Connect with us

राज्य

बरेली : शुभलेश की कुर्सी जाते ही शुरू हुआ अटकलों का दौर, …तो क्या फिर मिलेगी वीरपाल को सपा की कमान!

Published

on

एक पूर्व मंत्री ने वीरपाल कुछ पास भिजवाया घर वापसी का पैगाम, वीरपाल बोले, अब कदम बहुत आगे बढ़ चुके हैं

शुएब/ संजीव गंभीर

बरेली। …तो क्या वीरपाल सिंह फिर ज़िले में समाजवादी पार्टी की कमान संभालेंगे ! इस बात के कयास लगाए जाने लगे हैं। ये अटकलें बेवजह भी नहीं हैं। इनके पीछे वजह वीरपाल का सपा को खड़ा करने में वीरपाल उनकी भूमिका,मुलायम सिंह के प्रति उनकी वफादारी और मौजूदा हालात में अखिलेश का सेक्युलर मोर्चा को अस्तित्वहीन करने की मजबूरी अहम है। शुभलेश को जिला अध्यक्ष पद से हटाने और फिर उनको उत्तरांचल में ज़िम्मेदारी भी दे दिए जाने से ये संकेत भी मिल रहे हैं कि सपा हाईकमान यहां सर्वमान्य हल निकालने की जुगत में है।

माने जाते हैं मुलायम के वफादार

पूर्व सांसद वीरपाल सिंह मुलायम सिंह के वफादारों में से एक और बरेली में उनके सबसे खास माने जाते हैं। बरेली में सपा को खड़ा करने में उनकी भूमिका भी अहम रही है। 2012 कि विधानसभा चुनाव में बरेली ज़िले की 9 विधानसभा सीटों में से 7 पर सपा का परचम फहरने की उपलब्धि उन्हीं की ज़िलाध्यक्षी में लिखी हुई है। सपा के इस कद्दावर नेता की सांगठनिक क्षमता का लोहा राजनीतिक गलियारों में माना जाता है, लेकिन 2012 में बनी अखिलेश सरकार में वीरपाल को कई मौक़ों पर उपेक्षा का दर्द झेलना पड़ा।

वीरपाल को किनारे करने की रणनीति बनाकर काम किया

दरअसल अखिलेश सरकार में ज़िले के कुछ विधायकों ने वीरपाल को किनारे करने की रणनीति बनाकर काम किया।ज़िले में अपना दबदबा बनाने के लिए उनके सामने वीरपाल ही सबसे अहम चुनौती थे और फिर वीरपाल उनके हाथों मात भी खा गए। अखिलेश ने कई मौक़ों पर उनके पर कतरे। अखिलेश अपनी यूथ विंग पर ज़्यादा भरोसा करते हुए वीरपाल को किनारे करते रहे।

तब भी मुलायम के साथ खड़े हुए थे !

2017 के चुनाव से ठीक पहले जब मुलायम और शिवपाल अखिलेश से अलग अपना अस्तित्व दिखाने खड़े हुए, तो वीरपाल मुलायम के साथ ही खड़े हुए। मुलायम से उन्होंने उन सपा विधायकों के खिलाफ दूसरों को टिकट भी दिला दिए। उस वक़्त अखिलेश के खास लोगों ने वीरपाल के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली और उनको हर तरह से बुरा कहा। चुनाव आने तक सपा का कुनबा एक हो गया और चुनाव में वीरपाल को बिथरी से टिकट भी मिल गया।

वीरपाल को फिर सबसे मजबूत साबित कर दिया

कहा तो ये जा रहा था कि वीरपाल की परफॉर्मेंस ज़िले भर के सपाइयों में सबसे फिसड्डी होगी और सपा हाईकमान ने उनको टिकट देकर उनकी हैसियत सामने लाने और उनको ठिकाने लगा देने के मंसूबे से ही उनको टिकट दिया है।अखिलेश ने तो उनके क्षेत्र में मीटिंग भी नहीं की, लेकिन चुनाव के नतीजों ने वीरपाल को फिर सबसे मजबूत साबित कर दिया।वीरपाल ज़िले भर के सपा प्रत्याशियों में सबसे कम वोट से हारे। खुद वीरपाल ने कहा भी कि अगर अखिलेश उनके क्षेत्र में एक मीटिंग कर लेते तो वो चुनाव जीत जाते।

एक दूसरे के खिलाफ कान भरने का काम चलता रहा

प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने और सपा के बरेली ज़िले की सभी 9 सीटों से सफाया होने के बाद सपा की ज़िले में हालत सुधारने पर काम तो नहीं हुआ अलबत्ता कांट छांट और एक दूसरे के खिलाफ कान भरने का काम चलता रहा। सपा के जिलाध्यक्ष शुभलेश का कद विधायक रहे कई नेताओं से छोटा बैठता और शुभलेश अपनी बचाने के लिए उनको साधने में ही लगे रहे। कुछ ने शुभलेश को मोहरे की तरह इस्तेमाल किया। अपनी हैसियत बढ़ाने और वीरपाल को ठिकाने लगाने में। वीरपाल ने इन दिनों में भी अपनी हैसियत दिखाने की कोशिश की, लेकिन उनके खिलाफ खड़े नेताओं की जमात ने उनको किनारे करने में अपनी ताकत झोंके रखी।

वीरपाल ने ढील से लड़ाया पेंच और शुभलेश की कट गई पतंग!

शिवपाल ने जब सेक्युलर मोर्चा बनाया तो वीरपाल उनके साथ जा खड़े हुए। मुलायम भी शिवपाल के साथ नज़र आए तो वीरपाल ये कहते हुए के वो तो नेताजी के सिपाही हैं, सपा को छोड़ गए। इसके बाद जब ब्यानबाज़ियों का दौर चला तो शुभलेश ने ज़्यादा आक्रामक रूप ले लिया। शुभलेश ने वीरपाल के खिलाफ उस तरह ही बयानबाज़ी शुरु कर दी, जैसे वीरपाल के मुखालिफ सपा नेता करते हैं। एक से बढ़कर एक तीखे बयान देने की होड़ लग गई।

शुभलेश समझ नहीं पाए

हद तो यह हो गई कि कुर्सी के नशे में चूर शुभलेश ने वीरपाल की हैसियत तक पूछ ली और यह भी कहा कि अगर वीरपाल को सपा छोड़ने का पछतावा हो रहा हो तो वो नेता जी और अखिलेश जी से माफी मांगवाकर पार्टी में वापसी करवा लेंगे।
वीरपाल ये पेंच ढील से लड़ाते रहे और शुभलेश समझ नहीं पाए।नतीजा शुभलेश की पतंग कट गई और एकाएक उनसे ज़िलाध्यक्षी छीन ली गई। साथ ही क़दीर अहमद को भी चलता कर दिया गया। सूत्र बताते हैं कि इस बयानबाज़ी की गाज तो कुछ और पर भी गिरनी थी, लेकिन वो सीधे कार्रवाई की ज़द में नहीं आ रहे थे, जैसे ज़िला या महानगर संगठन। बताते हैं कि हाईकमान ने अपनी नाराजगी उनसे ज़ाहिर भी कर दी है।

….तो सेक्युलर मोर्चे को होगा बड़ा नुकसान !

चंद रोज़ में बदले इस परिवेश में वीरपाल के फिर घर वापसी की अटकलें लगाई जाने लगी हैं। कहा जा रहा है कि वीरपाल को फिर ज़िले में सपा की कमान दी जा सकती है। मुलायम सिंह अखिलेश के पाले में खड़े हैं और इतना वीरपाल को घर वापस आने का सहारा व आधार काफी है। ये भी माना जा रहा है कि अखिलेश इस वक़्त किसी भी सूरत में सेक्युलर मोर्चे को मजबूत होने देना नहीं चाहते। चुनाव से पहले अखिलेश इस खुशफहमी में थे कि वो चुनाव जीत रहे हैं और ये मुग़ालता उनके अंदर घमंड भी डाले हुए था।

अखिलेश अब ज़मीनी हक़ीक़त जानकर क़दम उठा रहे

इसी घमंड में वो उस वक़्त झुकने के लिए तैयार नहीं थे। उनके साथी विधायक भी उनको अकेले दम पर जीत हासिल कर लेने का ख्वाब दिखाए हुए थे। अब स्थिति उलट है। अखिलेश अब ज़मीनी हक़ीक़त जानकर क़दम उठा रहे हैं। कल ही आज़म खान का स्टैंड भी इस बात को ज़ाहिर कर रहा है कि अखिलेश अब मुलायम सिंह को पूरी तरह अपने साथ लेकर काम कर रहे हैं। खैर सपा की ज़िले में राजनीति किस करवट बैठती है, ये तो वक़्त बताएगा।

शुभलेश को भी पूरा सम्मान दिया जाएगा

अखिलेश वीरपाल को अपने साथ लाते हैं और वीरपाल फिर उनमें आस्था जताते हैं, ये सब बातें भी वक़्त की आगोश में हैं, लेकिन इतना तय है कि अगर वीरपाल फिर सपा में पहुंच गए तो सेक्युलर मोर्चे का ज़िले में कोई खास वजूद नहीं बचेगा।दूसरी तरफ ये भी लग रहा है कि अगर इस तरह के राजनीतिक समीकरण बनते हैं तो शुभलेश को भी पूरा सम्मान दिया जाएगा, इसकी झलक दिखाई भी दी है।

सपा में उठा तूफान थमने का नाम नहीं ले रहा

उधर इस मामले में सपा सरकार में मंत्री रहे एक नेता ने वीरपाल सिंह के पास सपा में वापसी का पैगाम भिजवाया तो वीरपाल यादव ने साफ कहा अब वो बहुत आगे निकल चुके हैं और लोकसभा चुनाव की तैयारी कर रहे हैं। वीरपाल यादव ने मीडिएटर से सवाल भी पूछा कि क्या मंत्री जी को नेता जी या अखिलेश जी ने इस काम के अधिकृत कर रखा है?
बहरहाल सपा में उठा तूफान थमने का नाम नहीं ले रहा है। सपा के तमाम पार्षद एक पूर्व मंत्री का संकेत मिलते ही लखनऊ दौड़े थे और कदीर अहमद की हिमायत की थी वरना जफर बेग की ताजपोशी महानगर अध्यक्ष पद के लिए हो चुकी होती। https://www.kanvkanv.com

राज्य

बलरामपुर : पैसा मांगने गए दूध वाले की दबंगों ने धारदार हथियार से की हत्या

Published

on

राधेश्याम मिश्र

बलरामपुर| जिला के तुलसीपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत दूध का पैसा मांगने गए दुधिया को दबंगों ने धारदार हथियार से वार करके मौत के घाट उतार दिया है पुलिस ने मृतक के भाई की तहरीर पर दबंगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत  लिया है.

पकड़ने के लिए जगह जगह छापे डाले रहे

बता दे कि बीती रात बुधवार को तुलसी पर थाना क्षेत्र प्रेम नगर निवासी रामभवन पुत्र रामकिशन उम्र 40 साल ग्राम गदा खब्बा में अपने दूध का 20 हजार रूप़या उधार का पैसा मांगने गया था. दूध के पैसे को टालमटोल को लेकर दोनों पक्षों में वाद बढ़ गया और तभी दबंगों ने धारदार हथियार से राम भवन को कई वार किया | जानकारी पर लोगों ने मृतक को पास के अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया |

थानाध्यक्ष एसके त्रिपाठी के अनुसार दुधिया का दबंगों पर 20,000 बकाया था उसी को लेकर विवाद हो गया जिस पर विपक्षी ने दूधिया पर धारदार का हथियार से  हमला कर दिया और उसकी मौत हो गई है ,इस संबंध में मृतक के भाई विजय कुमार द्वारा थाना पर नामजद तहरीर दी गई है अपराधियों को पकड़ने के लिए जगह जगह छापे डाले जा रहे है| https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

राज्य

बाबरी मस्जिद के पक्षकार इक़बाल ने बताया जान का खतरा, डीजीपी ने दिया भरोसा, यूपी में सब सुरक्षित

Published

on

रवीन्द्र पाण्डेय”रवि”

अयोध्या। आगामी 25 नवम्बर को आयोजित होने जा रहे विहिप के धर्म सभा और शिवसेना के संत आशीर्वाद कार्यक्रम के मद्देनज़र श्रीराम नगरी में स्थित विवादित परिसर के मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी ने 25 नवंबर से पहले अपने अयोध्या से पलायन की चेतावनी दी है।

अयोध्या से अपने पलायन की चेतावनी

रामजन्म भूमि विवाद में बाबरी मस्जिद पक्ष के मुद्दई इकबाल अंसारी ने अयोध्या में आ रही सम्भावित भारी भीड़ को देखते हुए, अपनी सुरक्षा ना बढ़ाए जाने से आक्रोशित होकर प्रशासन को अयोध्या से अपने पलायन की चेतावनी देकर सनसनी मचा दी।उन्होँने कहा कि वर्ष 1992 में भी इसी तरह योजनाबद्ध तरीके से भीड़ बढ़ी थी।जिसमेँ कथित  मस्जिद सहित देश में कई अन्य मस्जिदें तोडी गयी थी।अंसारी ने कहा कि अगर अयोध्या में भीड़ बढ़ रही है तो हमारी और मुसलमानों की सुरक्षा बढ़ाई जाए।
इकबाल अंसारी ने कहा कि अगर उनकी सुरक्षा नहीं बढ़ाई गई तो वह 25 तारीख से पहले अयोध्या छोड़ देंगे।उधर  इकबाल अंसारी द्वारा प्रशासन से की गयी सुरक्षा की मांग पर सीधे पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह का बयान आया है।उन्होँने कहा कि किसी शख्स को सुरक्षा देना या हटाना एक निगरानी समिति के रिपोर्ट के आधार पर होती है। अयोध्या ही नहीं, पूरे भारत में मुसलमान सब जगह सुरक्षित हैं। अयोध्या मामले के किसी पक्षकार को सुरक्षा की आशंका नहीं होनी चाहिये।

Continue Reading

राज्य

यूपी में तीन आईएएस और चार पीसीएस अधिकारियों के तबादले

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में गुरुवार की सुबह तीन आईएएस और चार पीसीएस अधिकारियों के तबादले किये गए। इस सूची में पीसीएस शिशिर कुमार सिंह को उप्र सूचना विभाग में निदेशक का अतिरिक्त चार्ज दिया गया है।

इधर से उधर करते हुए नई तैनाती दी गई

आईएएस उज्जवल कुमार का सूचना निदेशक पद से नगर आयुक्त प्रयागराज तबादला कर दिया गया है। इसी तरह दो और आईएएस यशू रुस्तगी को अपर आयुक्त वाणिज्य कर लखनऊ और ज्ञानेश्वर त्रिपाठी को प्रतीक्षारत कर दिया गया है। ज्ञानेश्वर अभी तक सूचना विभाग में अपर निदेशक पद पर तैनात थे।
चार पीसीएस अधिकारियों को इधर से उधर करते हुए नई तैनाती दी गई है। इसमें शिशिर कुमार को अतिरिक्त चार्ज सूचना निदेशक, मनोज राय को अपर आयुक्त प्रयागराज मंडल, अविनाथ सिंह को विशेष सचिव गृह विभाग और सतीश पाल को एडीएम वित्त वाराणसी बनाया गया है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
देश12 mins ago

गृहमंत्री राजनाथ सिंह का हमला, बिना दूल्हे की बारात लेकर आगे बढ़ी है कांग्रेस

राज्य41 mins ago

बलरामपुर : पैसा मांगने गए दूध वाले की दबंगों ने धारदार हथियार से की हत्या

देश46 mins ago

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कैमरे से डरे लालू के लाल तेजस्वी यादव, लगाए गंभीर आरोप

राज्य51 mins ago

बाबरी मस्जिद के पक्षकार इक़बाल ने बताया जान का खतरा, डीजीपी ने दिया भरोसा, यूपी में सब सुरक्षित

दुनिया1 hour ago

कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट से रुपया हुआ मजबूत, ऊर्जा क्षेत्र के निवेशक चिंतित

देश1 hour ago

खुफिया एजेंसियों का हाई अलर्ट, जैश के 7 आतंकी पंजाब में घुसे, दिल्ली में वारदात की साजिश

टेक्नोलॉजी2 hours ago

सैमसंग भारत में इस दिन लॉन्च करेगा 4 कैमरे वाला स्मार्टफोन, जानें कीमत और खूबियां

देश2 hours ago

भारत-सिंगापुर हैकाथन से प्रौद्योगिकी, युवा शक्ति को मिलेगा बढ़ावा : पीएम मोदी

राज्य2 hours ago

यूपी में तीन आईएएस और चार पीसीएस अधिकारियों के तबादले

देश3 hours ago

फैशन डिजाइनर और नौकर की चाकुओं से गोदकर हत्या, थाने जाकर बोले आरोपी-हमने किया मर्डर

राज्य3 hours ago

डीआईजी ओंकार सिंह ने की अपराधों पर लगाम की समीक्षा, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

बिज़नेस3 hours ago

पेट्रोल और डीजल के दाम फिर घटे, जानिए क्या है आज की कीमत

राज्य3 hours ago

घर छोड़ने के बहाने छात्रा को खेत में ले गए युवक, फिर किया सामूहिक बलात्कार

हेल्थ4 hours ago

अगर आपके शरीर में हो रहे एेसे लक्षण तो जरूर कराएं जांच, नहीं तो हो सकती है मौत

राज्य18 hours ago

बहराइच : डीएम-एसपी ने त्यौहारों को लेकर कसे मातहतों के पेंच

राज्य18 hours ago

बलरामपुर : एसडीएम का बालू खनन माफियों पर चला चाबूक, मचा हड़कम्प

देश18 hours ago

राफेल पर फैैसला सुरक्षित, पढ़ें सरकार व वायुसेेना ने क्या-क्या दी दलीलें, जिस पर चीफ जस्टिस ने कहीं ये बातें

राज्य18 hours ago

अमेठी : अनियंत्रित ट्रक ने स्कूली छात्र को रौंदा, मौके पर ही मौत

राज्य3 weeks ago

सिपाही पिता आईपीएस बेटे का बना मातहत, ठोकेगा सैल्यूट, लखनऊ में दोनों की तैनाती

देश4 weeks ago

अमृतसर ट्रेन हादसा : जिसने निभाया था रावण का किरदार, उसे भी ‘मौत’ खींच ले गयी पटरी के पास

देश3 weeks ago

विधान परिषद सभापति के बेटे की मौत पर बड़ा खुलासा, मां ने ही की थी हत्या, बताया-क्या हुआ था उस रात

मनोरंजन2 weeks ago

अभिनेत्री बोली, कमरे में ले जाकर डायरेक्टर ने कहा-100 करोड़ दूंगा, कुत्ते के साथ शारीरिक संबंंध बनाओगी

देश2 weeks ago

लखनऊ में दिनदहाड़े कैशियर की गोली मारकर हत्या, 10 लाख रुपये लूटे, पुलिस महकमे में हड़कंप

देश6 days ago

दिन में भाजपा में शामिल हुई और रात में ही मिल गया इस मुस्लिम महिला को टिकट, लेंगी बदला

मनोरंजन3 days ago

देखें फोटो : पहलवान से भिड़ना राखी सावंत को पड़ा महंगा, उठाकर एेसा पटका कि पहुंच गईं अस्पताल

देश4 weeks ago

यूपी : कलयुगी भाइयों ने अपनी ही 15 साल की सगी बहन का 4 साल तक किया रेप

मनोरंजन3 weeks ago

‘मुझे धक्का देते हुए मेरे प्राइवेट पार्ट्स छूने लगा’, शूटिंग के दौरान डांसर से छेड़छाड़, अक्षय भी थे मौजूद

हेल्थ4 weeks ago

डॉक्टरों का हैरतअंगेज कारनामा : देश में पहली बार मां के गर्भाशय से बेटी ने दिया बच्चे को जन्म

देश4 weeks ago

वीडियो : अमृतसर में बड़ा हादसा, ट्रेन से कुचलकर 60 लोगों की मौत, रेलवे और ड्राइवर ने दी सफाई

राज्य4 weeks ago

यूपी : भाजपा पार्षद ने चांटे मार-मार कर दरोगा को पीटा, महिला वकील को भी नहीं बख्शा, देखें वीडियो

राज्य2 weeks ago

भाजपा के डिप्टी सीएम व कैबिनेट मंत्री के खिलाफ गैर जमानती वारंट, रीता को गिरफ्तार करने का आदेश

राज्य3 days ago

योगी सरकार की बड़ी तैयारी, इलाहाबाद-फैजाबाद के बाद अब बदले जाएंगे इन शहरों के नाम

देश2 weeks ago

पहले बने भाई और बहन फिर प्रेमी-प्रेमिका, शारीरिक संबंध के बाद शुरू हुआ विवाहिता दीदी का ‘गंदा खेल’

राज्य4 weeks ago

यूपी पुलिस में निकली बंपर वैकेंसी : 1 नवंबर से शुरू होगी 56,808 सिपाहियों की भर्ती, जानें पूरी जानकारी

देश4 weeks ago

यूपी और उत्तराखंड के पूर्व सीएम एनडी तिवारी का निधन, जन्मदिन के दिन ही ली अंतिम सांस

देश2 weeks ago

वीडियो : सिगरेट को लेकर नशे में धुत मॉडल ने गार्ड को लात-घूसों से पीटा, पुलिस पहुंची तो कपड़े उतारे

Trending