75 हजार लोगों के "घर का सपना" पूरा, प्रधानमंत्री मोदी ने सौंपी चाबी,बोले- इस बार अपने घर में मनेगी दिवाली

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 75 हजार लोगों के घर का सपना पूरा कर दिया है।  आवास योजना (शहरी) के तहत लाभार्थियों को पीएम ने  उनके घर की चाबी सौंपी।
 
PM Modi in lko.jpg
प्रधानमंत्री मोदी

लखनऊ।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 75 हजार लोगों के घर का सपना पूरा कर दिया है।  आवास योजना (शहरी) के तहत लाभार्थियों को पीएम ने  उनके घर की चाबी सौंपी।
 
पीएम मोदी ने कहा कि लखनऊ ने अटल जी के रूप में एक विजनरी, मां भारती के लिए समर्पित राष्ट्रनायक देश को दिया है। आज उनकी स्मृति में, बाबा साहब भीमराव आंबेडकर यूनिवर्सिटी में अटल बिहारी वाजपेयी चेयर स्थापित की जा रही है। मुझे विश्वास है कि ये चेयर अटल जी के विजन, उनके एक्शन, राष्ट्रनिर्माण में उनके योगदान को विश्व पटल पर लाएगी. जैसे भारत की 75 वर्ष की विदेश नीति में अनेक मोड़ आए लेकिन अटल जी ने उसे नई दिशा दी। 

पीएम ने कहा कि 2014 के बाद से हमारी सरकार ने पीएम आवास योजना के तहत शहरों में 1 करोड़ 13 लाख से ज्यादा घरों के निर्माण की मंजूरी दी है. इसमें से 50 लाख से ज्यादा घर बनाकर, उन्हें गरीबों को सौंपा भी जा चुका है. उन्होंने कहा कि अभी तक सरकार बनाने के लिए सरकारें चलाई जाती थी. हम, देश बनाने के लिए सरकार चला रहे हैं.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने लखनऊ की तारीफ की. मोदी बोले कि 75 हजार परिवार जिनको उनके घरों की चाभी मिली है, वे अब अपने नए घर में सभी त्योहार मना पाएंगे. महिलाओं को छूट देने वाले निर्णय पर पीएम मोदी बोले कि किसी भी परिवार को देखेंगे कि ज्यादातर जगह मकान, दुकान, खेत, गाड़ी, स्कूटर पति के नाम पर होता है. पति नहीं रहते तो बेटे के नाम पर. महिला के नाम कुछ नहीं होता है. इसलिए स्वस्थ्य समाज को बनाने के लिए संतुलन बनाना जरूरी है. इसलिए सरकार जो आवास देगी उसका मालिकाना हक महिला को दिया जाएगा ये फैसला लिया गया.

उन्होंने कहा कि मुझे अच्छा लगा कि 3 दिनों तक लखनऊ में भारत के शहरों के नए स्वरूप पर देशभर के विशेषज्ञ एकत्र होकर मंथन करने वाले हैं. यहां जो प्रदर्शनी लगी है, वो आजादी के इस अमृत महोत्सव में 75 साल की उपलब्धियां और देश के नए संकल्पों को भलीभांति प्रदर्शित करती हैं.

इससे पहले लखनऊ पहुंचकर पीएम मोदी सबसे पहले अर्बन कॉन्क्लेव में हिस्सा लेने पहुंचे. वहां उन्होंने तीन दिवसीय कॉन्क्लेव की शुरुआत की. पीएम मोदी के साथ वहां राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहे.