Connect with us

लाइफ स्टाइल

नवरात्रि पर विशेष : तीन तरह के होते हैं व्रत, जानिए उपवास के प्रकार व व्रतों का वार्षिक चक्र और विधि

Published

on

राधेश्याम मिश्र

श्रावस्ती । व्रत रखना हमारी वैदिक परम्परा में रही है |दुनिया के जितने भी पंथ है सबने व्रत रखना सनातन धर्म से सिखा है यह बात अलग के कि लोगों ने कुछ रद्दो बदल जरूर किया है किन्तु अंतिम कड़ी सनातन धर्मावलंबियों से ही जुड़ी है | बता दे कि आजकल दुर्गा नवमी में हर हिन्दू परिवार सनातनी में व्रत रखने का चलन है| हर हिन्दू परिवार में कोई एक सदस्य जरूर व्रत है तो यह बता दे कि व्रत रखने के नियम दुनिया को हिंदू धर्म की देन है। व्रत रखना एक पवित्र कर्म है और यदि इसे नियम पूर्वक नहीं किया जाता है तो न तो इसका कोई महत्व है और न ही लाभ! बल्कि इससे नुकसान भी हो सकते हैं। आप व्रत बिल्कुल भी नहीं रखते हैं तो भी आपको इस कर्म का भुगतान करना ही होगा।

बताए तो गए अनेक, लेकिन मूलत: होते हैं तीन प्रकार के व्रत

राजा भोज के राजमार्तण्ड में 24 व्रतों का उल्लेख है। हेमादि में 700 व्रतों के नाम बताए गए हैं। गोपीनाथ कविराज ने 1622 व्रतों का उल्लेख अपने व्रतकोश में किया है। हालांकि व्रतों के प्रकार तो मूलत: तीन ही है:- 1. नित्य, 2. नैमित्तिक और 3. काम्य।

1.नित्य व्रत उसे कहते हैं जिसमें ईश्वर भक्ति या आचरणों पर बल दिया जाता है, जैसे सत्य बोलना, पवित्र रहना, इंद्रियों का निग्रह करना, क्रोध न करना, अश्लील भाषण न करना और परनिंदा न करना, प्रतिदिन ईश्वर भक्ति का संकल्प लेना आदि नित्य व्रत हैं। इनका पालन नहीं करते से मानव दोषी माना जाता है।
2.नैमिक्तिक व्रत उसे कहते हैं जिसमें किसी प्रकार के पाप हो जाने या दुखों से छुटकारा पाने का विधान होता है। अन्य किसी प्रकार के निमित्त के उपस्थित होने पर चांद्रायण प्रभृति, तिथि विशेष में जो ऐसे व्रत किए जाते हैं वे नैमिक्तिक व्रत हैं।
3.काम्य व्रत किसी कामना की पूर्ति के लिए किए जाते हैं, जैसे पुत्र प्राप्ति के लिए, धन- समृद्धि के लिए या अन्य सुखों की प्राप्ति के लिए किए जाने वाले व्रत काम्य व्रत हैं।

व्रतों का वार्षिक चक्र

  1. साप्ताहिक व्रत : सप्ताह में एक दिन व्रत रखना चाहिए। यह सबसे उत्तम है।
  2. पाक्षिक व्रत : 15-15 दिन के दो पक्ष होते हैं कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष। प्रत्येक पक्ष में चतुर्थी, एकादशी, त्रयोदशी, अमावस्या और पूर्णिमा के व्रत महतवपूर्ण होते हैं। उक्त में से किसी भी एक व्रत को करना चाहिए।
  3. त्रैमासिक : वैसे त्रैमासिक व्रतों में प्रमुख है नवरात्रि के व्रत। हिंदू माह अनुसार पौष, चैत्र, आषाढ और अश्विन मान में नवरात्रि आती है। उक्त प्रत्येक माह की प्रतिपदा यानी एकम् से नवमी तक का समय नवरात्रि का होता है। इन नौ दिनों तक व्रत और उपवास रखने से सभी तरह के क्लेश समाप्त हो जाते हैं।
  4. छह मासिक व्रत : चैत्र माह की नवरात्रि को बड़ी नवरात्रि और अश्विन माह की नवरात्रि को छोटी नवरात्रि कहते हैं। उक्त दोंनों के बीच छह माह का अंतर होता है। इसके अलावा
  5. वार्षिक व्रत : वार्षिक व्रतों में पूरे श्रावण मास में व्रत रखने का विधान है। इसके अलवा जो लोग चतुर्मास करते हैं उन्हें जिंदगी में किसी भी प्रकार का रोग और शोक नहीं होता है। इससे यह सिद्ध हुआ की व्रतों में ‘श्रावण माह’ महत्वपूर्ण होता है। सोमवार नहीं पूरे श्रावण माह में व्रत रखने से हर तरह के शारीरिक और मानसिक कलेश मिट जाते हैं।

उपवास के प्रकार

1.प्रात: उपवास, 2.अद्धोपवास, 3.एकाहारोपवास, 4.रसोपवास, 5.फलोपवास, 6.दुग्धोपवास, 7.तक्रोपवास, 8.पूर्णोपवास, 9.साप्ताहिक उपवास, 10.लघु उपवास, 11.कठोर उपवास, 12.टूटे उपवास, 13.दीर्घ उपवास। बताए गए हैं, लेकिन हम यहां वर्ष में जो व्रत होते हैं उसके बारे में बता रहे हैं।

1.प्रात: उपवास- इस उपवास में सिर्फ सुबह का नाश्ता नहीं करना होता है और पूरे दिन और रात में सिर्फ 2 बार ही भोजन करना होता है।
2.अद्धोपवास- इस उपवास को शाम का उपवास भी कहा जाता है और इस उपवास में सिर्फ पूरे दिन में एक ही बार भोजन करना होता है। इस उपवास के दौरान रात का भोजन नहीं खाया जाता।
3.एकाहारोपवास- एकाहारोपवास में एक समय के भोजन में सिर्फ एक ही चीज खाई जाती है, जैसे सुबह के समय अगर रोटी खाई जाए तो शाम को सिर्फ सब्जी खाई जाती है। दूसरे दिन सुबह को एक तरह का कोई फल और शाम को सिर्फ दूध आदि।
4.रसोपवास- इस उपवास में अन्न तथा फल जैसे ज्यादा भारी पदार्थ नहीं खाए जाते, सिर्फ रसदार फलों के रस अथवा साग-सब्जियों के जूस पर ही रहा जाता है। दूध पीना भी मना होता है, क्योंकि दूध की गणना भी ठोस पदार्थों में की जा सकती है।
5.फलोपवास- कुछ दिनों तक सिर्फ रसदार फलों या भाजी आदि पर रहना फलोपवास कहलाता है। अगर फल बिलकुल ही अनुकूल न पड़ते हो तो सिर्फ पकी हुई साग-सब्जियां खानी चाहिए।
6.दुग्धोपवास- दुग्धोपवास को ‘दुग्ध कल्प’ के नाम से भी जाना जाता है। इस उपवास में सिर्फ कुछ दिनों तक दिन में 4-5 बार सिर्फ दूध ही पीना होता है।
7.तक्रोपवास- तक्रोपवास को ‘मठाकल्प’ भी कहा जाता है। इस उपवास में जो मठा लिया जाए, उसमें घी कम होना चाहिए और वो खट्टा भी कम ही होना चाहिए। इस उपवास को कम से कम 2 महीने तक आराम से किया जा सकता है।
8.पूर्णोपवास- बिलकुल साफ-सुथरे ताजे पानी के अलावा किसी और चीज को बिलकुल न खाना पूर्णोपवास कहलाता है। इस उपवास में उपवास से संबंधित बहुत सारे नियमों का पालन करना होता है।
9.साप्ताहिक उपवास- पूरे सप्ताह में सिर्फ एक पूर्णोपवास नियम से करना साप्ताहिक उपवास कहलाता है।
10.लघु उपवास- 3 से लेकर 7 दिनों तक के पूर्णोपवास को लघु उपवास कहते हैं।
11.कठोर उपवास- जिन लोगों को बहुत भयानक रोग होते हैं यह उपवास उनके लिए बहुत लाभकारी होता है। इस उपवास में पूर्णोपवास के सारे नियमों को सख्ती से निभाना पड़ता है।
12.टूटे उपवास- इस उपवास में 2 से 7 दिनों तक पूर्णोपवास करने के बाद कुछ दिनों तक हल्के प्राकृतिक भोजन पर रहकर दोबारा उतने ही दिनों का उपवास करना होता है। उपवास रखने का और हल्का भोजन करने का यह क्रम तब तक चलता रहता है, जब तक कि इस उपवास को करने का मकसद पूरा न हो जाए।
13.दीर्घ उपवास- दीर्घ उपवास में पूर्णोपवास बहुत दिनों तक करना होता है जिसके लिए कोई निश्चित समय पहले से ही निर्धारित नहीं होता। इसमें 21 से लेकर 50-60 दिन भी लग सकते हैं। अक्सर यह उपवास तभी तोड़ा जाता है, जब स्वाभाविक भूख लगने लगती है अथवा शरीर के सारे जहरीले पदार्थ पचने के बाद जब शरीर के जरूरी अवयवों के पचने की नौबत आ जाने की संभावना हो जाती है। https://www.kanvkanv.com

लाइफ स्टाइल

राशिफल : आज कैसा रहेगा आपका दिन, जीवन में हो हैं कौन-कौन से परिवर्तन, जानें अपना भविष्यफल

Published

on

युगाब्ध-5119, विक्रम संवत 2075, राष्ट्रीय शक संवत-1940, सूर्योदय 06.40, सूर्यास्त 05.20, ऋतु – शीत

अगहन शुक्ल पक्ष षष्ठी, गुरुवार, 13 दिसम्बर – 2018 का दिन आपके लिए कैसा रहेगा। आज आपके जीवन में क्या-क्या परिवर्तन हो सकता है, आज आपके सितारे क्या कहते हैं, यह जानने के लिए पढ़ें आज का राशिफल।

मेष राशि :-

आपके लिए आज का दिन बहुत अच्छा रहेगा। आज आपका मन मित्रों व स्नेहीजनों के साथ खान-पान, सैर-सपाटे एवं प्रेम सम्बंधों की वजह से प्रफुल्लित रहेगा। यात्रा-पर्यटन के योग हैं। आज मनोरंजन साधनों एवं वस्त्रालंकारों की खरीदी का योग है। तन व मन की तंदुरस्ती अच्छी है। मान-सम्मान मिल सकता है।

वृषभ राशि :-

आज का दिन आपके लिए बहुत शुभ है। आपका पारिवारिक वातावरण आनंद व उल्लास से लबालब भरा रहेगा। तन में चेतना एवं स्फूर्ति का संचार होगा। प्रतिस्पर्धी एवं दोस्त के वेश में छिपे शत्रु अपने प्रयासों में असफल रहेंगे। दफ्तर में सहकर्मियों का सहयोग मिलेगा। स्त्री मित्रों के साथ मेल-मिलाप व प्रणय प्रसंग से आनंद में वृद्धि होगी। आर्थिक लाभ के संकेत मिलेंगे एवं अधूरे कार्य पूर्ण होंगे। बीमारियों से पीड़ितों को राहत मिलेगी।

मिथुन राशि :-

आपके लिए आज का मिला-जुला रहेगा। यदि आपको आज कार्यसिद्धि व सफलता न मिले, तो हताश होने से बचना होगा और क्रोध पर संयम रखना पड़ेगा। संतति से सम्बंधित विविध प्रश्नों के विषय में मन चिंताग्रस्त रहेगा। आज कोई यात्रा प्रवास करने से आपको बचना होगा। साथ ही स्वास्थ्य के प्रति सतर्क बरतें।

कर्क राशि :-

आपके लिए आज का दिन ठीक नहीं रहेगा। आज आप शारीरिक एवं मानसिक रूप से भरपूर प्रतिकूलता का अनुभव करेंगे। घर में परिवारजनों के साथ अनिच्छनीय प्रसंग घटने की वजह से मन में अशांति होगी। समयानुसार भोजन न मिलने की संभावना है एवं शांतिपूर्ण निद्रा का अभाव रहेगा। जल एवं स्त्रियों से संभलिएगा, क्योंकि धन की हानि एवं अपयश का योग है।

सिंह राशि :-

आज का दिन आपके लिए अच्छा रहेगा। आपके ऊपर से आज चिंताओं के बादल हटने से आप मानसिक हल्कापन महसूस करेंगे। मन में उत्साह का संचार होगा, जिस वजह से दिनभर का समय आनंदपूर्वक बीतेगा। भाई-बंधुओं एवं स्नेहीजनों से मेलजोल बढ़ेगा। आज कोई महत्त्वपूर्ण योजना भी बना सकते हैं। कोई छोटे प्रवास का आयोजन भी हो सकता है।

कन्या राशि :-

आपके लिए आज का दिन मिला-जुला रहेगा। आज आपको अपनी जिह्वा पर संयम न रखना होगा, क्योंकि लड़ाई-झगड़े की संभावना बन रही है। खर्च पर भी संयम रखना अति आवश्यक है। धन सम्बंधित लेन-देन में भी अत्यंत सावधानी की आवश्यकता है। शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य में गिरावट आ सकता है। परिवारजनों से मनमुटाव के प्रसंग बन सकते हैं। खान-पान में भी संयम बरतें।

तुला राशि :-

आज का दिन आपके लिए बहुत शुभ है। आपका आज का दिन आनंद व उल्लास से भरा हुआ होगा व शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य भी अच्छा होगा। आज किए गए हर कार्य में सफलता मिलेगी। घर का वातावरण प्रफुल्लित रहेगा। मायके से भी लाभ हो सकता है व अच्छे समाचार मिल सकते हैं। आर्थिक लाभ की संभावनाएं हैं। मित्रों और स्नेहीजनों के साथ आनंददायी प्रवास का योग है। उनसे मिली भेट व सौगात पाकर आप आनंदित होंगे।

वृश्चिक राशि :-

आपके लिए आज का दिन कष्टपूर्ण रहने के आसार हैं। अनेक चिंताएं सताएंगी व शारीरिक स्वास्थ्य भी ठीक नहीं रहेगा। स्वजनों और स्नेहीजनों के साथ मतभेद खड़े होंगे, परिणामस्वरूप घर में विरोध का वातावरण उपस्थित होगा। आज के कार्य अधूरे रह सकते हैं। किसी कारणवश व्यय भी अधिक होगा। आज के किए गए परिश्रम के असंतोषकारक परिणाम होंगे, जिनसे मन में ग्लानि होगी। अविचारी निर्णय से गलतफहमियां खड़ी न हों, इसका ध्यान रखिएगा।

धनु राशि :-

आज का दिन आपके लिए बहुत अच्छा रहेगा। आज अनेक रूप से लाभ होने के कारण आपके हर्षोल्लास में दुगुनी वृद्धि होगी। पत्नी एवं पुत्र की तरफ से लाभदायी समाचार मिलेंगे। मित्रों से हुई मुलाकात से आनंद मिलेगा। विवाहोत्सुकों को योग्य जीवनसाथी मिल सकता है। समयानुसार उत्तम भोजन सुख है।

मकर राशि :-

आपके लिए आज का दिन आर्थिक दृष्टि से बहुत शुभ है। आज आपकों व्यवसाय में लाभ होंने के संयोग हैं। आप पर उच्च अधिकारीगण की कृपादृष्टि होगी और आपके वर्चस्व में वृद्धि होगी। पदोन्नति की पूरी संभावना है। परिवार में आवश्यक विषयों पर चर्चा होगी। माता का आरोग्य अच्छा रहेगा। धन संपत्ति-मान सम्मान के अधिकारी बनेंगे। घर की साज-सज्जा में फेरबदल करेंगे। दिन के कार्यभार से कुछ थकान का अनुभव होगा, परंतु स्वास्थ्य अच्छा रहेगा एवं गृहस्थ जीवन आनंदपूर्ण बीतेगा।

कुंभ राशि :-

आज का दिन आपके लिए अच्छा रहेगा। आज आप धार्मिक प्रवृत्तियों में व्यस्त रहेंगे एवं स्नेहीजनों के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का सुनहरा अवसर है। कर्मनिष्ठ होकर हाथ पर रखे काम को पूर्ण करने का प्रयास करेंगे। आपका व्यवहार आज न्यायानुकूल रहेगा। क्रोध पर संयम रखिएगा। व्यवसाय में बाधा उपस्थित होने की संभावना है व उच्चपदाधिकारियों की अप्रसन्नता के कारण दुखी होने की संभावना भी है। आरोग्य मध्यम रहेगा।

मीन राशि :-

आज का दिन आपके लिए अच्छा रहेगा। आपको आज अपनी वाणी पर संयम रखें। आज किसी नए कार्य का प्रारंभ न करें और क्रोध एवं आवेश में वृद्धि न आए इसका ध्यान रखें। परिवार एवं स्नेहियों के साथ उग्र विवाद के कारण दुख हो सकता है। संभवत: प्रवास न करें। हितशत्रुओं के प्रति सावधान रहें। हालांकि, मित्रों से भरपूर सहयोग मिलेगा। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

लाइफ स्टाइल

घर में ऐसे बनाएंगे पनीर कोरमा तो खाने में होगा बेहद स्वादिष्ट, जानें पूरी रेसिपी

Published

on

घर में कुछ स्पेशल बनाने का मन करे तो सबसे पहले जहन में पनीर का नाम आ जाता है। पनीर सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। आज हम आपको पनीर कोरमा बनाने की विधि बनाने जा रहे हैं। यह खाने में बेहद स्वादिष्ट होता है। तो आइए जानते हैं घर में कैसे बनाएं पनीर कोरमा?

पनीर कोरमा बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

  1. 300 ग्रम पनीर
  2. 1 कप पानी
  3. 1 प्याज
  4. 1 टमाटर
  5. 4 तेज पत्ता
  6. 5 काजू
  7. 1 टी स्पून अदरक लहसुन पेस्ट
  8. 1 टी स्पून गरम मसाला
  9. 1/2 टी स्पून हल्दी
  10. 1/2 टी स्पून लाल मिर्च
  11. 1/2 टी स्पून हरी मिर्च पेस्ट
  12. 2 टी स्पून खसखस
  13. 2 टी स्पून नारियल
  14. 2 टी स्पून धनिया पत्ता
  15. 2 टी स्पून तेल
  16. नमक स्वादानुसार

पनीर कोरमा बनाने की विधि

पनीर कोरमा बनाने के लिए सबसे पहले प्याज और टमाटर को बारीक काट लें। अब खसखस, काजू और नारियल को मिक्सी में पीस लें। साथ ही थोड़ा पानी डालकर एक पेस्ट तैयार कर लें। अब एक कढ़ाई में तेल डालकर गरम करें। गरम तेल में तेज पत्ता और इलायची डालकर भूनें। अब इसमें कटा हुआ प्याज डालें और धीमी आंच पर उसे भूनें। प्याज का रंग हल्का ब्राउन होने लगेगा।

इस मिश्रण में हरी मिर्च का पेस्ट, अदरक लहुसन का पेस्ट डालें और इसी मिश्रण के साथ भूनें। इतना करने के बाद इसमें कटा हुआ टमाटर डालें साथ ही नमक, लाल मिर्च और हल्दी डालकर मिश्रण को भूनें। 2 मिनट तक मिश्रण को पकने के लिए छोड़ दें। अब इसमें पिसा हुआ खसखस का पेस्ट और पानी डालकर पकने के लिए छोड़ दें। 5 मिनट तक सब्जी को पकने दें।

इस मिश्रण में पनीर के कटे हुए टुकड़े डालें, साथ ही गरम मसाला डालें और 2 मिनट तक सब्जी को पकाएं। आपका स्वादिष्ट पनीर कोरमा बनकर तैयार है इसे बाउल में निकालें ऊपर से धनिया पत्ता डालें और सभी को गरम-गरम सर्वे करें। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

लाइफ स्टाइल

कोस्मेटोलॉजी और एस्थेटिक मेडिसिन की दुनिया में लिखा जा रहा नया अध्याय

Published

on

आज के समय में सभी खुद खूबसूरत और आकर्षक दिखाना चाहते हैं। इसके लिए लोगों द्वारा कई तरह के प्रयोग भी किए जाते हैं। वहीं बाजारों में भी सौंदर्य को बढ़ाने के कई प्रोडक्ट भी मौजूद हैं। गौरतलब है कि आज की दुनिया में और पहले से कहीं अधिक, सौंदर्य को एक बहुत ही महत्वपूर्ण विशेषता माना जा रहा है। शारीरिक आकर्षण लोगो को रोजगार पाने, जीवन साथी खोजने में मद्दद करेगा, आम तौर पर: लोगों को उस डिमांडिंग सोसाइटी में फिट होने में मद्दद करेगा जो शारीरिक उपस्थिति को महत्व और रिवार्ड देता है। अब वैश्विक एस्थेटिक मेडिसिन बाजार का आकार 2021 तक 13 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक तक पहुचने का अनुमान है।

सौंदर्य देखभाल की मांग तेजी से बढ़ने की उम्मीद

निकट भविष्य में, सौंदर्य देखभाल की मांग तेजी से बढ़ने की उम्मीद है।  भारत और चीन में सबसे अधिक आबादी 30 से 65 वर्षीय आयु के लोगो की है, और बहुद व्यापक कामकाजी आबादी के साथ वढ़ती प्रयोज्य आय इन देशों में सौंदर्य प्रक्रियाओं की मांग पैदा कर रही है ।
न्यूनतम आक्रमणकारी प्रक्रियाओं को सक्षम बनाने वाले तकनीकी रूप से एडवांस सिस्टम की शुरुआत को सबसे प्रभावशाली विकाश चालक यानि ग्रोथ ड्राइबर के रूप में पहचाना जाता है।  इसके आलावा,प्रयोज्य आय में व्रद्धि ने कॉस्मेटिक प्रक्रियाओं की मांग को काफी बड़ा दिया है।  कुल मिलाकर,इन न्यूनतम आक्रमणकारी प्रक्रियाओं और उनके उत्पादों के साथ- साथ किफायती लागतो की उपलब्धता के बारे में व्यापक जागरूकता जैसे कारक वैश्विक स्तर पर मांग में व्रद्धि कर रहे है।

चिकित्सकों और कोस्मेटोलॉजीस्ट की अपनी महत्वपूर्ण भूमिका

मेडिकल और पर्सानल केयर उत्पाद उद्योग कोस्मेटोलॉजी और एस्थेटिक मेडिसिन में मौजूद नवीनतम तकनीकों और उत्पादों का लाभ उठाने के लिए सार्वजनिक रूप से इस वढ़ती मांग को जारी रख रहे हैं। सामाज अपना कुछ बजट सौंदर्य को समर्प्रित कर रहा है, जिसे अब एक मापदंड के रूप में स्युकार किआ जा रहा है। यह बेहद लाभदायक आर्थिक गतिविधियों में बदल रहा है, जहां चिकित्सकों और कोस्मेटोलॉजीस्ट की अपनी महत्वपूर्ण भूमिका और जगह है।

जनता के लिए समाधान की एक विस्तृत श्रृंखला उपलब्ध

वैज्ञानिक और चिकीत्शा प्रगति का मतलब है की जनता के लिए समाधान की एक विस्तृत श्रृंखला उपलब्ध है, लेकिन केवल एक प्रशिक्षित चिकित्शक सुरक्षित और प्रभावी उपचार प्रदान करेगा। उपलब्ध तकनीकों में व्रद्धि के साथ, जनता में जागरूकता बड़ी हैं, बल्कि कोस्मेटोलॉजी और एस्थेटिक मेडिसिन में कुशल पेशेवरों की आवश्यक्ता में भी बड़ोतरी हुई है। कोस्मेटोलॉजी अब केवल टॉपिकल स्किन केयर से संबंधित नहीं है। लेजर ट्रीटमेंट, इंजेक्शन, फेशियल पिल्स अदि प्रक्रियाओं को उस पेशेवर द्दारा किआ जा सकता है जिसने पर्याप्त प्रशिक्षण प्राप्त किआ है। स्वाभाविक रूप से,कोस्मेटोलॉजी के क्षेत्र में प्रशिक्षण किसी भी स्थापित प्रैक्टिस या गतिबिधि को और अधिक आकर्षक बना देगा।

पूर्णकालिक करियर विकल्प भी है

कोस्मेटोलॉजी प्रशिक्षित तकनीशियनों के लिए एक पूर्णकालिक करियर विकल्प भी है। कोस्मेटोलॉजी में प्रशिक्षण के साथ, पेशेवर सुरक्षित, प्रभावी और कभी-कभी जीबन बदलने वाले कॉस्मेटिक समाधानों को ट्राई करके मरीज को आसानी से सुचना व्यक्त कर सकता है। आज के सबसे प्रभावी थेराप्यूटिक स्किन केयर समाधानों में प्रशिक्षण प्राप्त करना वास्तव में किसी भी व्यवसायी के लिए एक बेहद रोमांचक संभावना है।

अद्भुत करियर की संभावनाएं

सौंदर्य उपचार की भी मांग के कारन एस्थेटिक मेडिसिन को स्पेशिएलिटी से जोड़ने का चयन करने में चिकित्सकीय राजस्व को बढ़ने वाली सब – स्पेशिएलिटी (उप -विशेषता ) और डिसिप्लिन्स (विषयों) में से एक है जो तकनीकी नवाचार के साथ बढ़ते रहेंगे। यह नैदानिक, उपचारात्मक पद्धतियों और उपचारो में प्रगति के मामले में न केवल उत्कृस्ट दृश्टिकोण का वादा करता है, बल्कि एस्थेटिक मेडिसिन में प्रशिक्षण को चुनना बौद्धिक और मानवीय रूप से एक रिवार्ड है जो अद्भुत करियर की संभावनाएं प्रदान करती है।

एस्थेटिक मेडिसिन की प्रैक्टिस करने का वास्तविक लाभ देखभाल का प्रकार है जिसे चिकित्सक अपने मरीजों को पेश कर रहे है। ये प्रक्रियाएँ वैकल्पिक हैं और उन मरीज़ों पर की जाती है जो जीबन के लिए खतरनाक बीमारियों से ग्रस्त नहीं है। वे आमतौर पर स्वस्थ होते हैं, लेकिन सौंदर्य देखभाल उनके जीवन पर एक बहुद ही महत्वपूर्ण और साकारात्मक प्रभाव डालती है।

मरीज़ों के साथ प्रमुख एवं दीर्घकालिक संबंध

यह बहुत ही आकर्षक व्यवसाय का प्रतिनिधित्व करने के साथ -साथ उन लाभों को दर्शाता है जिनकी उम्मीद डॉक्टर्स अपनी खुद की प्रैक्टिस बिस्तार करने या किसी प्रतिष्ठित अस्पताल या पॉलीक्लिनिक में एस्थेटिक फिजिशियन का पद प्राप्त करने के लिए करते है।
कोस्मेटोलॉजी और एस्थेटिक मेडिसिन में प्रशिक्षण लेने के कई फायदे है। ये ऐसे आकर्षक बिषय है, जो सटीकता, धेरिया को बढ़ाते हैं और मरीज़ों के साथ प्रमुख एवं दीर्घकालिक संबंध बनाते है।  दरअसल, सौंदर्य उपचार (एस्थेटिक ट्रीटमेंट) हमेशा मरीज और उसके देखभालकर्ता (केयर गिवर) द्वारा निर्णय लेने और लागू करने के लिए प्रोजेक्ट होते है। प्रक्रियाओं द्वारा पेश किए गए परिणाम अदभूद, जल्दी दिखाई देने वाले होते है और मरीज की अत्यधिक संतुष्टि का कारण बनते हैं, जो प्रशिक्षित चिकित्सक के लिए बिषयों को बहुद ही पुरस्कृत गतिबिधियाँ बनाते हैं।

ट्रेनिंग कोर्स का चयन करना महत्वपूर्ण

फिर भी कोस्मेटोलॉजी या एस्थेटिक मेडिसिन में प्रशिक्षण प्राप्त करने की इच्छा रखने वाले पेशेवरों के लिए यह जरुरी है की उन्हें क्षेत्र के उन सवर्श्रेष्ठ प्रशिक्षिको अत्यधिक प्रशिक्षित डॉक्टरों की टीम द्वारा प्रशिक्षित किया जाये जो कोस्मेटोलॉजी और एस्थेटिक मेडिसिन में प्रैक्टिस और रिसर्च कर रहे हैं। अधिमानत: प्रशिक्षित पेशेवरों के प्रमाणित ट्रेक रिकॉर्ड के साथ स्थापित और अत्यधिक विषिष्ट संस्थान इन मानदंडों को पूरा कर सकता है। कोस्मेटोलॉजी और एस्थेटिक मेडिसिन में सही ट्रेनिंग कोर्स का चयन करना और सबसे अच्छे संस्थान का चयन करना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि कॉस्मेटिक उपचार का लाभ उठाने की इच्छा रखने वाले मरीज के लिए चिकित्सक चुनना।

डॉ. अजय राणा आईएलएएमडी (www.ilamed.org) के संस्थापक और निदेशक विश्वव्यापी कुछ पेशेवर शैक्षणिक संस्थानों में से एक है प्रसाधन सामग्री और सौंदर्यशास्त्र चिकित्सा में प्रशिक्षण और हाथ से पाठ्यक्रम प्रदान करता है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
देश14 hours ago

राजस्थान में फंसा पेंच, मुख्यमंत्री की दावेदारी पर अड़े गए हैं सचिन पायलट, समर्थकों ने की आगजनी

राज्य14 hours ago

बरेली : हजरत केले शाह बाबा के कुल शरीफ में बड़ी तादाद में जमा हुए अकीदतमंद

राज्य17 hours ago

श्रावस्ती : पीएम आवास योजना के लिए अधिकारियों के चक्कर काट रहा गरीब, नहीं हो रही सुनवाई

देश17 hours ago

हाई कोर्ट के न्यायाधीश बोले, भारत बने हिंदू राष्ट्र, PM मोदी पर जताया ये विश्वास, सांसद ने जताई आपत्ति

राज्य18 hours ago

अयोध्या : सड़क दुर्घटनाओं में दो घायल, हालत गंभीर

राज्य18 hours ago

अयोध्या : ढाई लाख रुपये की लूट का खुलासा, पौने दो लाख की नकदी बरामद

देश18 hours ago

35 साल की शादीशुदा प्रेमिका ने किया 13 साल छोटे प्रेमी का कत्ल, वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

राज्य19 hours ago

अयोध्या : रेप पीड़िता के पति और गवाह को कुचलकर मारने का प्रयास, कहा-जिया से टकराओगे तो जिंदगी खत्म

मनोरंजन20 hours ago

शाहरुख खान को ऑनस्क्रीन किस करने के सवाल पर कैटरीना कैफ ने दिया फनी जवाब

देश20 hours ago

सस्पेंस खत्म : MP में कमलनाथ तो राजस्थान में गहलोत होंगे मुख्यमंत्री, छत्तीसगढ़ में ये नेता सबसे आगे

राज्य21 hours ago

लखीमपुर-खीरी : हिंदू समाज को तोड़ने वालों को जवाब देगा बजरंग दल : भोलेन्द्र

हेल्थ21 hours ago

विटामिन-डी का अच्छा स्रोत है धूप, दूर हो जाती है थकान, जानें इसके और फायदे

वीडियो21 hours ago

देखें वीडियो : दूसरी बार केसीआर बने तेलंगाना के सीएम, राज्यपाल ने दिलाई शपथ, जानिए राजनीतिक सफर

बिज़नेस21 hours ago

अमेजॉन ने अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा को लगाया चूना, मंगाया था ‘बोस’ का हेडफोन, आया लोहे का टुकड़ा

देश22 hours ago

तो चौथी बार भी शिवराज सिंह चौहान ही होते MP के मुख्यमंत्री, अगर भाजपा को मिल जाते 4 हजार 337 वोट

राज्य22 hours ago

यूपी : कर्ज से परेशान शख्स ने पत्नी को उतारा मौत के घाट, खुद भी लगा ली फांसी

देश22 hours ago

हाथ जोड़कर बोले सभापति वेंकैया नायडू, हमें बचाने के लिए 9 लोगों ने दी थी जान, आज तो चलने दो सदन

दुनिया22 hours ago

पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के लिए क्राउन प्रिंस सलमान जिम्मेदार : निकी हेले

देश4 days ago

डीएम की पत्नी ने लगाई आरोपों की झड़ी, कहा-यूपी की इस एसडीएम के साथ पति के हैं अवैध संबंध

देश2 weeks ago

यूपी : बुलंदशहर में प्रदर्शनकारियों और पुलिस की भिड़ंत, इंस्पेक्टर शहीद, स्थिति तनावपूर्ण

देश2 weeks ago

देखें : इंस्पेक्टर की मौत का वीडियो आया सामने, घटना स्थल पर मौजूद सिपाही ने सुनाई खौफनाक कहानी

राज्य2 weeks ago

यूपी : पांच साल का बच्चा बना एक दिन का विधायक, कोतवाली का किया निरीक्षण, सुनीं शिकायतें

देश3 weeks ago

डीएम की पत्नी पहनती है छोटे कपड़े और करती है अंग्रेजी में बात, रोका तो धरने पर बैठी

देश2 weeks ago

सीएम योगी आदित्यनाथ ने हनुमानजी को बताया दलित, मिला कानून नोटिस

दुनिया7 days ago

किस्मत हो तो एेसी, घर से निकली थी गोभी खरीदने वापस आई तो बन गई 1.5 करोड़ की मालकिन

देश2 weeks ago

छोटी सी दुकान में आयकर का छापा, मिले 300 लॉकर्स, एक महीने से हो रही नोटों की गिनती

वीडियो4 weeks ago

यूपी : भाजपा विधायक की दबंगई, इंस्पेक्टर को दी जूते से मारने की धमकी, एसपी नतमस्तक, देखें वीडियो

वीडियो2 weeks ago

देखें वीडियो : एेसे भी आती है मौत, स्टेज पर नाचते हुए 12 साल की लड़की ने तोड़ा दम

देश2 weeks ago

बुलंदशहर हिंसा : खेत में मारी गई थी इंस्पेक्टर को गोली, निर्दोष था मारा गया छात्र सुमित, एसआईटी गठित

दुनिया3 weeks ago

ब्वॉयफ्रेंड को मारकर किए छोटे-छोटे टुकड़े फिर बिरयानी बनाकर लोगों को खिला दिया, एेसे हुआ खुलासा

देश4 weeks ago

पहले फौजी से फेसबुक पर की दोस्‍ती, एक मुलाकात के बाद लड़की भेजने लगी अपनी ही अश्‍लील तस्‍वीरें

राज्य4 weeks ago

अयोध्या : भारत जैसा लोकतंत्र और एकरसता पूरी दुनिया में नहीं : हाफिज उस्मान

राज्य3 weeks ago

यूपी : अवैध संबंध के शक में महिला हेड कांस्टेबल को पति ने चापड़ से काटा डाला, गिरफ्तार

देश7 days ago

5 राज्यों के एग्जिट पोल जारी : भाजपा को बड़ा झटका, कांग्रेस की “चांदी”, जानिए कहां किसकी बन रही सरकार

देश3 weeks ago

कुत्ते के साथ नशे में धुत चार युवकों ने किया गैंगरेप, खून से लथपथ छोड़कर हुए फरार

देश2 days ago

जानिए MP के संभावित CM सिंधिया का राजश्री ठाट बाट, राजकुमारी से हुई है शादी, एेसी है इनकी लव स्टोरी

Trending