Tuesday, May 24, 2022
spot_img
Homeदेशरिसर्च : देश के इन 8 शहरों में वायु प्रदूषण से साँस...

रिसर्च : देश के इन 8 शहरों में वायु प्रदूषण से साँस लेना दूभर, एक लाख लोगों की असमय मौत

नई दिल्ली। देश के कई शहरों में वायु प्रदूषण बहुत तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में लोगों का साँस लेना दूभर हो गया है। कई बीमारियों से जूझ रहे लोगों के लिए वायु प्रदूषण वाली शहरों में रह पाना बहुत मुश्किल होता है। इससे उनकी जिंदगी ज्यादा खतरे में पड़ जाती है। वायु प्रदूषण से लाखों लोगों की जान चली जाती है। एक अंतरराष्ट्रीय अध्ययन में पाया गया है कि 2005 से 2018 के बीच भारत के 8 शहरों में वायु प्रदूषण के कारण एक लाख लोगों की मौत हुई। चौंकाने वाला खुलासा नासा और यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के उपग्रहों के डेटा के विश्लेषण के बाद हुआ। ये 8 शहर मुंबई, बैंगलोर, कोलकाता, हैदराबाद, चेन्नई, सूरत, पुणे और अहमदाबाद है।

ब्रिटेन में बर्मिंघम विश्वविद्यालय और यूसीएल के शोधकर्ताओं के नेतृत्व में किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि तेजी से बढ़ते प्रदूषण के कारण 14 वर्षों में लगभग 180,000 समय से पहले मौतें हुई हैं। वैज्ञानिकों की टीम ने 2005 से 2018 के बीच नासा और यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (ईएसए) के उपग्रहों के डेटा का विश्लेषण करने के बाद यह दावा किया।

इन शहरों में किया गया था अध्ययन

दक्षिण एशिया: अहमदाबाद, बैंगलोर, चेन्नई, चटगांव, ढाका, हैदराबाद, कराची, कोलकाता, मुंबई, पुणे और सूरत।

दक्षिण पूर्व एशिया: बैंकॉक, हनोई, हो ची मिन्ह सिटी, जकार्ता, मनीला, नोम पेन्ह और यांगून

मध्य पूर्व: रियाद और सना

अफ्रीका: आबिदजान, अबुजा, अदीस अबाबा, एंटानानारिवो, बमाको, ब्लैंटायर, कोनाक्री, डकार, दार एस सलाम, इबादान, कडुना, कंपाला, कानो, खार्तूम, किगाली, किंशासा, लागोस, लिलोंग्वे, लुंबासा, लुंबासा, नैरोबी, नियामौ और औगाडौय

आने वाले दिनों में बढ़ सकता है खतरा

रिपोर्ट के अनुसार दक्षिण एशिया में वायु प्रदूषण के कारण समय से पहले होने वाली मौतों में वृद्धि हुई है। अकेले बांग्लादेश की राजधानी ढाका में इस दौरान 24,000 लोगों की मौत हुई है, जबकि भारत के उपरोक्त 8 शहरों में 1 लाख अतिरिक्त मौतें हुई हैं। रिपोर्ट में यह भी चेतावनी दी गई है कि आने वाले दशकों में वायु प्रदूषण के विनाशकारी प्रभाव देखने को मिलेंगे।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments