Connect with us

राज्य

आजमगढ़ से अखिलेश यादव लड़ेंगे चुनाव, कांग्रेस करेगी समर्थन!, जानिए इस सीट का जातीय समीकरण

Published

on

नई दिल्ली। यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव आजमगढ़ संसदीय सीट से लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं। वहां से वह लड़ते हैं, तो कांग्रेस उनका समर्थन करेगी। सपा–बसपा गठबंधन तथा कांग्रेस के समर्थन के चलते वह इस संसदीय क्षेत्र के यादव, मुसलमान, दलित व कुछ राजपूत मतदाताओं के एकजुट वोट की बदौलत अपने प्रमुख प्रतिद्वंद्वी को हरा सकते हैं। 

पूर्वी उत्तर प्रदेश में लड़ाई कांटे की

इस बारे में बीएचयू छात्रसंघ के अध्यक्ष रहे कांग्रेस के नेता व एआईसीसी सदस्य अनिल श्रीवास्तव का कहना है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में लड़ाई कांटे की है। कांग्रेस की स्थिति पहले से बेहतर हुई है। केन्द्र की सत्ताधारी पार्टी व उसके शीर्ष नेतृत्व से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सीधी लड़ाई लड़ रहे हैं। वह बहुत ही आक्रामक हैं। जो बेरोजगारी, महंगाई से परेशान युवा मतदाताओं व जनता को अपील कर रहा है। कांग्रेस के समर्थक भी धूल झाड़कर खड़े होने लगे हैं। प्रियंका गांधी के कांग्रेस की राजनीति में आने और पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाये जाने से इसको और बल मिल रहा है।

इसलिए करेगी कांग्रेस समर्थन

इसलिए पूर्वी उत्तर प्रदेश की राजनीति अगले कुछ वर्षों में पूरी तरह बदलने वाली है। इस दौरान सत्ताधारी पार्टी को विपक्ष तभी घेर पाएगा, जब आपसी तालमेल से चुनाव लड़े। इस रणनीति के तहत कांग्रेस अपनी तरफ से हर तरह से विपक्षी दलों के साथ तालमेल करने, सहयोग करने के लिए तैयार है। ऐसे में समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव यदि अपने पिता मुलायम सिंह यादव की जगह 2019 में आजमगढ़ संसदीय सीट से लोकसभा चुनाव लड़ते हैं, तो कांग्रेस उनका समर्थन करेगी।

चूंकि सपा व बसपा गठबंधन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की संसदीय सीट अमेठी और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी की संसदीय सीट रायबरेली से अपना प्रत्याशी नहीं उतारने का निर्णय किया है। इसलिए कांग्रेस भी सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, संरक्षक मुलायम सिंह यादव तथा बसपा प्रमुख मायावती जिन संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगी, वहां कांग्रेस अपना प्रत्याशी खड़ा नहीं करेगी। 

कांग्रेस करा रही था इस सीट पर सर्वेक्षण

खबरों के अनुसार कांग्रेस आजमगढ़ संसदीय सीट पर अपना प्रत्याशी खड़ा करने के लिए पार्टी पदाधिकारियों के मार्फत सर्वेक्षण करा रही थी। कार्यकर्ताओं, जनता की राय ले रही थी। लेकिन जिस दिन (रविवार 10 मार्च ) केन्द्रीय चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव की तिथियों की घोषणा की, उसी दिन यह सर्वेक्षण कार्य रोक दिया गया। उनको पता चला कि आजमगढ़ संसदीय सीट से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव चुनाव लड़ेंगे। उनको कांग्रेस समर्थन करेगी। 

क्या कहता है समीकरण

आजमगढ़ लोकसभा क्षेत्र से 2014 के लोकसभा चुनाव में अखिलेश के पिता पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव चुनाव जीते थे। वह 2019 के लोकसभा चुनाव में मैनपुरी संसदीय सीट से लड़ेंगे। सपा ने प्रत्याशियों की जो पहली सूची जारी की है उसमें उनको मैनपुरी से प्रत्याशी बनाया गया है। 2014 के लोकसभा चुनाव में मुलायम सिंह यादव दो लोकसभा सीट – आजमगढ़ व मैनपुरी से चुनाव लड़ा था| वह दोनों पर जीते थे। बाद में उन्होंने मैनपुरी सीट छोड़ दिया और आजमगढ़ संसदीय सीट से सांसद बने रहे। अब वह 17 वीं लोकसभा का चुनाव मैनपुरी संसदीय सीट से लड़ रहे हैं, जहां से 2014 के लोकसभा चुनाव में बहुत अधिक मतों से जीते थे।

मुलायम सिंह ने 2014 में आजमगढ़ लोकसभा सीट से 63204 मतों से जीता था। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के चर्चित प्रत्याशी (भाजपा) रमाकांत यादव को हराया था। उस चुनाव में इस सीट पर सपा के मुलायम सिंह यादव को 3,40,306 वोट मिले थे। भाजपा के प्रत्याशी रमाकांत यादव को 2,77,102 वोट मिले थे। बसपा प्रत्याशी को 2,66,528 वोट मिले थे। कांग्रेस ने मुलायम सिंह यादव के समर्थन में प्रत्याशी नहीं खड़ा किया था।

2019 का लोकसभा चुनाव सपा व बसपा गठबंधन करके लड़ रही हैं। ऐसे में यदि 2014 के चुनाव में मिले दोनों के प्रत्याशियों के वोट जोड़ते हैं, तो हो जाता है 3,40,306 + 2,66,528 = 6,06,834, जो कि भाजपा के प्रत्याशी को मिले वोट से 329732 अधिक है। इस बार फिर आजमगढ़ की सीट सपा के खाते में हैं। यहां से यदि सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के बेटे अखिलेश यादव चुनाव लड़ते हैं, तो बसपा व कांग्रेस के समर्थन के चलते मुस्लिम व यादव बहुल इस सीट पर वह दलित, मुसलमान व यादव मतदाताओं के एकजुट वोट के बदौलत आसानी से जीत सकते हैं। यही वजह है कि अखिलेश यादव पूर्वी उत्तर प्रदेश के इस मुस्लिम व यादव बहुल संसदीय सीट से चुनाव लड़ना चाहते हैं। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

राज्य

कानपुर से लखनऊ आ रहा STF का वाहन पलटा, ये है बड़ा कारण, एक की मौत, पांच लोग घायल

Published

on

लखनऊ। स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की टीम अपने वाहन कानपुर से लखनऊ आ रही थी तभी उन्नाव के सोहरामऊ के पास गाय के अचानक आ जाने से अनियंत्रित होकर पलट गई और क्षतिग्रस्त हो गई। इस घटना में आरक्षी अवनीन्द्र बाजपेई की मौत हो गई। जबकि वाहन में सवार निरीक्षक अरुण कुमार सिंह, उपनिरीक्षक विनोद सिंह, मुख्य आरक्षी रुद्र नारायण, आरक्षी राजेश सिंह और आरक्षी आलोक पाण्डेय गंभीर रूप से घायल हो गए।

डिवाइडर से टकराकर वाहन श्रतिग्रस्त

सोमवार की सुबह कानपुर से एक अभियान को पूरा कर लौट रही एफटीएफ की वाहन स्कार्पियो उन्नाव के सोहरामऊ में गांव आशाखेड़ा के पास में गाय के सामने आने से अनियंत्रित हो गई। गाय को बचाने में स्कार्पियो के चालक ने वाहन को अचानक से मोड़ा और डिवाइडर से टकराकर वाहन श्रतिग्रस्त हो गया। इस घटना में स्कार्पियो वाहन में सवार सभी लोग घायल हो गए। जब घायलों को लखनऊ के ट्रामा सेंटर भेजा गया।
ट्रामा सेंटर में उपचार से पहले ही आरक्षी अवनीन्द्र बाजपेई को चिकित्सकों की टीम ने मृत घोषित कर दिया। वहीं बाकि घायलों को उपचार शुरु कर दिया। घायलों निरीक्षण अरुण कुमार सिंह को ज्यादा चोंट आई है। वहीं आरक्षी राजेश सिंह की चोंट भी गहरी बतायी जा रही है। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading

राज्य

स्मृति के करीबी सुरेन्द्र सिंह हत्याकांड : कांग्रेस नेता समेत हत्या के सभी नामजद आरोपी गिरफ्तार

Published

on

अमेठी। जनपद के जामो थानाक्षेत्र अंतर्गत बरौलिया गांव में भाजपा नेता सुरेन्द्र सिंह के हत्या मामले में बीती रात पुलिस ने दो सगे भाइयों नसीम और वसीम, गोलू, धर्मनाथ गुप्ता, कांग्रेस नेता व बीडीसी सदस्य रामचंद्र को गिरफ्तार कर लिया है। जिनसे वारदात के बाबत पूछताछ की जा रही है।  पुलिस महानिदेशक ओ.पी.सिंह ने भी सख्त कार्रवाई का संकेत दिया था।

शनिवार को हुई थी हत्या

उल्लेखनीय है कि अमेठी से नवनिर्वाचित सांसद स्मृति ईरानी के करीबी माने जाने वाले बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान की शनिवार रात करीब 11.30 बजे अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम ने रविवार को बताया कि बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान स्थानीय भाजपा नेता सुरेंद्र सिंह को शनिवार रात करीब 11.30 बजे अज्ञात बदमाशों ने गोली मार दी । उन्हें गंभीर हालत में इलाज के लिए लखनऊ भेजा गया, जहां उनकी मौत हो गयी। उन्होंने बताया कि सुरेन्द्र सिंह की हत्या के मामले में पुलिस ने रविवार को पांच लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की।

पुलिस अधीक्षक दयाराम बोेले

इस मामले में पुलिस अधीक्षक दयाराम ने बताया कि वसीम, नसीम, गोलू, धर्मनाथ और बीडीसी सदस्य (ब्लाक डेवलपमेंट कमेटी क्षेत्र विकास समिति) रामचंद्र के खिलाफ सुरेन्द्र सिंह की हत्या के मामले में धारा 302 (हत्या) और 120-बी (आपराधिक साजिश) के तहत मुकदमा दर्ज किया था।  पुलिस पकड़े गए आरोपियों से हत्या की वजह तलाशने में जुटी है। प्राथमिक जांच में बीडीसी चुनाव की रंजिश सामने आ रही है।

स्मृति ने पार्थिव शरीर को दिया था कंधा

इस घटना की खबर पर रविवार को नवनिर्वाचित सांसद स्मृति ईरानी दोपहर बाद बरौलिया गांव पहुंचीं थीं और सुरेन्द्र सिंह की अंतिम यात्रा में शामिल हुईं। स्मृति ने सिंह के पार्थिव शरीर पर पुष्प चढ़ायीं और पार्थिव शरीर को कंधा भी दिया। स्मृति ने उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने के बाद कहा कि अमेठी को आतंकित करने की नीयत से सुरेंद्र सिंह की हत्या की गई है।
अमेठी टूटे, अमेठी झुके, इस घटना के पीछे यही छिपा है। स्मृति ने कहा था कि सुरेंद्र सिंह का हत्यारा पाताल में भी होगा तो उसे खोज निकाला जाएगा। साथ ही कहा था कि मैंने सुरेंद्र सिंह के परिवार के सामने संकल्प लिया है कि जिसने गोली मारी, जिसने गोली चलाने का आदेश दिया, इन सभी अपराधियों को मौत की सजा दिलाने के लिए यदि सुप्रीम कोर्ट भी जाना पड़े तो भाजपा के कार्यकर्ता सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाएंगे। सुरेंद्र सिंह के परिवार को न्याय दिलवाएंगे। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading

राज्य

बसपा की तरफ से सपा प्रत्याशियों को हराने वाला लेटर वायरल, लिखी है ये बातें, जानें क्या है पूरा मामला

Published

on

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों को हराने वाले लेटर को बसपा के प्रदेश अध्यक्ष आरके कुशवाहा ने झूठा व फर्जी बताया है। प्रदेश अध्यक्ष ने वायरल लेटर को गलत ठहराते हुए एक पत्र भी जारी कर दिया है। बसपा के प्रदेश अध्यक्ष आरके कुशवाहा ने सोमवार को बताया कि मतगणना वाले दिन वह खुद ही सोशल मीडिया के माध्यम से एक पत्र पाये, जिसपर समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों की जमानत जब्त कराने की बात लिखी गई थी। वायरल हो रहे पत्र में गेस्ट हाउस का बदला लेने के लिए सपा प्रत्याशी की हार जरुरी होना लिखा था।

विरोधियों की साजिश

उन्होंने बताया कि इस वायरल पत्र के मिलते ही उन्होंने इसकी जांच करायी। फिर 25 मई को अपनी ओर से खंडन पत्र जारी किया। खंडन पत्र के माध्यम से कार्यकर्ताओं को भ्रमित ना होने को लिखा गया। फर्जी पत्र के माध्यम से सपा और बसपा के गठबंधन में दरार पैदा करने की विरोधियों की यह साजिश है। बसपा के प्रदेश अध्यक्ष के फर्जी हस्ताक्षर वाले वायरल पत्र में लिखा है कि बहन जी मायावती के आदेश पर बसपा कार्यकर्ताओं को नतीजों की परवाह किये बगैर समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों को हराना है। हमें मायावती के साथ हुए अपमान का बदला लेना है। इसके लिए सपा प्रत्याशियों की जमानतें जब्त करानी है। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading
मनोरंजन53 mins ago

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी फिल्म कर रही बेहतर प्रदर्शन, जानें अब तक का कलेक्शन

देश2 hours ago

जिस पंडित ने विवाह मंडप में फेरे करवाए उसके साथ ही भाग गई दुल्हन, जानें पूरा मामला

देश2 hours ago

करारी हार के बाद राजद में बगावत, विधायक बोले-इस्तीफा दें तेजस्वी यादव, वंशवाद…

देश2 hours ago

सीआईडी ने सीबीआई को सौंपी चिट्ठी, कहा- वाराणसी में हैं राजीव कुमार, बताया ये कारण

मनोरंजन2 hours ago

मशहूर एक्शन डायरेक्टर और अभिनेता अजय देवगन के पिता वीरू देवगन का निधन, बॉलीवुड में शोक की लहर

देश2 hours ago

वो रोती रही, छोड़ने की विनती करती रही, लेकिन 6 युवक करते रहे दरिंदगी, वीडियो वायरल

खेल3 hours ago

ब्राजील के दिग्गज फुटबॉलर डेविड लुइज ने विराट कोहली को लेकर कही ये बात, भारत को दी शुभकामनाएं

राज्य3 hours ago

कानपुर से लखनऊ आ रहा STF का वाहन पलटा, ये है बड़ा कारण, एक की मौत, पांच लोग घायल

देश3 hours ago

रॉबर्ट वाड्रा की बढ़ी मुश्किलें, ED की याचिका पर हाईकोर्ट का नोटिस, जवाब दाखिल करने के दिए निर्देश

टेक्नोलॉजी4 hours ago

Whatsapp पर आएगा ये खास फीचर, आपके समय का करेगा बचत, जानें कैसे करेगा काम

देश4 hours ago

6 लोगों की जिंदगी लील गई एम्बुलेंस, मरने वालों में एक ही परिवार के पांच सदस्य, ऐसे हुआ भीषण हादसा

मनोरंजन4 hours ago

अभिनेता ऋषि कपूर ने पीएम मोदी व स्मृत‍ि ईरानी से की गुजारिश, इन तीन मुद्दों पर करें काम

वीडियो4 hours ago

प्रेमी ने नहीं दिलाया स्मार्टफोन तो प्रेमिका ने बीच सड़क पर 52 बार जड़े थप्पड़, देखें वीडियो

दुनिया4 hours ago

ब्राजील की जेल में खूनी संघर्ष, 15 कैदियों की मौत, जांच में जुटे अधिकारी

खेल5 hours ago

रोजर फेडरर ने फ्रेंच ओपन में चार साल बाद जीत के साथ की वापसी, इटली के लोरेंजो सोनेगो को दी मात

हेल्थ5 hours ago

600 गर्भवती महिलाओं से पूछी गईं ये सवाल, निकल कर सामने आईं चौंकाने वाली बात

देश5 hours ago

वाराणसी में पीएम मोदी ने की काशी से अयोध्या तक की बात, बताया क्यों गए थे केदारनाथ

देश5 hours ago

लोस चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस ने इस दिन बुलाई विधायकों की बैठक, फिर सक्रिय हुए बागी MLA

देश2 weeks ago

जानिए कौन है नीली ड्रेस वाली खूबसूरत पोलिंग अफसर, खुद किया ये बड़ा खुलासा, देखें 13 तस्वीरें

राज्य3 weeks ago

फेसबुक पर इंस्पेक्टर से प्यार, फिर बने संबंध, होने वाली थी शादी, लड़की ने ये सुसाइड नोट लिख चुन ली मौत

राज्य3 weeks ago

यूपी की इस सीट पर यदुवंशी शिफ्ट हो रहे भाजपा में, लगा रहे ये नारे, गठबंधन के चेहरे पर चिंता की लकीरें

देश3 weeks ago

BSF के बर्खास्त जवान तेज बहादुर बोले, 50 करोड़ रुपए दो तो कर दूंगा पीएम मोदी की हत्या, देखें वीडियो

राज्य4 weeks ago

योगी सरकार के मंत्री पर महिला ने लगाये रेप के आरोप, मंत्री बोले-दोषी साबित हुआ तो कुत्ते से नुचवा लेना मांस

देश2 weeks ago

जानिए कौन है पीली साड़ी पहनी खूबसूरत पोलिंग ऑफिसर? जिसे ढूंढ रही पूरी दुनिया, देखें फोटो

राज्य3 weeks ago

रमजान शरीफ के चांद की शहादत को लेकर दरगाह आला हजरत से जारी हुआ हेल्पलाइन नंबर

वीडियो3 weeks ago

तेज रफ्तार बाइक की टंकी पर बैठ कर लड़की ने लड़के को किया किस, IPS अफसर ने शेयर किया वीडियो

देश4 weeks ago

यूपी की इस लोकसभा सीट को जीते बिना सत्ता में नहीं आती है भाजपा, जानिए क्या है बड़ा कारण

देश2 weeks ago

सट्टा बाजार में भाजपा को बढ़त, बना रहे मोदी सरकार, जानिए महागठबंधन का क्या है हाल

देश5 days ago

कांग्रेस ने जारी किया अपना एग्जिट पोल, खुद को दिखाईं इतनी सीटें, भाजपा को बताया सत्ता से दूर

देश4 weeks ago

पिता और पुत्र ने मां-बेटी से किया बलात्कार, अश्लील वीडियो बनाकर करने लगे ये काम, जानें पूरा मामला

देश3 weeks ago

दोबारा सत्ता में लौटी मोदी सरकार तो इन पांच राज्यों की सरकारों पर मंडराने लगेंगे खतरे का बादल

देश2 weeks ago

ममता की प्रत्याशी बोली, बंगाल में राम बोलने की अनुमति नहीं, अल्लाह ही रहेंगे, पुलिसवाले भी समर्थन में

देश3 weeks ago

पहली बार जंगल में उतरीं महिला कमांडो, 2 वर्दीधारी नक्सलियों को किया ढेर

देश6 days ago

एग्जिट पोल के बाद मायावती की बड़ी कार्रवाई, इस करीबी विधायक को दिखाया बाहर का रास्ता

देश1 week ago

मुलायम-राहुल व डिंपल की सीट पर खतरा, जानें यूपी की हर सीट का एग्जिट पोल

मनोरंजन1 week ago

जानें, फिल्म ‘दे दे प्यार दे’ की बॉक्स ऑफिस पर कैसी रही शुरुआत, दर्शकों ने दी कैसी प्रतिक्रिया?

Trending