बॉलीवुड के इन गानों के बिना आज भी अधूरी सी है जन्माष्टमी

जन्माष्टमी का त्यौहार पूरे देश में हर साल बहुत धूम -धाम से मनाया जाता है। बॉलीवुड भी इससे अछूता नहीं है। फिल्मों में कई ऐसे गाने हैं जिनके बिना आज भी जन्माष्टमी का त्यौहार कुछ अधूरा सा लगता है।
 
pic
जन्माष्टमी बॉलीवुड

मुंबई। जन्माष्टमी का त्यौहार पूरे देश में हर साल बहुत धूम -धाम से मनाया जाता है। इस बार भी जन्माष्टमी को लेकर भक्त जनों में एक अलग ही उत्साह है। हर साल जन्माष्टमी में कई जगहों पर रंगारंग कार्यक्रमों का भी आयोजन होता है। जन्माष्टमी के मौके पर पूरा माहौल गीत संगीत और कान्हा की भक्ति में सराबोर नजर आता है। आज हम अपने पाठकों को जन्माष्टमी के खास मौके पर बता रहे हैं उन फ़िल्मी गीतों के बार में जिनके बिना जन्माष्टमी अधूरी सी लगती है।

मैया यशोदा(हम साथ-साथ है)

फिल्म हम साथ -साथ है का यह गाना मैया यशोदा आज भी दर्शकों के बीच काफी पसंद किया जाता है। इस गाने में करिश्मा कपूर, सोनाली बेंद्रे और तब्बू ने बेहद खूबसूरती से नटखट कन्हैया की शरारतो का जिक्र करते हुए डांस किया था।

वो कृष्णा है (किसना)

विवेक ओबरॉय की फिल्म 'किसना' का गान वो कृष्णा है आज भी दर्शक सुनना पसंद करते हैं। यह गाना भी बेहद खूबसूरत है।

राधा तेरी चुनरी (स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर)

आलिया भट्ट, सिद्धार्थ मल्होत्रा और वरुण धवन की डेब्यू फिल्म ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ का गाना ‘राधा तेरी चुनरी’ भी खूब पसंद किया गया था।श्रेया घोषाल, उदित नारायण, विशाल ददलानी और शेखर रिजवानी की आवाज में गाया यह जन्माष्टमी के खास मौके पर अक्सर सुना जा सकता है।

राधा कैसे ना जले(लगान)

आमिर खान और ग्रेसी सिंह पर फिल्माया गाना ‘राधा कैसे ना जले’ भी जन्माष्टमी के खास मौके पर सुना जा सकता है। इस गाने को उदित नारायण और आशा भोंसले ने गाया है।

राधे राधे(ड्रीमगर्ल)

आयुष्मान खुराना और नुसरत भरुचा की फिल्म ड्रीमगर्ल का गाना 'राधे -राधे' भी काफी मशहूर है। राधा-कृष्णा पर आधारित यह गाना मटकी फोड़ के दौरान हर किसी को थिरकने पर मजबूर कर देगा।

ओ कान्हा सो जा ज़रा

अनुष्का शेट्टी पर फिल्माया यह गीत जिसे वह फिल्म बाहुबली 2 में संध्या भजन के दौरान गाकर कन्हैया को सुलाने का प्रयास करती हैं। इस गीत को भी जन्माष्टमी के खास मौके पर काफी पसंद किया जाता है।

मन मोहना (जोधा अकबर)

फिल्म जोधा अकबर का यह गीत भी कृष्ण प्रेम और उनमे अपार श्रद्धा को दर्शाता है। इस गीत को बेला शिंदे ने अपनी आवाज देकर और भी ख़ूबसूरत बनाया। यह गीत भी दर्शकों के बीच काफी पसंद किया जाता है।

इसके अलावा जन्माष्टमी के खास मौके पर गोविंदा आला रे आला, यशोमति मईया से बोले नंदलाला, मच गया शोर सारी नगरी रे, मोहे रंग दो लाल आदि फ़िल्मी गीत जन्माष्टमी के खास मौके पर अक्सर सुने और पसंद किये जाते है। बॉलीवुड के इन गीतों के बिना जन्माष्टमी अधूरी सी लगती है।तो इस जन्माष्टमी आप भी आनंद लीजिये बॉलीवुड के इन गीतों का और मनाइये जश्न जन्माष्टमी का।