मोबाइल की लत छोड़ने के ल‍िए मां ने बेटी को डांटा, आग लगाकर दे दी जान

आजकल ज्यादातर लोगों को मोबाइल ने बहुत व्यस्त बना दिया है। मोबाइल जितना ही आपकी सुविधा के लिए अच्छा है उतना ही इसका ज्यादा इस्तेमाल आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है। ऐसे में एक मामला सामने आये जिसे जानकर आप हैरान हो जाएंगे। मोबाइल के लिए दसवीं की छात्रा ने आत्महत्या कर ली। 
 
मोबाइल की लत छोड़ने के ल‍िए मां ने बेटी को डांटा, आग लगाकर दे दी जान

नई दिल्ली। आजकल ज्यादातर लोगों को मोबाइल ने बहुत व्यस्त बना दिया है। मोबाइल जितना ही आपकी सुविधा के लिए अच्छा है उतना ही इसका ज्यादा इस्तेमाल आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है। ऐसे में एक मामला सामने आये जिसे जानकर आप हैरान हो जाएंगे। मोबाइल के लिए दसवीं की छात्रा ने आत्महत्या कर ली। 

घटना हुगली जिले के पांडुआ के श्रीपाला ग्राम की है। दसवीं की छात्रा को मां ने डांटा तो गुस्से में छात्रा ने आग लगाकर खुदकुशी कर ली. मृतक छात्रा का नाम रूबीना खातून 15 है जो कि कोलकाता के इकबालपुर इलाके की स्कूल की छात्रा थी. वह इकबालपुर इलाके में स्थित अपने मौसी के घर रह कर पढ़ाई किया करती थी. महामारी कोरोना काल में स्कूलों और शैक्षणिक संस्थानों के बंद होने के कारण वह दोबारा अपने मां के घर हुगली के पांडुआ आ गई.

कोरोना के प्रकोप के कारण लगभग डेढ़ साल से सारे स्कूलों के बंद हो जाने के कारण छात्रा मोबाइल फोन पर ही ऑनलाइन क्लास किया करती थी लेकिन मोबाइल फोन को इस कदर उसने अपनी जिंदगी का हिस्सा बना लिया कि वह मोबाइल पर वीडियो गेम देखने के अलावा दिन के ज्यादातर समय अपने दोस्तों से ऑनलाइन चैटिंग में गुजारती थी. जब उसकी मां सबीना खातून को इस बात का पता चला तो उसने अपनी बेटी को मोबाइल की लत को छोड़ने के लिए आगाह किया और इसके साथ-साथ बेटी को काफी फटकार भी लगाई. इसी फटकार के कारण बेटी ने पहले अपने आप को घर के कमरे को बंद किया जिसके बाद अपने ऊपर केरोस‍िन तेल उड़ेल कर आग लगा ली.

घटना रात में हुई थी और छात्रा के घर के कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था. घर के सारे सदस्य गहरी नींद में सो रहे थे. जब सुबह काफी देर होने के बाद छात्रा नींद से नहीं उठी तो उसकी मां ने दरवाजा खटखटाया तो अंदर से कोई जवाब नहीं मिला जिसके बाद मां ने खिड़की से देखा कि उसकी बेटी संगीन हालात में घर के कमरे के फर्श पर पड़ी है. इसके बाद रोना- चीखना और जोर-जोर से चिल्लाना शुरू कर दिया. तत्काल घटनास्थल पर परिवार के अन्य सदस्य और आस-पड़ोस के लोग इकट्ठा हुए. इस घटना की खबर पुलिस को दी गई.

इस बारे में हुगली ग्रामीण की एडिशनल एसपी हेडक्वार्टर ऐश्वर्या सागर ने बताया कि घटना की खबर मिलते ही पुलिस तत्काल घटनास्थल पर पहुंची और मृतक छात्रा के शव को बरामद करके उसे पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल भेज दिया. उन्होंने बताया कि पुलिस के प्रारंभिक जांच में उसके मौत का कारण मोबाइल फोन के लत में मशगूल होने के कारण पारिवारिक विवाद था. घटनास्थल से पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसमें छात्रा ने अपने मां द्वारा मोबाइल फोन की लत को छोड़ने के लिए बार-बार फटकार लगाने की बात कही है लेकिन पुलिस पोस्टमॉर्टम के रिपोर्ट का इंतजार कर रही है. पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट आने के बाद पुलिस इस घटना के बारे में सटीक रूप से कुछ कह पाएगी.