Connect with us

खेल

लॉकडाउन में खुश है मयंक अग्रवाल , मयंक की सलाह – खाना बनाओ और वर्कआउट करो

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए मोदी सरकार ने मंगलवार मध्यरात्रि से पूरे भारत में लॉकडाउन लागू करने का निर्देश दिया है। 22 मार्च (रविवार) को पीएम मोदी ने जनता कर्फ्यू घोषित किया था। वैसे लॉकडाउन के चलते लोग परेशान है और लोग घर से बाहर नहीं निकल रहे है।

लोग अपना टाइम घर में कैसे बिताया इसको लेकर सभी लोग चिंता में है। इस ही बीच भारतीय टीम के ओपनर मयंक अग्रवाल ने लॉकडाउन में टाइम बिताने का एक आसान तरीका बताया है। मयंक ने बोला कि, कोरोना की वजह से लगे हुए लॉकडाउन ने लोगों को अपने परिवार के साथ टाइम बिताने का अवसर दिया है। मयंक और भारतीय टीम को कोरोना वायरस के चलते उन सभी को आराम करने का अवसर मिला गया है।

मयंक ने मंगलवार को अपनी एक तस्वीर शेयर की और लिखा, “ इस समय यह जरूरी नहीं है कि आप अपने परिवार के साथ कितना समय बिताते हैं, बल्कि ये बात जरूरी है कि आप ये समय कैसे बिताते हैं। साथ मिलकर कुछ करिए। खाना बनाइए, किताब पढि़ए, वर्कआउट करिए।’ न्यूजीलैंड दौरे से मयंक अब ही हाल में वापस आए थे, न्यूजीलैंड दौरे में भारतीय टीम को हार मिली थी।

भारतीय टीम के उप कप्तान रोहित शर्मा ने लॉकडाउन में परिवार से साथ समय बिताने की राय दी है। उन्होंने बेटी समायरा के साथ क्रिकेट की प्रैक्टिस करते हुए एक वीडियो पोस्ट किया था। भारतीय टीम के ऑलराउंडर खिलाडी हार्दिक पांड्या ने अपने बड़े भाई क्रुणाल पांड्या का जन्मदिन बिना केक के मनाया और उसकी फोटो भी शेयर की।

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली भी अपनी पत्नी अनुष्का शर्मा के संग घर पर ही हैं। उन्होंने अपने आपको को सेल्फ आइसोलेशन में रखा है. और दूसरों को भी ऐसा करने की गुजारिश की है। और उन्होंने इसको लेकर एक वीडियो भी पोस्ट किया है। इस वीडियो में विराट और अनुष्का ने  लोगों को सेल्फ आइसोलेशन में रहने का महत्व बताते हुए नजर आए।

 

READ  एडिलेड टेस्ट : वॉर्नर ने जड़ा शतक, बनाए कई कीर्तिमान

खेल

रोहित शर्मा ने रिकी पोंटिंग का बताया पसंदीदा कोच, रवि शास्त्री का नाम नही लिया

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय टीम के लिमिटेड ओवर क्रिकेट के उप-कप्तान और आईपीएल में मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने अपने पसंदीदा कोच के नाम के बारे खुलासा किया है। रोहित ने ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग की जमकर तारीफ की है। रोहित ने रिकी पोंटिंग की कोचिंग और कप्तानी दोनों में ही खेल चुके हैं। केविन पीटरसन के साथ लाइव चैट के दौरान रोहित  ने पोंटिंग के लिए कहा कि वो एकदम मैजिक जैसे थे।

साल 2013 में रिकी पोंटिंग ने एकदम से ही मुंबई इंडियंस की कप्तानी छोड़ दी थी, सीजन के बीच में ही पोटिंग के कप्तानी पद छोड़ने के बाद रोहित शर्मा को टीम की कमान दे दी गई थी।

रोहित ने पीटरसन के साथ लाइव चैट के दौरान कहा, “ बहुत मुश्किल है किसी एक का चयन कर पाना, हर किसी में कुछ ना कुछ अच्छी बात होती है। रिकी पोंटिंग लेकिन मैजिक थे। जब वो कप्तान थे, तो जिस तरह से उन्होंने टीम को हैंडल किया था और कप्तानी मुझे दे दी थी, इसके लिए काफी हिम्मत होनी चाहिए।’

2013 में रिकी पोंटिंग ने अचानक ही मुंबई इंडियंस की कप्तानी छोड़ दी थी, सीजन के बीच में ही पोटिंग के कप्तानी पद छोड़ने के बाद रोहित शर्मा को टीम की कमान सौंपी गई थी। रोहित ने पीटरसन के साथ लाइव चैट के दौरान कहा, ‘बहुत मुश्किल है किसी एक का चयन कर पाना, हर किसी में कुछ ना कुछ खास बात रही है। रिकी पोंटिंग लेकिन मैजिक थे। जब वो कप्तान थे, तो जिस तरह से उन्होंने टीम को हैंडल किया था और कप्तानी मुझे दे दी थी, इसके लिए बहुत हिम्मत चाहिए होती है।’

READ  किक्रेट के इतिहास की दुर्लभ घटना, एक टीम के सभी बल्लेबाज शून्य पर हुए आउट, फिर भी बने 7 रन

उन्होंने कहा, “ उसके बाद भी वो जिस तरह से टीम से सपोर्ट स्टाफ मेंबर के रूप में जुड़े रहकर युवा क्रिकेटरों और मुझे प्रेरित करते रहे वो सच्चा में लाजवाब था। मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है। वो एकदम अलग तरह के इंसान हैं।’ सात साल में रोहित शर्मा की कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने चार बार आईपीएल खिताब जीते हैं। रोहित ने 188 आईपीएल मैचों में कुल 4898 रन बनाए हैं।

 

 

Continue Reading

खेल

पैट कमिंस टिम पेन की कप्तानी में खेलकर खुश, लेकिन कप्तान बनने पर ध्यान नही

Published

on

मेलबर्न। ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम की टेस्ट टीम में आने वाले टाइम में कुछ बदलाव देखने को मिल सकते हैं। पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ अब फिर से कप्तान बनने के लिए सक्षम है। मौजूदा टाइम में टिम पेन ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान हैं। पेन ने ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस को भविष्य के टेस्ट कप्तान का उम्मीदवार बताया है।

जिसको लेकर यह तेज गेंदबाज काफी खुश नज़र आ रहे है। पेन 35 साल के हैं और आने वाले कुछ टाइम में वे संन्यास का ऐलान कर सकते हैं, ऐसे में ऑस्ट्रेलियाई टीम के टेस्ट कप्तान को लेकर लगातार चर्चा हो रही हैं। पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ के कप्तानी करने पर लगाया गया प्रतिबंध अब खत्म हो चुका है। दक्षिण अफ्रीका में बॉल टेम्परिंग के मामले में स्मिथ पर प्लेयर के तौर पर एक साल का और कप्तानी नहीं करने के लिए दो साल का प्रतिबंध लगा था, जो पिछले महीने खत्म हो गया।

पेन ने कप्तानी के लिए स्मिथ, कमिंस, ट्रैविस हेड, एलेक्स कैरी और मार्नस लाबूशेन को दावेदार बताया था। पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क भी कमिंस के नाम की पैरवी कर चुके हैं। कमिंस ने कहा, “ यह सुनकर अच्छा लगा। मुझे पेन के साथ उप-कप्तानी करके अच्छा लग रहा है। वो जीनियस है।’ उन्होंने कहा, “ मैं पहले भी कह चुका हूं कि अभी कप्तानी की बात करना ठीक नहीं  होगा जब पेन और एरन फिंच अपना काम बखूबी कर रहे हैं। इस तरह की बातें अब करना बेमानी होगी।’

READ  एडिलेड टेस्ट : वॉर्नर ने जड़ा शतक, बनाए कई कीर्तिमान
Continue Reading

खेल

भारत के लिए ओलंपिक गोल्ड मैडल नहीं जीत लेती, हार नहीं मानूंगी – मैरी कॉम

Published

on

नई दिल्ली। भारत की शीर्ष महिला मुक्केबाज और छह बार की वर्ल्ड चैंपियन रही चैंपियन एमसी मैरी कॉम ने ओलंपिक में भारत के लिए कांस्य पदक जीता है। लंदन ओलंपिक में भारत के लिए मैरी कॉम ने कामयाबी मिली थी। एमसी मैरी कॉम ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला मुक्केबाज बनीं। अब मैरी ने कहा है कि वो भारत के लिए ओलंपिक गोल्ड जीतना चाहती हैं।

2

 

वर्ल्ड चैंपियन मुक्केबाज मैरी कॉम ने बुधवार को कहा कि ओलंपिक में देश के लिए पदक जीतना उनका सपना है। उन्होंने कहा कि, वह अपने इस सपने को पूरा करने के बाद ही दम लेंगी। जब तक वह अपने इस लक्ष्य को हासिल करने में कामयाब नहीं हो पाती है तब तक अपना बेस्ट देने के लिए मुक्केबाजी करती रहेंगी।

2012 में हुए लंदन ओलंपिक में पहली बार महिला मुक्केबाजी को शामिल किया गया था। मैरी कॉम ने 51 किग्रा वर्ग में भारत के लिए कांस्य पदक जीता था। इसके बाद साल 2016 में हुए रियो ओलंपिक के लिए वह क्वालीफाई नहीं कर पाई थी। दुनिया की सबसे जुझारू महिला मुक्केबाज मैरी ने 2020 (अब 2021 में होगा आयोजन) के लिए अपना पूरा जोर लगा रही है और ओलंपिक टिकट भी हासिल किया।

जॉर्डन में पिछले महीने हुए एशिया ओसिनिया बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालीफायर में मैरी ने अच्छे खेल के दम पर टोक्यो ओलंपिक का टिकट हासिल किया था। हालांकि, कोरोना वायरस के खतरे की वजह से इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक को एक साल के लिए टाल कर दिया गया।

उन्होंने आगे कहा, “ विश्व चैंपियनशिप या फिर ओलंपिक इसमें जगह बनाने के लिए मेरे पास कोई सीक्रेट फार्मुला नहीं है। मैं हमेशा कड़ी मेहनत और लगातार संघर्ष करती रहूंगी। मैं हार तब तक नहीं मानने वाली जब तक मैं ओलंपिक में गोल्ड मेडल नहीं जीत लूंगी।”

READ  तीन महीने तक नहीं कटेगी EMI, आरबीआई का बड़ा ऐलान

मैरी कॉम ने भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के लिए फेसबुक लाइव पर अपना दिल की बात बताई। उन्होंने कहा, ” मेरा ध्यान ओलंपिक में भारत के लिए गोल्ड मेडल जीतना है। इतनी उम्र होने के बाद भी मैं अब तक कड़ी मेहनत कर रही हूं। सबसे पहले तो मेरे लिए ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना काफी कठिन था, जिसे अब अगले साल तक के लिए टालने का निर्णय लिया गया है।”

Continue Reading

Trending