देवोत्थान एकादशी से फिर बजेगी शहनाई, जानें शुभ मुहूर्त

पंचांग गणना के अनुसार इस साल देवोत्थान एकादशी 14, 15 नवंबर को पड़ रही है। हिंदू धर्म के अनुसार साल के इस चार में भगवान विष्णु और अन्य देवता शयन करते हैं। इसलिए इस चार माह में मुण्डन, विवाह, जनेऊ संस्कार आदि शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं। चतुर्मास आषढ़ मास की देवशयनी एकादशी के दिन शुरू होता है देवोत्थान एकादशी कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मनाई जाती है। इस बार तुलसी विवाह 15 नवंबर को होगा। इस दिन से विवाह आदि के शुभ कार्य फिर से शुरू जाएगें। 

 
eka
देवोत्थान एकादशी से फिर बजेगी शहनाई, जानें शुभ मुहूर्त

पंचांग गणना के अनुसार इस साल देवोत्थान एकादशी 14, 15 नवंबर को पड़ रही है। हिंदू धर्म के अनुसार साल के इस चार में भगवान विष्णु और अन्य देवता शयन करते हैं। इसलिए इस चार माह में मुण्डन, विवाह, जनेऊ संस्कार आदि शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं। चतुर्मास आषढ़ मास की देवशयनी एकादशी के दिन शुरू होता है देवोत्थान एकादशी कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मनाई जाती है। इस बार तुलसी विवाह 15 नवंबर को होगा। इस दिन से विवाह आदि के शुभ कार्य फिर से शुरू जाएगें। 

नवंबर में विवाह शुभ मुहूर्त- 15 नवंबर को देवोत्थान एकादशी के भगवान विष्णु और तुलसी के विवाह का आयोजन होता है। ये दिन विवाह के लिए बहुत शुभ माना जाता है। इसके अतिरिक्त ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस माह में विवाह के शुभ मुहूर्त 15,16,20,21,28,29 और 30 तारीख को हैं।

दिसंबर में विवाह शुभ मुहूर्त- दिसंबर साल का आखिरी महीना होता है। इस महीने हिंदी पंचांग का अगहन मास चलेगा। अगहन में भी शादियों का आयोजन किया जाना शुभ माना जाता है। दिंसबर महीनें में ज्योतिषियों के अनुसार विवाह के शुभ मुहूर्त 1,2,6,7,11 और 13 तारीख हैं।