पीरियड्स के दौरान सम्बन्ध बनाने से पहले हर पार्टनर को जाननी चाहिए ये जरुरी बातें

वैसे ज्यादातर लोगों को कहते सुना होगा कि माहवारी के दौरान रिलेशन नहीं बनाना चाहिए। वहीं इस दौरान कुछ लोगों सम्बन्ध बनाना अच्छा नहीं लगता। हालाँकि अभी तक इस चीज का कोई प्रमाण नहीं है की पीरियड के दौरान सेक्स करना सेहत के लिए हानिकारक है।  
 
पीरियड्स के दौरान सम्बन्ध बनाने से पहले हर पार्टनर को जाननी चाहिए ये जरुरी बातें 

लाइफस्टाइल। वैसे ज्यादातर लोगों को कहते सुना होगा कि माहवारी के दौरान रिलेशन नहीं बनाना चाहिए। वहीं इस दौरान कुछ लोगों सम्बन्ध बनाना अच्छा नहीं लगता। हालाँकि अभी तक इस चीज का कोई प्रमाण नहीं है की पीरियड के दौरान सेक्स करना सेहत के लिए हानिकारक है।  

माहवारी (पीरियड) के दौरान ऐंठन होना आम बात है. लेकिन क्या आप जानते हें कई महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान संपर्क बनाने से ऐंठन दूर करने में मदद मिलती है. दरअसल, रिलेशन बनाने के दौरान गर्भाशय की मांसपेशियां सिकुड़ती हैं और फिर रिलीज होती हैं. इस दौरान मांसपेशियों में तनाव की निरंतर स्थिति को कम करती है. यदि 4 से 5 दिन तक पीरियड्स आते हैं तो संपर्क बनाने के कारण ये अवधि कम हो सकती है. इस दौरान मांसपेशियों में संकुचन गर्भाशय को क्लीन करने में मदद करता है.

शोधों से पता चलता है कि सेक्स करने से कुछ देर के लिए या फिर पूरी तरह से सिरदर्द से राहत मिल सकती है. दरअसल, सेक्स के दौरान एंडोर्फिन ट्रिगर होने से सिरदर्द दर्द कम होने लगता है. यूं तो पीरियड्स के दौरान गर्भवती होने की संभावना कम है, फिर भी यह असंभव नहीं है. कुछ महिलाएं मासिक धर्म की अनियमितताओं के कारण प्रेगनेंट हो सकती हैं. वहीं अमेरिकन प्रेग्नेंसी एसोसिएशन के अनुसार, स्पर्म पांच दिनों तक महिला के शरीर में जीवित रह सकते हैं.

मासिक धर्म के दौरान यौन संबंध बनाने के दौरान यौन इंफेक्शन होने का खतरा रहता है. इस दौरान एचआईवी, हेपेटाइटिस या हर्प्स जैसे रोग होने का खतरा रहता है. ये वायरस ब्लड के कॉन्टेक्ट में आने से तेजी से फैलता है. ऐसे में पीरियड्स के दौरान असुरक्षित यौन संबंध बनाने से जोखिम बढ़ सकता है.