रोजाना करें तेल मालिश, शरीर रहेगा स्वस्थ और स्किन में आएगी निखार

वैसे तो बचपन में सभी बच्चों की तेल से मालिश की जाती है। ऐसे में कुछ इन चीजों का महत्व नहीं समझ पाते लेकिन हमारे शरीर को स्वस्थ रहने के तेल का मालिश जरुरी है। लेकिन अगर आप लाइफ टाइम तेल से मालिश करते हैं तो इससे आपकी सेहत
 
रोजाना करें तेल मालिश, शरीर रहेगा स्वस्थ और स्किन में आएगी निखार 

हेल्थ। वैसे तो बचपन में सभी बच्चों की तेल से मालिश की जाती है। ऐसे में कुछ इन चीजों का महत्व नहीं समझ पाते लेकिन हमारे शरीर को स्वस्थ रहने के तेल का मालिश जरुरी है। लेकिन अगर आप लाइफ टाइम तेल से मालिश करते हैं तो इससे आपकी सेहत और खूबसूरती दोनों ही बनी रहती है. इससे त्वचा में आई खुश्की दूर होती है और त्वचा की झुर्रियां दूर होती हैं. अगर रोजाना तेल मालिश किया जाए तो ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर होता है और शरीर की नस-नाड़ियों को ताकत मिलती है. अगर आपकी मांसपेशियां कमजोर हो गई हैं तो आपको जरूर तेल मालिश करनी चाहिए. यही नहीं, अगर आप थका-थका महसूस करते हैं तो भी आप तेल मालिश जरूर कराएं. ऐसा करने से शरीर में ताकत महसूस होती है और हड्डियों में मजबूती आती है.आइये इसके किआ और फायदे के बारे में जाने- 

अलग-अलग तेलों के फायदे

सरसों के तेल का मालिश 

अगर आप सरसों तेल से मालिश कराते हैं तो ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता है. यह त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद है और इसके नियमित प्रयोग से स्किन पर निखार आता है. यह मांसपेशियों का तनाव दूर करने में भी काफी लाभदायक है. अगर आप हल्‍की धूप में सरसों के तेल की मालिश करें तो इससे शरीर में सनलाइट से मिलने वाले विटामिन-डी को ऑब्‍जर्ब करने में मदद मिलती है. सरसों के तेल से पसीने वाले ग्लैंड्स सक्रिय होते हैं जिससे बॉडी डीटॉक्‍स करने में मदद मिलती है. त्वचा के संक्रमण से भी यह बचाता है.

तिल का तेल

तिल के तेल में अल्ट्रावायलेट किरणों से सुरक्षा करता है जिससे एजिंग की समस्‍या नहीं होती. यह प्रदूषण से भी स्किन को प्रोटेक्‍शन देती है. इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी होता है जो एक्ने से बचाता है. तिल के तेल में कॉपर, मैगनीज, कैल्शियम और मैग्नीशियम भरपूर होते हैं. इसके अलावा इसमें एंटी- ऑक्सिडेंट तत्व भी होते हैं जो त्वचा को मुलायम बनाने में मदद करते हैं. इसमें विटामिन ई, विटामिन बी कॉम्प्लेक्स और विटामिन डी होते हैं जो शरीर के बेहतर विकास के लिए बहुत जरूरी है.

खरैटी का तेल

नर्वस सिस्टम के विकार, जोड़ों के दर्द, मांसपेशियों में जकड़न, लंबी बीमारी के बाद की कमजोरी और चेहरे के लकवे को ठीक करने में अतिबला का तेल आयुर्वेद में प्रयोग किया जाता है.

नारियल का तेल

नारियल तेल त्वचा के लिए नैचुरल मॉइश्चराइजर का काम करता है, यह मृत त्वचा (डेड स्किन) को हटाकर रंग निखारता है. यह त्वचा रोग, डर्मेटाइटिस, एक्जिमा और स्किन बर्न में भी काफी उपयोगी है. नारियल तेल से सिर्फ पांच मिनट तक मसाज करने से न सिर्फ रक्त संचार में वृद्धि होती है, बल्कि खो चुके पोषक तत्वों की भी भरपाई करता है.

नोट : यह खबर सिर्फ आपकी जानकारी के लिए साझा की जा रही है। किसी भी चीज के सेवन से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।