महिला कासंटेबल ने मुकदमा दर्ज करवाया है।

इस मामले में पुलिस ने पीड़ित महिला की तहरीर के आधार पर 20 सितम्‍बर को 5 युवकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 376 बी एवं 506 के तहत केस दर्ज कर लिया। इन 5 आरोपियों में से पुलिस ने मुख्य आरोपित पवन व उसकी मां निर्मला लौहार को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि जांच-पड़ताल के दौरान आरोपी पवन लौहार व उसकी मां को गिरफ्तार किया है, जबकि सहयोगी धीरेंद्र लौहार, विजय लौहार निवासी रामपुरा नाका मनासा एवं ओमप्रकाश लौहार निवासी मन्दसौर फरार चल रहे हैं। पीड़िता कांस्टेबल ने उस महिला के खिलाफ भी डराने और धमकाने की शिकायत दर्ज कराई थी।