Wednesday, June 29, 2022
spot_img
Homeदेशराष्ट्रपति चुनाव : दिल्ली पहुंची राजग उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू, पीएम मोदी से...

राष्ट्रपति चुनाव : दिल्ली पहुंची राजग उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू, पीएम मोदी से की मुलाकात, कल करेंगी नामांकन

  • राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का भाजपा नेताओं ने किया स्वागत
  • जगन्नाथ सरका और तुकुनी साहू ने मुर्मू के नामांकन पत्र पर किए हस्ताक्षर

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू गुरूवार को राष्ट्रीय राजधानी पहुंच गईं। यहाँ उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात की। वह शुक्रवार, 24 जून को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगी। उनके नामांकन की तैयारियां शुरू हो गई हैं। राष्ट्रपति पद के लिए उनका सीधा मुकाबला विपक्ष के यशवंत सिन्हा से होगा।

मुर्मू का यहां इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुन मुंडा, अर्जुन राम मेघवाल, डॉ. वीरेंद्र कुमार और भाजपा नेता मनोज तिवारी, रामबीर सिंह बिधूड़ी, रमेश बिधूड़ी, भाजपा दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता समेत तमाम नेताओं ने स्वागत किया। राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार घोषित होने के बाद मुर्मू पहली बार राष्ट्रीय राजधानी पहुंची हैं।

मुर्मू शुक्रवार को अपना नामांकन दाखिल करेंगी। बीजू जनता दल (बीजद) प्रमुख और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के निर्देश पर राज्य सरकार के दो कैबिनेट मंत्री प्रस्तावक बने। कैबिनेट मंत्री जगन्नाथ सरका और टुकुनी साहू ने आज यहां मुर्मू के नामांकन पत्र पर बतौर प्रस्तावक हस्ताक्षर किये।

इससे पहले आज सुबह भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से बात की थी। तत्पश्चात, पटनायक ने ट्वीट करके कहा कि मुर्मू के नामांकन में राज्य के दो मंत्री जगन्नाथ सारका व टुकुनी साहू प्रस्तावक रहेंगे। जिसके बाद ओडिशा के दोनों मंत्रियों ने आज दिल्ली में नामांकन पत्र पर हस्ताक्षर किये। दोनों मंत्री शुक्रवार को मूर्मू के नामांकन के दौरान भी उपस्थित रहेंगे।

हालांकि, पटनायक इस समय इटली के दौरे पर हैं लेकिन उन्होंने इससे पहले भी राज्य के सभी विधायकों से पार्टी लाइन से ऊपर उठकर राष्ट्रपति चुनाव में राजग उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करने की अपील की थी।

राष्ट्रपति चुनाव में जीत के बाद मुर्मू पहली ऐसी आदिवासी महिला होगी जो देश के सर्वोच्च पद पर आसान होंगी। वह इससे पहले झारखंड की राज्यपाल रह चुकी हैं। वह ओडिशा विधानसभा की सदस्य व मंत्री भी रही हैं।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments