महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले में CBI ने दायर की चार्जशीट, आनंद गिरी समेत तीन को बनाया आरोपी

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध हालात में हुई मौत के मामले में सीबीआई CBI ने सीजेएम कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है। CBI ने इस मामले में आनंद गिरी, आद्या तिवारी और संदीप को आरोपी बनाया है।मामले में अब तक करीब 152 लोगों से पूछताछ हुई है। कोर्ट ने सुनवाई के लिए 25 नवंबर 2021 की तारीख तय की है।
 
Mahant Narendra Giri death case
Mahant Narendra Giri death case)

प्रयागराज। महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध हालात में हुई मौत (Mahant Narendra Giri death case) के मामले में सीबीआई CBI ने सीजेएम कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है। CBI ने इस मामले में आनंद गिरी, आद्या तिवारी और संदीप को आरोपी बनाया है।मामले में अब तक करीब 152 लोगों से पूछताछ हुई है। कोर्ट ने सुनवाई के लिए 25 नवंबर 2021 की तारीख तय की है।

बता दें कि महंत नरेंद्र गिरि की मौत 20 सितंबर को हुई थी। उनका शव प्रयागराज के श्री मठ बाघम्बरी गद्दी में अतिथि कक्ष के कमरे में पंखे में बंधी रस्सी से लटकता पाया गया था। 

सेवादारों ने बताया था कि शाम चार बजे तक महंत कमरे से बाहर नहीं आए और आवाज देने पर भी जवाब नहीं दिया तब धक्का देकर दरवाजे को खोला गया था। रस्सी काटकर फंदे से उतारने पर पता चला कि उनकी सांस थम चुकी है। उनके कमरे से आठ पन्ने का दोनों तरफ लिखा हुआ सुसाइड नोट भी मिला था। 

सुसाइड नोट में महंत ने अपने बरसों पुराने शिष्य आनंद गिरि, लेटे हनुमान मंदिर के पुजारी आद्या तिवारी और उसके पुत्र संदीप तिवारी को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का जिम्मेदार बताया गया था। 

सुसाइड नोट के आधार पर ही प्रयागराज के जार्ज टाउन थाने में एफआइआर दर्ज कराई गई थी। बाद में सरकार ने पूरे मामले की जांच सीबीआइ को सौंप दी थी। सीबीआइ ने करीब दो महीने की जांच के बाद कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी। तीनों आऱोपित 22 सितंबर को गिरफ्तारी के बाद से जेल में हैं।