Lakhimpur Violence Case: केंद्रीय मंत्री टेनी का बेटा आशीष मुख्य आरोपी,पांच हजार पन्नों की चार्जशीट दाखिल

बहुचर्चित लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur Violence Case) के मामले में सोमवार को चार्जशीट दाखिल कर गई। पांच हजार पन्नों की इस चार्जशीट में  केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र उर्फ टेनी के पुत्र आशीष मिश्र उर्फ मोनू को मुख्य आरोपी बनाया गया है।  एसआईटी के मुताबिक, आशीष घटनास्थल पर ही मौजूद था।
 
Lakhimpur Kheri Violence Case
Lakhimpur Violence Case

लखीमपुर खीरी। बहुचर्चित लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur Violence Case) के मामले में सोमवार को चार्जशीट दाखिल कर दी  गई। पांच हजार पन्नों की इस चार्जशीट में  केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र उर्फ टेनी के पुत्र आशीष मिश्र उर्फ मोनू को मुख्य आरोपी बनाया गया है।  एसआईटी के मुताबिक, आशीष घटनास्थल पर ही मौजूद था। बता दें कि तीन अक्तूबर को तिकुनिया कस्बे में हुई हिंसा में चार किसानों और एक पत्रकार सहित आठ लोगों की जान गई थी।

लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur Violence )  मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र का बेटा आशीष मिश्र मोनू समेत 13 आरोपी जिला कारागार में बंद है। आशीष मिश्र की गिरफ्तारी भले ही 10 अक्तूबर को हुई थी, मगर उससे पहले सात अक्तूबर को आशीष मिश्र के करीबी लवकुश और आशीष पांडेय को गिरफ्तार कर लिया गया था। दोनों को आठ अक्तूबर को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया था। 


कानून के जानकारों के मुताबिक हत्या जैसे जघन्य मामले में विवेचक को न्यायिक अभिरक्षा के पहले दिन से से 90 दिनों के भीतर जांच मुकम्मल कर चार्जशीट दाखिल करने की बाध्यता होती है। देश की राजनीति की दशा और दिशा को प्रभावित करने वाले लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur Violence ) केस पर लोगों के साथ ही राजनीतिक पंडितों की भी नजर है। इसकी वजह केंद्रीय मंत्री के बेटे का इस मामले में आरोपी होना है। मामला हाईप्रोफाइल होने की वजह से मीडिया की सुर्खियों में रहा है।