Connect with us

खेल

आज ही के दिन कपिल देव की कप्तानी में भारत बना था विश्व विजेता, जानिए कैसे वेस्टइंडीज को दी थी मात

Published

on

नई दिल्ली। 1983 में आज ही के दिन कपिल देव की कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम ने लॉर्ड्स के मैदान पर वेस्टइंडीज को हराकर पहली बार विश्व कप जीतकर इतिहास रच दिया था। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 183 रन का मामूली सा लक्ष्य वेस्टइंडीज के सामने रखा था, मगर वेस्टइंडीज की पूरी टीम 140 रन पर ऑल आउट हो गई, और भारत ने वह मैच 43 रन से जीत पहली बार विश्व कप ट्रॉफी पर कब्जा किया था।

वेस्टइंडीज की टीम सितारों से भरी हुई थी

पिछले दो विश्व कप (1975 और 1979) में चैंपियन बनी वेस्टइंडीज की टीम सितारों से भरी हुई थी, जिसमें जोएल गार्नर, गॉर्डन ग्रीनिज, विवियन रिचर्ड्स, क्लाइव लॉयड, मैल्कम मार्शल, डेसमंड हेन्स, सर एंडी रॉबर्ट्स और माइकल होल्डिंग जैसे नामी खिलाड़ी थे। इस टीम को हराना तो दूर उसके बारे में सोचना भी गलत था।

वेस्टइंडीज ने भारत को 183 रन पर आउट कर दिया

उनके सामने थी कपिल देव के नेतृत्व वाली एक युवा भारतीय टीम, जोकि इस टूर्नामेंट में एक अंडरडॉग टीम के रूप में खेल रही थी। जब वेस्टइंडीज ने भारत को 183 रन पर आउट कर दिया, तो ऐसा लग रहा था कि दुनिया वेस्टइंडीज को विश्व कप खिताब की हैट्रिक लगाते हुए देखेगा। मगर उस दिन भाग्य की योजनाएं थोड़ी सी अलग थीं।
तीसरी बार विश्व कप जीतने की उम्मीद के साथ मैदान पर बल्लेबाजी करने आई वेस्टइंडीज की टीम की शुरुआत खराब रही, और तेज गेंदबाज बलविंदर संधू ने ग्रीनिज को एक रन पर बोल्ड कर दिया। मगर अभी भी भारत के लिए राह बहुत कठिन थी। ग्रीनिज के बाद मदन लाल ने डेसमंड हेन्स और विवियन रिचर्ड्स को भी सस्ते में निपटाकर भारत के लिए उम्मीद जगा दी थी।

तीसरा देश बना भारत

इसके बाद वेस्टइंडीज ने छोटे – छोटे अंतराल में विकेट गवाने शुरू कर दिए थे और कप्तान क्लाइव लॉयड भी रोजर बिन्नी के हाथों आउट हो कर पविलियन लौट गए थे। लॉयड के आउट होने के बाद वेस्टइंडीज की टीम ज्यादा देर नहीं टिक सकी और 140 रन के स्कोर पर पूरी टीम ऑल आउट हो गई। इसके साथ ही भारत ने वह कर दिखाया जिसकी कभी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी।
भारत के विश्व चैंपियन बनते ही उसका नाम वेस्टइंडीज, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसी बड़ी टीमों के साथ लिया जाने लगा और इसके साथ ही कपिल देव की सेना ने भारत को क्रिकेट में एक नई पहचान भी दिलाई। हालांकि, 28 साल बाद 2011 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत श्रीलंका को हराकर एक बार फिर विश्व विजेता बना। इसके साथ ही भारत वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के बाद एक से ज्यादा बार विश्व कप जीतने वाला तीसरा देश बना।

खेल

फ्लूमिनेंसे को हराकर फ्लामेंगो ने जीता रियो डी जनेरियो फुटबॉल कप का खिताब

Published

on

रियो डी जनेरियो । फ्लामेंगो ने दूसरे चरण के मैच में फ्लूमिनेंसे को 1-0 से हरा रियो डी जनेरियो फुटबॉल कप का खिताब जीत लिया है। इस मैच का एकमात्र गोल अतिरिक्त समय (94वें मिनट) में वितिंहो ने किया।

फ्लूमिनेंसे को 3-1 के स्कोर को हराया

मारकाना स्टेडियम में खेले गए मैच के बाद फ्लामेंगो ने दोनों चरणों के मैच के कुल स्कोर को मिलाकर 3-1 से फ्लूमिनेंसे को हराकर खिताब अपने नाम किया।
18 महीनों में ब्राजीलियन फुटबाल पर दबदबा
फ्लामेंगो ने बीते 18 महीने में ब्राजीलियन फुटबाल पर अपना दबदबा दिखाते हुए रियो राज्य लीग खिताब, ब्राजीलियन सेरी-ए चैम्पियनशिप और कोपा लिर्बेटार्डोरेस का खिताब भी अपने नाम किया है।
जून में रियो स्टेट लीग की शुरुआत हुई थी और यह दक्षिण अमेरिका में कोविड-19 के कारण मार्च के मध्य से बंद पड़े खेल की शुरुआत थी। वहीं ब्राजीलियन सेरी-ए का अगला सीजन नौ अगस्त से शुरू होगा, जो अपने तय समय से तीन महीने पीछे है।
Continue Reading

खेल

जोफ्रा आर्चर नहीं खेल पाएंगे वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरा टेस्ट मैच

Published

on

मैनचेस्टर । इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर को वेस्टइंडीज के खिलाफ आज से शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट मैच से बाहर कर दिया गया है। आर्चर को टीम के बायो-सिक्योर प्रोटोकॉल को तोड़ने के कारण मैच से बाहर किया गया है और अब वह पांच दिन की अलग-अलग अवधि के दौरान दो कोविड ​​-19 टेस्ट से गुजरेंगे।
बायो-सिक्योर प्रोटोकॉल को तोड़ने के कारण बाहर हुए जोफ्रा आर्चर
ईसीबी ने एक बयान में कहा, ‘जोफ्रा आर्चर को टीम के बायो-सिक्योर प्रोटोकॉल को तोड़ने के कारण वेस्टइंडीज के खिलाफ आज (गुरुवार 16 जुलाई) से शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट मैच से बाहर कर दिए गए हैं।’
बयान में आगे कहा गया,”आर्चर अब पांच दिन आइसोलेशन में रहेंगे और इस अवधि में उन्हें दो कोविड 19 परीक्षणों से गुजरना होगा, आइसोलेशन अवधि समाप्त होने से पहले उनकी रिपोर्ट नकारात्मक आएगी तभी वो दोबारा टीम से जुड़ सकेंगे।”
अपनी गलती के लिए आर्चर ने मांगी माफी
वहीं, आर्चर ने अपनी गलती के लिए माफी मांगी है। उन्होंने कहा, ‘मैंने जो भी किया है, उसके लिए मैं बेहद दुखी हूं। मैंने खुद को ही नहीं, बल्कि पूरी टीम और प्रबंधन को खतरे में डाल दिया है। मैं पूरी तरह से अपने कार्यों के परिणामों को स्वीकार करता हूं और मैं जैव-सुरक्षित वातावरण में सभी से ईमानदारी से माफी मांगता हूं।’
Continue Reading

खेल

ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड क्रिकेट दौरे के लिए 26 खिलाड़ियों के प्रारंभिक दल का किया घोषणा

Published

on

मेलबर्न। इंग्लैंड, वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के नक्शे कदम पर चलते हुए अब, ऑस्ट्रेलिया भी इंग्लैंड दौरे के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करने के लिए एकदम तैयार है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने इंग्लैंड दौरे के लिए 26 खिलाड़ियों की एक प्रारंभिक टीम घोषित की है।
हालांकि इस दौरे के विवरण को अभी अंतिम रूप दिया जाना बाकी है। 26 खिलाड़ियों के इस दस्ते में उस्मान ख्वाजा, मार्कस स्टोइनिस, ग्लेन मैक्सवेल और ट्रैविस हेड की भी वापसी हुई है। ऑस्ट्रेलिया सितंबर में एकदिवसीय और टी 20 सीरीज के लिए इंग्लैंड का दौरा करेगी और यह कोरोनावायरस लॉकडाउन के बाद अंतरराष्ट्रीय मंच पर उनकी पहली सीरीज होगी।
बिग बैश लीग (बीबीएल) में शानदार प्रदर्शन करने वाले डैनियल सैम्स और जोश फिलिप को भी इस दस्ते में जगह दी गई है। वहीं, अनुभवी शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब और नाथन कूल्टर नाइल को ऑस्ट्रेलिया के प्रारंभिक दस्ते में जगह नहीं दी गई है।
 क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्रीय चयनकर्ता, ट्रेवर होन्स ने बताया कि 26 खिलाड़ियों का यह दस्ता सभी आकस्मिकताओं को ध्यान में रख कर चुना गया है, यह देखते हुए कि अगर खिलाड़ी चोटों और अन्य मुद्दों के कारण बीच दौरे में टीम में शामिल नहीं हो पाएंगे।
उन्होंने कहा, “प्रारंभिक सूची में कई रोमांचक युवा खिलाड़ी शामिल हैं, जिन्होंने हाल ही में राज्य स्तर पर और बीबीएल में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। ये उभरते हुए खिलाड़ी वे हैं जिन्हें हम आगे विकसित करना चाहेंगे क्योंकि हमारा मानना ​​है कि उनका ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट में उज्ज्वल भविष्य है।
प्रारंभिक सूची में आगामी टी 20 विश्व कप और 2023 विश्व कप की लंबी अवधि के लिए एक दृष्टिकोण है।”
ऑस्ट्रेलिया के प्रारंभिक दस्ते की सूची इस प्रकार है:
ग्लेन मैक्सवेल, बेन मैकडरमोट, रिले मेरेडिथ, माइकल नेसर, जोश फिलिप, डैनियल सैम्स, डी’आर्सी शॉर्ट, केन रिचर्डसन, स्टीव स्मिथ, मिशेल स्टार्क, मार्कस स्टोइनिस, एंड्रयू टाई, मैथ्यू वेड, डेविड वार्नर, एडम ज़म्पा, सीन एबॉट, एश्टन एगर, एलेक्स कैरी, पैट कमिंस, आरोन फिंच, जोश हेजलवुड, ट्रैविस हेड, उस्मान ख्वाजा, मारनस लाबुशने, नाथन लियोन और मिशेल मार्श।

 

Continue Reading

Trending