Lakhimpur violence case: गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र का बेटा 3 दिन की रिमांड पर, आरोपी के वकीलों को थर्ड डिग्री का डर

लखीमपुर हिंसा कांड Lakhimpur violence case  के मुख्य आरोपी गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र को अदालत ने तीन दिन की एसआईटी की रिमांड पर भेज दिया है।
 
Lakhimpur violence case
Lakhimpur violence case

लखीमपुर खीरी। लखीमपुर हिंसा कांड (Lakhimpur violence case)  के मुख्य आरोपी गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र को अदालत ने तीन दिन की एसआईटी की रिमांड पर भेज दिया है। सोमवार की सुबह वीडियो कांफ्रेंसिंग से आशीष की पेशी के बाद सुनवाई शुरू हुई। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद अदालत ने आशीष को रिमांड पर देने का फैसला सुनाया। एसआईटी ने आशीष की 14 दिन की रिमांड मांगी थी।

अदालत ने रिमांड मंजूर करते हुए कुछ शर्तें भी लगाई हैं। वकील के अनुसार पूछताछ के दौरान आशीष का वकील भी मौजूद रहेगा। मेडिकल के बाद आशीष को कस्टडी में लिया जाएगा। जेल में दाखिला के दौरान भी मेडिकल होगा। इसके अलावा दूर से ही एसआईटी पूछताछ करेगी। इससे पहले रिमांड का विरोध करते हुए आशीष के वकील ने कहा कि शानिवार को 12 घंटे में 40 से ज्यादा सवालों के जवाब वह दे चुके हैं। 

ऐसे में अब रिमांड की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि एसआईटी थर्ड डिग्री का इस्तेमाल कर आशीष से जुर्म कबूल करवाना चाहती है। उन्होंने कहा कि घटना के दिन आशीष के दंगल में मौजूद रहने से संबंधित कुछ फोटो भी अदालत को दिखाए। वकील ने कहा कि एसआईटी जेल में जाकर भी पूछताछ कर सकती है। 

लखनऊ में प्रियंका का मौन व्रत: लखीमपुर कांड  (Lakhimpur violence case)  में केंद्रीय गृहराज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी की मांग करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लखनऊ में मौन व्रत किया। गांधी प्रतिमा स्थल पर हजारों कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ प्रियंका ने मौन व्रत के साथ धरना शुरू किया। प्रियंका के साथ कांग्रेस के तमाम बड़े नेता भी मौजूद हैं। मौन व्रत शुरू करने से पहले प्रियंका गांधी ने कहा कि किसानों के साथ लखीमपुर में ह्रदय विदारक घटना हुई है। सरकार आरोपियों को बचाने में लगी रही। ऐसा कभी नही हुआ जैसा भाजपा राज में हो रहा है। प्रियंका ने कहा कि योगी सरकार उम्भा, हाथरस, उन्नाव, गोरखपुर लखीमपुर में आरोपियों के साथ खड़ी रही।