कैराना में गरजे सीएम योगी, कहा- गोली चलाई तो छाती पर मारेंगे गोली

यूपी के मुख्यमंत्री ने अखिलेश यादव और समाजवादी पार्टी का नाम लिए बगैर साधा निशाना
 
Yogi Adityanath in Kairana, Uttar Pradesh
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ- कैराना

कैराना (शामली) । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को पश्चिमी यूपी के कैराना पहुंचे। पिछली सरकार के दौरान पलायन के कारण चर्चित हुए कैराना में सीएम योगी ने बिना नाम लिये ही अखिलेश यादव और समाजवादी पार्टी पर जमकर हमले किये। मुजफ्फरनगर दंगे की याद दिलाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री आवास में दंगाइयों को सम्मानित किया जाता था। 

सीएम योगी ने कहा कि पिछले साढ़े चार साल में हमने इस तरह का माहौल बना दिया, जिससे अपराधी सिर उठाकर चलने के लायक भी नहीं रह गया है। जिसने भी व्यापारियों या निर्दोष लोगों पर गोली चलाई उसकी छाती में गोली मारकर दूसरे लोक की यात्रा करा दी। उन्होंने चेताया कि दंगा किया तो दंगाइयों की आने वाली पीढ़ियां भुगतेंगी। 

सीएम योगी ने कहा कि कैराना के लोगों को पलायन के लिए मजबूर करने वाले स्वयं पलायन कर गए। किसी माफिया-अपराधी की हिम्मत नहीं रही कि वह सिर उठाकर सड़कों पर चल सके। जिसने भी व्यापारी पर गोली चलाई, उसी गोली ने अपराधी की छाती को भेंदते हुए उसे दूसरे लोक में भेज दिया। योगी ने चेताया कि जो भी अराजकता करने की कोशिश करेगा, दंगा करेगा, उसकी आने वाली पीढि़यां भूल जाएंगी कि कैसे दंगा होता है। 


योगी ने कहा कि पिछली सरकार में हमारे जनप्रतिनिधियों के खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज किये जाते थे। उन्हें जेल में डाल देते थे और दंगाइयों को सीएम आवास पर बुलाकर सम्मानित किया जाता था। लेकिन अब कानून को हाथ में लेने की किसी को इजाजत नहीं है। किसी ने इससे खिलवाड़ किया तो उसे पता है कि किस लोक की यात्रा पर निकलना है। जिसने ने कैराना में लोगों को पलायन के लिए मजडबूर किया, खुद पलायन कर गए। कैराना में सीएम योगी ने पीएसी बटालियन स्थापना के लिए भी शिलान्यास किया। कहा कि पीएसी का डंडा चलेगा तो बड़े से बड़ा अपराधी दूसरे लोक की यात्रा करता दिखाई देगा

पलायन के बाद लौटे परिवारों से कहा- अब यहां आपको कोई डर तो नहीं

मुख्यमंत्री योगी ने कैराना से पलायन करने के बाद वापस लौटे व्यापारियों से बात की। उन्होंने एक बच्ची से बात करते हुए कहा की डरना मत... बाबा के बगल में बैठी हो। इसके साथ ही उन्होंने व्यापारियों से पूछा कि लौटने के बाद अब यहां आपको कोई डर तो नहीं है। पलायन के बाद वापस लौटे मित्तल परिवार से मुलाकात के बाद सीएम योगी ने पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने इस दौरान कहा कि, 1990 के प्रारंभ में राजनीति के अपराधिकरण का दंश कैराना जैसे कस्बों ने झेला है। यहां पर हिंदू व्यापारियों व अन्य हिंदुओं को प्रताड़ित कर पलायन करने को मजबूर कर दिया गया। वह आगे बोले, 2017 के बाद अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति के बाद इस कस्बे में शांति आई। बहुत से परिवार वापस आए।