Thursday, August 18, 2022
spot_img
HomeदेशMaharashtra Political Crisis: शिवसेना के 15 बागी विधायकों को Y प्लस सुरक्षा,शिवसैनिकों...

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना के 15 बागी विधायकों को Y प्लस सुरक्षा,शिवसैनिकों के हमलों के बाद केंद्र सरकार ने उठाया कदम

नई दिल्ली/ मुंबई। Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में चल रहे सियासी संकट के बीच शिवसेना के बागी एकनाथ शिंदे के साथ गए 15 बागी विधायकों को केंद्र सरकार ने Y प्लस सुरक्षा दी है। अब इन्हें CRPF की सिक्योरिटी मुहैया कराई गई है। इन विधायकों के घरों पर भी CRPF तैनात कर दी गई है। विधायकों के घरों और दफ्तरों पर शिवसैनिकों के हमलों के बाद यह फैसला लिया गया है।

इधर, अयोग्यता का नोटिस पा चुके 16 बागी विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला किया है। बागी विधायक कोर्ट में शिवसेना विधायक दल के नए नेता के फैसले को भी चुनौती देंगे।

संजय राउत ने बागियों को बताया भगौड़ा

शिवसेना प्रवक्ता तथा राज्यसभा सदस्य संजय राऊत ने रविवार को पहली बार बागी विधायकों के लिए कठोर भाषा का प्रयोग किया। उन्होंने बगावत करने वाले विधायकों को भगोड़ा, बेईमान और गद्दार ठहराते हुए इस्तीफा देकर चुनाव लड़ने की चुनौती दी। उल्लेखनीय है कि बागी विधायक इन दिनों एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में गुवाहाटी के होटल रेडिशन में रुके हुए है।

पुणे और मुंबई में शिवसैनिकों का प्रदर्शन

संजय राऊत ने संवाददाता सम्मेलन में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे की बगावत का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्होंने भी शिवसेना से बगावत करने के बाद इस्तीफा दिया था। राऊत ने कहा कि असम में बाढ़ में लाशें तैर रही हैं और यह सभी होटल में मौजमस्ती कर रहे हैं। इनके विरुद्ध पुणे और मुंबई में शिवसैनिकों का प्रदर्शन जारी है।

शिवसेना का एक ही बाप बालासाहेब

उधर संजय राऊत ने कहा कि शिवसेना का एक ही बाप है और वह बालासाहेब ठाकरे। बागी विधायकों के कई बाप हो गए हैं। इसलिए इन सबको बालासाहेब ठाकरे के नाम पर वोट की भीख नहीं मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कुछ बागी विधायकों को जबरन गुवाहाटी के होटल में रखा गया है। इस होटल में कुल 340 रूम हैं और इन विधायकों को 40 रूम में रखा गया है।

बागियों को किसी भी कीमत पर माफी नहीं

राऊत ने कहा कि उन्होंने खुद असम के मुख्यमंत्री तथा पर्यटन मंत्री को फोन कर इसी होटल में 20 रूम सांस्कृतिक प्रोग्राम के लिए मांगे थे, लेकिन रूम नहीं मिला। उन्होंने कहा कि गुवाहाटी के होटल में बागी विधायकों को गांजा और अफीम का सेवन कराया जा रहा है। इसी वजह से यह सभी विधायक अब हिंदुत्व और बालासाहेब ठाकरे संबंधी बात करने लगे हैं। यह सब उन्हें ढाई साल तक याद नहीं आया। इनमें से कई मलाईदार विभाग लिए थे और मलाई खा रहे थे। इन विधायकों ने बालासाहेब ठाकरे की पीठ में खंजर घोंपा है। इनको किसी भी कीमत पर माफी नहीं दी जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments