ओमिक्रोन की दहशत के बीच BJP सरकार का बड़ा फैसला- रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक लगाया नाइट कर्फ्यू

भोपाल. कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से लोगों में दहशत का माहौल है। कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट दुनिया के कई देशों में बहुत तेजी से फैल रहा है। डेल्टा वैरिएंट से तीन गुना खतरनाक होने की खबरों से देश और प्रदेश की राज्य सरकारों ने इस खतरे से निपटने के लिए कोविड प्रोटोकाल का सख्ती से पालन करने और प्रतिबंध लगाने शुरू कर दिये हैं। इसी कड़ी में मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।

 
oo

ओमिक्रोन वैरिएंट की वजह से कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रात्रिकालीन कर्फ्यू को फिर शुरू कर दिया है। यह कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक रहेगा। उन्होंने कहा कि अगर आवश्यकता पड़ी तो और भी फैसले लिए जाएंगे। यह ध्यान रखें कि स्कूल में बच्चों की 50 फीसदी उपस्थिति ही रहे।

भोपाल. कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से लोगों में दहशत का माहौल है। कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट दुनिया के कई देशों में बहुत तेजी से फैल रहा है। डेल्टा वैरिएंट से तीन गुना खतरनाक होने की खबरों से देश और प्रदेश की राज्य सरकारों ने इस खतरे से निपटने के लिए कोविड प्रोटोकाल का सख्ती से पालन करने और प्रतिबंध लगाने शुरू कर दिये हैं। इसी कड़ी में मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।

ओमिक्रोन वैरिएंट की वजह से कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रात्रिकालीन कर्फ्यू को फिर शुरू कर दिया है। यह कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक रहेगा। उन्होंने कहा कि अगर आवश्यकता पड़ी तो और भी फैसले लिए जाएंगे। यह ध्यान रखें कि स्कूल में बच्चों की 50 फीसदी उपस्थिति ही रहे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोविड की तीसरी लहर की आशंका पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि कई महीनों बाद मध्य प्रदेश में कोविड के तीस नए प्रकरण आए हैं। महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव केस बढ़ने को लेकर सीएम ने चिंता जताई है और कहा है कि पूर्व के अनुभव से यह आशंका है कि मध्य प्रदेश में भी कोरोना पॉजिटिव केस बढ़ सकते हैं। 

सीएम ने कोविड की तीसरी लहर को आने से रोकने के लिए हर आवश्यक उपाय करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार की गाइड लाइन का पालन किया जाए। अनावश्यक रूप से भीड़़ में नहीं जाएं। और मास्क जरूर पहनें। कोरोना का दूसरा डोज तुरंत लगाएं जिसने पहला नहीं लगवाया हो तो टीका जरूर लगवा लें।