सीएम योगी ने रसोइयों-अनुदेशकों को दिया बढ़ी सैलरी का तोहफा,साल में दो साड़ी और 5 लाख का बीमा कवर भी मिलेगा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाक ने नए साल से पहले ही  रसोइयों-अनुदेशकों को बड़ा तोहफा दिया है। सीएम ने आयोजित रसोइयों और अनुदेशकों के सम्‍मेलन में उनके लिए बढ़े हुए मानदेय का ऐलान किया। 
 
yogi
सीएम योगी ने रसोइयों-अनुदेशकों को दिया बढ़ी सैलरी का तोहफा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाक ने नए साल से पहले ही  रसोइयों-अनुदेशकों को बड़ा तोहफा दिया है। सीएम ने आयोजित रसोइयों और अनुदेशकों के सम्‍मेलन में उनके लिए बढ़े हुए मानदेय का ऐलान किया। 

अंशकालिक अनुदेशकों का मानदेय दो हजार रुपए बढ़ाया गया है। जबकि रसोइयों के मानदेय में 500 रुपए की बढ़ोत्‍तरी हुई है। रसोइयों को साल में दो साड़ियां भी मिलेंगी। इसे अलावा हर रसोइये को 5 लाख का स्‍वास्‍थ्‍य बीमा भी उपलब्‍ध कराया जाएगा। 

सीएम ने कहा कि 'जितने भी रसोइया हैं उन्हें बेसिक शिक्षा परिषद की तरफ से दो साड़ी देंगे। एप्रन और हेयर कैप का पैसा रसोइयों के खाते में देने की व्यवस्था परिषद करेगा। हर रसोइया को 5 लाख के स्वास्थ्य बीमा से जोड़ा जाएगा। रसोइया के अतिरिक्त मानदेय को 500 रुपये बढ़ाया जाएगा।' गौरतलब है कि उत्‍तर प्रदेश में अनुदेशक और रसोइया लंबे समय से मानदेय बढ़ाने की मांग कर रहे थे। इस मौके पर सीएम ने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्षों में बेसिक शिक्षा विभाग में बड़े सकारात्‍मक परिवर्तन आए हैं। ये परिवर्तन सबके सहयोग के बिना संभव नहीं थे। उन्‍होंने महत्‍वपूर्ण योगदान निभाने के लिए रसोइयों और अनुदेशकों को आभार दिया।

उन्‍होंने कहा कि पिछले 20-22 महीनों को छोड़ दे तो यूपी के बेसिक शिक्षा परिषद के स्‍कूलों में 54 लाख बच्‍चे पढ़े हैं। ये 54 लाख बच्‍चे बेसिक शिक्षा विभाग के स्‍कूलों में ऐसे ही नहीं पढ़े हैं। उसके पीछे शिक्षकों, रसोइयों और अच्‍छा और गर्म खाना खिलाने वाले रसोइयों का योगदान है। सबने सहयोग किया तो ये चीजें आगे बढ़ीं। ऑपरेशन कायाकल्‍प का उल्‍लेख करते हुए सीएम ने कहा कि इसके जरिए लोगों के सहयोग से हम स्‍कूलों का विकास कर रहे हैं। पुरातन छात्र परिषद के गठन की प्रक्रिया आगे बढ़ी। बेसिक शिक्षा परिषद के अधिकारियों से एक-एक विद्या‍लय घूमने को कहा। परिणाम स्‍वरूप 1.56 लाख विद्यालयों में से 1.30 लाख विद्यालयों का कायाकल्‍प हो गया।