Chhath Puja 2021 : आज से शुरू होगा छठ का महापर्व, जानें पूजा विधि

धार्मिक मान्यता के अनुसार छट का व्रत संतान की प्राप्ति, कुशलता और उसकी दीर्घायु की के लिए किया जाता है। यह महापर्व 4 दिनों तक मनाया जाता है। आपको बता दे आज से छट व्रत की शुरुआत हो चुकी हैं 8 नवंबर 2021 को नहाय- खाय किया जाएगा। इस दिन महिलाएं स्नान करने के बाद व्रत का संकल्प लेती है। इस दिन चना दाल, कद्दू की सब्जी और चावल का प्रसाद ग्रहण किया जाता है। 

 
POOJA
Chhath Puja 2021 : आज से शुरू होगा छठ का महापर्व, जानें पूजा विधि 

धार्मिक मान्यता के अनुसार छट का व्रत संतान की प्राप्ति, कुशलता और उसकी दीर्घायु की के लिए किया जाता है। यह महापर्व 4 दिनों तक मनाया जाता है। आपको बता दे आज से छट व्रत की शुरुआत हो चुकी हैं 8 नवंबर 2021 को नहाय- खाय किया जाएगा। इस दिन महिलाएं स्नान करने के बाद व्रत का संकल्प लेती है। इस दिन चना दाल, कद्दू की सब्जी और चावल का प्रसाद ग्रहण किया जाता है। 

छठ के दूसरे दिन को खरना बोला जाता है इस दिन महिलाएं दिन भर निर्जला व्रत रखती है और शाम में को अरवा चावल की बनी खीर और रोटी छठी मईया को चढ़ाती है उसके बाद प्रसाद ग्रहण करती है. इसके साथ ही निर्जला उपवास शुरू हो जाता है.

इस महापर्व के दिन सबसे पहले दिन नहाय-खाय होता है. इस दिन व्रती घर में पवित्रता के साथ बनाएं गए सात्विक भोजन को ही ग्रहण करती हैं. इसके बाद दूसरे दिन दिन बर निर्जला उपवास करने के बाद शाम को गुड़ की खीर यानी 'रसियाव' बनाया जाता है. इसके साथ रोटी भोग में लगाकर बाद में व्रती खाती है. इसके बाद छठ का 36 घंटे का निर्जला उपवास रखा जाता है. शाम के अर्ध्य देती है. लोग अपने घर के आस पास किसी भा पानी स्रोत्र के पास जाकर डूबते हुए सूर्य को अर्ध्य देते हैं.छठ का समापन के दिन महिलाएं सूर्योदय से पहले ही नदी या तालाब के पानी में उतर जाती हैं और सूर्यदेव से प्रार्थना करती हैं।