Connect with us

खेल

पाकिस्तान ने 2019 विश्व कप में भारत के खिलाफ शुरू से ही गलती की थी : वकार यूनिस

Published

on

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान व कोच वकार यूनिस का मानना ​​है कि सरफराज अहमद की अगुवाई वाली पाकिस्तानी टीम ने 2019 विश्व कप में भारत के खिलाफ खेले गए मैच में शुरू से ही गलती की थी। भारतीय टीम ने डकवर्थ नियम के आधार पर यह मैच 89 रनों से जीता था।

खराब फैसलों के कारण नुकसान उठाना पड़ा

वकार ने ग्लोफैंस क्यू20 चैट शो पर कहा कि पाकिस्तान के पास पिछले साल विश्व कप में भारत के खिलाफ अपने बुरे प्रदर्शन को खत्म करने का मौका था लेकिन खराब फैसलों के कारण उन्हें नुकसान उठाना पड़ा।
वकार, जो चार बार भारत-पाकिस्तान विश्व कप की हाई-प्रोफाइल भिड़ंत का हिस्सा रह चुके हैं, ने कहा, “मुझे लगता है कि पाकिस्तान ने 2019 विश्व कप टॉस जीतने के बाद से लगातार गलत फैसले लिए। मुझे लगता है कि वे उम्मीद कर रहे थे कि पिच शुरुआत में गेंदबाजों की कुछ ज्यादा ही मदद करेगी और उन्हें शुरुआती विकेट मिलेंगे जिससे भारत दबाव में आ जाएगा। ”

भारत के पास बहुत से अनुभवी सलामी बल्लेबाज़ थे

उन्होंने कहा, “लेकिन, भारत के पास बहुत से अनुभवी सलामी बल्लेबाज़ थे और उन्होंने वास्तव में गेंदबाजों को जमने नहीं दिया और, पिच वास्तव में बहुत कुछ नहीं कर पाई और एक बार जब भारतीय बल्लेबाज लय में आ गए तो उन्हें रोकना बहुत मुश्किल था।उन्होंने इतने रन बनाए कि पाकिस्तान के पास इसका कोई जवाब नहीं था।”

शुरुआत से की गई गलती

उन्होंने आगे कहा कि इसलिए मुझे लगता है कि यह शुरुआत से की गई गलती थी। टॉस जीतना और उस विकेट पर भारत को बल्लेबाजी के लिए बुलाना, इससे पाकिस्तान को नुकसान हुआ और भारत को काफी मदद मिली।
भारत ने विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ 7-0 का अपराजेय रिकॉर्ड बनाये रखा है। भारत और पाकिस्तान के बीच हर बार विश्व कप में कई रोमांचक मैच खेले गए हैं। वर्ष 2003 में सचिन तेंदुलकर द्वारा खेली गई पारी पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय बल्लेबाज द्वारा खेली गई सर्वश्रेष्ठ पारी मानी जाती है।
दक्षिण अफ्रीका के सेंचुरियन में 1 मार्च, 2003 को खेले गए ग्रुप-स्टेज मैच में, पाकिस्तान ने भारत के सामने 274 रनों के लक्ष्य रखा था,जवाब में भारतीय टीम ने सचिन तेंदुलकर के शानदार 98 रनों की बदौलत चार ओवर से अधिक ओवर शेष रहते लक्ष्य हासिल कर लिया था।

खेल

जानें कब होगा आईपीएल का आयोजन, इन दो देशों के बीच में है मेजबानी की दौड़

Published

on

By

नई दिल्ली। भारत में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना की वजह से देश में आईपीएल के सीजन-13 का आयोजन नहीं हो सका है। माना ये भी जा रहा है कि अगर कोरोना की वजह से टी20 वर्ल्ड कप स्थगित हो जाता है, तो उस शेड्यूल में आईपीएल कराया हो सकता है।

श्रीलंका में अब तक कोरोना के 2,054 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 11 लोगों की मौत हो गई है। वहीं यूएई में 49,069 लोग इस वायरस की चपेट में आए हैं, जिनमें से 316 की मौत हुई है।

भारत में एक दिन में कोरोना के 19,148 नए मामले आने के बाद संक्रमितों की संख्या गुरुवार को छह लाख के पार चली गई है और मृतकों की संख्या 17,834 पर पहुंच गई है। महज पांच दिन पहले ही संक्रमितों की संख्या पांच लाख के पार हुई थी। बात अगर वैश्विक स्तर की करें, तो कोरोना से अब तक 1 करोड़ 8 लाख लोग संक्रमित हुए हैं, जबकि 5 लाख 19 हजार लोगों की जान इस वायरस की वजह से गई है।

भारत में कोरोना के मामलों को देखते हुए यहां पर फिलहाल आईपीएल का आयोजन मुश्किल में नजर आ रहा है। ऐसे में आईपीएल की मेजबानी की दौड़ में श्रीलंका और यूएई है

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने बताया कि फिलहाल अभी आईपीएल के स्थान को लेकर फैसला होना है, वही इस बार आईपीएल भारत के बाहर होने की संभावना है। उनके मुताबिक, मेजबानी की दौड़ यूएई और श्रीलंका के बीच है। इसके लिए दोनों देशों में कोरोना के हालात को देखना होगा।

बीसीसीआई अधिकारी के अनुसार, “ भारत में स्थिति अभी ऐसी नहीं है कि यहां कई सारी टीमें एक या दो वेन्यू पर आएं और एक ऐसा वातावरण बनाएं, जो प्लेयर्स के अलावा आम जनता के लिए भी ठीक हो, चाहे बिना दर्शकों के खाली स्टेडियम में ही क्यों ना मैच खेले जाएं।

Continue Reading

खेल

बर्थडे स्पेशल: भज्जी के नाम दर्ज है धांसू रिकॉर्ड्स, वो रिकॉर्ड्स कोई नहीं तोड़ सका

Published

on

By

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के सफल स्पिनरों में शुमार और टर्बनेटर के नाम से फेमस हरभजन सिंह का 40वां जन्मदिन हैं। भज्जी का जन्म 3 जुलाई 1980 को पंजाब के जलंधर में हुआ था। लंबे टाइम से टीम से बाहर चल रहे हरभजन सिंह ने 103 टेस्ट, 236 वनडे और 28 टी-20 खेले हैं।

हरभजन ने लिमिटेड ओवर में 294 विकेट लिए हैं। साल 2015 में उन्होंने आखिरी टेस्ट श्रीलंका और इसी साल अंत में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे खेला था। भज्जी के अंतिम टी-20 2016 के एशिया कप में यूएई के खिलाफ खेला था।

हरभजन सिंह इस समय टीम का हिस्सा ना हों, लेकिन भज्जी के नाम कुछ ऐसे रिकॉर्ड्स हैं, जो आजतक कोई नहीं तोड़ सका है। अपने अग्रेशन के लिए फेमस भज्जी के कुछ ऐसे ही धांसू रिकॉर्ड्स के बारे में हम आपको बता रहे हैं:

1- भज्जी भारत की तरह से कम उम्र में 400 टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। ओवरऑल बात करें तो उनसे ऊपर सिर्फ एक नाम है और वो हैं श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन। मुथैया मुरलीधरन ने 29 वर्ष 273 दिन की उम्र में 400 विकेट पूरे किए थे और भज्जी ने 31 वर्ष 4 दिन की उम्र में।

2- टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले भज्जी पहले भारतीय गेंदबाज हैं। मार्च 2001 में भज्जी ने ईडन गार्डन्स मैदान पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हैट्रिक ली थी, जो भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में पहली हैट्रिक थी। भज्जी के बाद साल 2006 में इरफान पठान ने पाकिस्तान के खिलाफ कराची टेस्ट में हैट्रिक ली थी।

3- तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड भी भज्जी के नाम ही है। उन्होंने 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 32 विकेट झटके थे। ये रिकॉर्ड आजतक कोई नहीं तोड़ पाया है।

 

4- टेस्ट क्रिकेट में भारत के सबसे सफल ऑफ स्पिनर भज्जी ही हैं। भज्जी के नाम 417 टेस्ट विकेट हैं और इस मामले में फिलहाल कोई भी भारतीय ऑफ स्पिनर उनके आस-पास भी नहीं है।

 

5- भज्जी भारत की ओर से पहले ऐसे क्रिकेटर हैं, जिसने नंबर आठ पर बल्लेबाजी करते हुए बैक टू बैक टेस्ट सेंचुरी जड़ी हो। 2010 में भज्जी ने न्यूजीलैंड के खिलाफ अहमदाबाद और हैदराबाद टेस्ट में क्रम से 115 और नॉटआउट 111 रनों की पारी खेली थी।

 

 

Continue Reading

खेल

अगर भुवनेश्वर पर बनी बायोपिक, तो ये एक्टर निभाएंगे उनका किरदार

Published

on

By

नई दिल्ली। इन दिनों बॉलीवुड में प्लेयर्स की बायोपिक का क्रेज है फैन्स इन्हें पसंद भी कर रहे हैं। फैन्स ने सचिन तेंदुलकर और महेंद्र सिंह धौनी की बायोपिक को काफी तारीफ और प्यार दिया है। भारतीय टीम में ऐसे कई क्रिकेटर हैं, जिनकी बायोपिक पर काम हो सकता है।

इन क्रिकेटरों से बायोपिक को लेकर अक्सर सवाल होते रहते हैं। बायोपिक को लेकर सवाल करते समय पहले यही पूछा जाता है कि आप किस बॉलीवुड अभिनेता को अपना किरदार निभाते हुए देखना चाहेंगे। भुवनेश्वर कुमार से हाल ही में पुछा गया तो उन्होंने एक बॉलीवुड अभिनेता का नाम लिया है।

इस बीच भुवनेश्वर ने एक वेबिनार में भाग लिया था। इस वेबिनार में उनसे बायोपिक को लेकर सवाल पुछा गया था। जब भुवनेश्वर ये सवाल पुछा गया कि वो अपनी बायोपिक में किस अभिनेता को अपना किरदार निभाते हुए देखना चाहेंगे तो उन्होंने राजकुमार राव का नाम लिया।

उन्होंने बोला, ” किसी ने सुझाव दिया था कि राजकुमार राव शारीरिक बनावट के मामले में मेरे साथ बहुत समानता रखते हैं। मुझे लगता है कि मेरी बायोपिक में वह मेरा किरदार निभा सकते हैं।

30 वर्षीय भुवनेश्वर कुमार पिछले कुछ समय से चोटों से जूझ रहे थे। इसी वजह से वह पिछले साल कई सीरीज से बाहर थे। जनवरी में हर्निया की सर्जरी से गुजरे और न्यूजीलैंड दौरे से बाहर रहे। आईपीएल 2020 से उन्हें क्रिकेट मैदान पर वापसी की उम्मीद थी, लेकिन कोरोना की वजह से यह टूर्नामेंट अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है।

इससे पहले उन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज में शामिल किया गया था। इस सीरीज का पहला मैच बारिश की वजह से नहीं हुआ था। इसके बाद कोरोना की वजह से बचे हुए दोनों वनडे मैचों को रद्द कर दिया गया था। फिलहाल भुवनेश्वर लॉकडाउन में घर में परिवार के साथ समय बिता रहे हैं। हालांकि, अब भुवनेश्वर पूरी तरफ से फिट हैं और मैदान पर वापसी का इंतजार कर रहे हैं।

भुवनेश्वर कुमार ने अपने भविष्य पर बोला, ”मैं मेरठ की एक अकादमी में खोलना चाहता हूं, क्योंकि इसने मुझे बहुत कुछ दिया है। मैं वहां के लोगों को वापस देना चाहता हूं। यह कुछ ऐसा है, जो मैं निश्चित रूप से करने जा रहा हूं।

भुवनेश्वर ने भारत के लिए 21 टेस्ट, 114 वनडे और 43 टी-20 मैच खेलने वाले भुवनेश्वर ने बोला, ” आप जब युवा होते हैं, आप क्रिकेट से परे कुछ नहीं सोचते सकते। आप जैसे-जैसे बड़े होते जाते हैं, आपको सीखने को मिल जाता है कि क्रिकेट आपकी यात्रा का एक हिस्सा है।

 

Continue Reading

Trending