किसानों के भारत बंद ने रफ्तार पर लगाया ब्रेक, गुरुग्राम-दिल्ली बॉर्डर पर लगा लंबा जाम, कई ट्रेनें रद्द

केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के भारत बंद का कई जगहों पर व्यापक असर देखा जा रहा है। किसानों ने कई नेशनल और स्टेट हाईवे ब्लॉक कर दिए गए हैं।
 
Gurugram Delhi Highway jammed due to farmers' Bharat Bandh.jpg
किसानों का भारत बंद

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के भारत बंद का कई जगहों पर व्यापक असर देखा जा रहा है। किसानों ने कई नेशनल और स्टेट हाईवे ब्लॉक कर दिए गए हैं। जिसके चलते ट्रैफिक डायवर्ट करना पाड़ा है। इसके चलते आम लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। गुरुग्राम दिल्ली हाईवे पर कई किमी लंबा जाम लग गया है। 

 ट्रेनों की आवाजाही भी प्रभावित है। दिल्ली से जाने वाले कई ट्रेनें रद्द की गई हैं। प्रदर्शनकारी किसानों की योजना सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक चक्का जाम रखने और विरोध प्रदर्शन करने की है। हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में इस बंद का ज्यादा असर दिखाई दे रहा है।

किसानों ने कहा है कि इस दौरान सभी निजी और सरकारी दफ्तर, शिक्षण संस्थान और अन्य संस्थानों, दुकानें बंद रहेंगी। हालांकि, किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि सभी जरूरी सेवाएं जैसे अस्पताल, मेडिकल स्टोर आदि अपना काम जारी रख सकते हैं। 

विपक्षी पार्टियों का बंद को समर्थन

कांग्रेस, आरजेडी, आम आदमी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी और लेफ्ट पार्टियों ने भारत बंद का समर्थन किया है। अखिल भारतीय बैंक अधिकारी परिसंघ ने बंद को अपना समर्थन दिया है। वहीं, सरकार ने किसानों से अपील की है कि वे आंदोलन छोड़कर बातचीत का रास्ता अपनाएं। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सरकार किसानों की आपत्तियों पर विचार करने के लिए तैयार है।

राहुल गांधी ने लोगों से की बंद का समर्थन करने की अपील

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि किसानों का अहिंसक सत्याग्रह आज भी अखंड है। लेकिन शोषण-कार सरकार को ये नहीं पसंद है। इसलिए आज भारत बंद है। वहीं, कांग्रेस नेता जयवीर शेरगिल ने कहा कि आज 1 साल हो गया है, जब तीन काले कानूनों के द्वारा देश की किसानी और किसान पर काले बादल ला दिए गए थे। आज हर भारतवासी को भाजपा का जो लक्ष्य है... किसान और किसानी खत्म उसके खिलाफ आवाज उठानी चाहिए, भारत बंद का समर्थन करके।