Connect with us

देश

बिहार की राजनीति में नए समीकरण, नीतीश अगर कांग्रेस के साथ गए तो क्या होगा?

Published

on

संतोष राज पांडेय

नीतीश कुमार की एक ख़ासियत यह भी है कि जब सत्ता में होते हैं तो उन्हें अपनी अभिजात्य संस्कृति और सोहबत पसंद आती है. वह इसी तरह की मीडिया और नौकरशाही से घिरे रहने में खुद को सहज महसूस करते हैं लेकिन जब चुनाव आता है तो उन्हें यह एहसास होने में देर नहीं लगती कि यह तबका उन्हें चुनाव नहीं जिता सकता, इसके लिए उन्हें दलितों, अपने सजातीय कुर्मी जनाधार के साथ ही अन्य एवं अति पिछड़ी जातियों और अल्पसंख्यकों और बाहुबलियों का समर्थन आवश्यक नजर आने लगता है।
2019 लोक सभा चुनाव की आहट के साथ ही नीतीश कुमार ने अब अपनी राजनीतिक चालें तेज कर दी है। बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर से बिहार को विशेष राज्य की दर्जा देने की मांग कर राजनीतिक गर्माहट ला दिया है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा है कि केंद्रीय योजनाओं में बिहार को पूरी राशि मिले।  उन्होंने कहा कि पिछड़े राज्यो में संसाधनों की कमी है। यहां अन्य राज्यो की तरह समानता के आधार पर संसाधनों का वितरण उचित नही है। इससे जो राज्य पिछड़े है वे पिछड़ते ही चले जायेंगे।
मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद बिहार की राजनीति में एक बार फिर नए समीकरण बनने की आहट मिल रही है. दबाव की राजनीति मानें या भविष्य को लेकर संकट सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कई मुद्दों पर भाजपा से अलग राय व्यक्त कर संभावनाओं को हवा दे रहे हैं. मुख्यमंत्री इस वक्त भाजपा के साथ सरकार में है बावजूद उनकी इस विशेष मांग को केंद्र नजरअंदाज करता रहा है। जहां तक भ्रष्टाचार के साथ नीतीश कुमार के कभी समझौता नहीं करने की बात है, शिवानंद तिवारी इसे उनका राजनीतिक ढोंग करार देते हैं. वह सवाल करते हैं कि यह कैसी नैतिकता और ईमानदारी है जो सज़ायाफ्ता लालू प्रसाद के साथ चुनावी गठबंधन को तो जायज ठहराती है और भ्रष्टाचार के पुराने मामले में महज प्राथमिकी दर्ज किए जाने को गठबंधन तोड़ने का आधार बना देती है.

नीतीश कुमार सहज नहीं

इतना ही नहीं रामविलास पासवान की लोजपा व उपेन्द्र कुशवाहा की रालोसपा भी केन्द्र व राज्य में भाजपा के साथ बहुत सहज नहीं हैं. ऐसे में संभव है कि लोकसभा चुनाव के पहले केन्द्र के साथ-साथ बिहार में भी नए समीकरण का आगाज हो.
सूत्रों की मानें महागठबंधन का परित्याग कर भाजपा के साथ हाथ मिलाकर राज्य सत्ता पर काबिज होने के बाबजूद नीतीश कुमार सहज नहीं हैं. उनके पास जातीय समीकरण के हिसाब से अब बहुत कम जातियों का समर्थन बचा हुआ है. अल्पसंख्यकों के लिए लगातार बेहतर नीतियों को बढ़ावा देने के बावजूद वे अभी भी राजद व कांग्रेस के साथ खड़े हैं. इतना ही नहीं दलित व महादलित के बंटवारे के बाद भी दलितों का रूझान बसपा, कांग्रेस व राजद के साथ है. ऐसे में तमाम प्रयास के बावजूद जदयू के पक्ष में जातीय माहौल नहीं बन पा रहा है.
इसके अलावा भाजपा भी जदयू से सिर्फ सत्ता बंटवारे तक का रिश्ता रखे हुए है. उसे अभी भी नीतीश के रूख पर एतबार नहीं है. क्योंकि इस बीच कई मौकों पर नीतीश द्वारा केन्द्र सरकार पर दबाव बनाने के दौरान उन्हें भाजपा का साथ नहीं मिला है. इतना ही नहीं जिस विशेष राज्य के दर्जा को मुद्दा बनाकर आंध्रप्रदेश की सत्ताधारी पार्टी टीडीपी ने केन्द्र से समर्थन वापस ले लिया उसी तरह नीतीश भी बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने के लिए केन्द्र पर दबाव बनाना आरंभ कर दिए हैं.

महागठबंधन पर जदयू व नीतीश कुमार की पैनी नजर

नोटबंदी का परिणाम व पेट्रोलियम पदार्थों बढ़े दाम पर नीतीश ने खुले तौर पर केन्द्र सरकार की नीतियों को कटघरे में खड़ा कर संकेत देना आरंभ कर दिया है. हालांकि भाजपा के कुछ नेता बता रहे हैं कि यह सब लोकसभा चुनाव में ज्यादा से ज्यादा सीट लेने के लिए राजनीतिक दबाव का हिस्सा है. भाजपा के नेता मान रहे हैं कि नीतीश के पास भाजपा के साथ रहने के अलावा सीमित विकल्प है. ऐसे में वे अब आत्मघाती फैसला लेने से परहेज करेंगे.
लेकिन सूत्र बता रहे हैं कि नीतीश कुमार कांग्रेस के संपर्क में हैं और वे महागठबंधन में आने का सम्मानजनक रास्ता तलाश रहे हैं. यदि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पहल करें तो समीकरण बदल सकता है. हालांकि अभी भी किसी भी खेमे की ओर से औपचारिक तौर पर कुछ भी नहीं कहा जा रहा है. सूत्र बता रहे हैं कि केन्द्रीय राजनीति में बनने वाले महागठबंधन पर जदयू व नीतीश कुमार की पैनी नजर है.

2014 में 30 उम्मीदवार लड़े थे

यदि बसपा व सपा तथा टीएमसी व वामपंथी एक साथ महागठबंधन का हिस्सा बन गए तो नीतीश भी इसमें आ सकते हैं.बहरहाल लोजपा व रालोसपा राजग के किनारे पर खड़े हैं यदि कांग्रेस की अगुआई में केन्द्रीय स्तर पर महागठबंधन का आगाज़ हुआ तो कई नए समीकरणों का उदय भी होगा. अगर बिहार की राजनीति पर नजर डाले तो दावेदारों की बेचैनी बेवजह नहीं है। 2014 में ऐन वक्त पर दलबदल करने वालों को पूरा फायदा हुआ था। जदयू 38 सीट पर लड़ा था। 18 उम्मीदवार ‘ऑन स्पॉट’ टिकट पा गए थे। अगले चुनाव का सीन अलग है। जदयू की सीटें गठबंधन में फंसी हुई हैं। पिछली बार लड़ाई का मजा ले चुके उम्मीदवार इधर-उधर देख रहे हैं। भाजपा में अलग तरह का तनाव है। 2014 में 30 उम्मीदवार लड़े थे। उम्मीदवारों की किल्ल्त थी। रामकृपाल यादव, छेदी पासवान और सुशील कुमार सिंह जैसे उम्मीदवारों को आयात किया गया था। ताजा हाल यह है कि सीटिंग सांसदों पर भी आफत है। भाजपा के दो सांसद- शत्रुघ्न सिन्हा और कीर्ति झा आजाद यूपीए के उम्मीदवारों की धड़कनें बढ़ाए हुए हैं। लोजपा को सात सीटें मिली थी। पांच नए लोगों को अवसर मिल गया। यहां भी सीटिंग पर आफत है। फिर भी नए उम्मीदवार लोजपा की ओर हसरत भरी निगाहों से देखते हैं।

 बढ़ेगा पार्टी का जनाधार

भाजपा और जदयू से निराश उम्मीदवारों को कांग्रेस में भी आशा की किरण नजर आ रही है। पिछले चुनाव में राजद ने कांग्रेस के प्रति उदारता दिखाई थी। उसे दर्जन भर सीटें मिलीं। उम्मीदवारों की खोज हुई तो पता चला कि पार्टी में इतनी सीटों के लिए मजबूत उम्मीदवार तो हैं ही नहीं। खैर, उस मुश्किल दौर में राजद का साथ मिला। राजद ने अपने दो उम्मीदवार भी दे दिए-पूर्णमासी राम और आशीष रंजन सिन्हा।  रालोसपा अगर यूपीए में शामिल नहीं होती है तो कांग्रेस को फिर दर्जन भर सीटें मिल जाएंगी।  एनसीपी से त्यागपत्र दिए तारिक अनवर शामिल होंगे तो पार्टी का जनाधार बढ़ेगा। लिहाजा, कांग्रेस से भी कुछ उम्मीदवारों को तसल्ली मिल रही है। अभी हाल में उपेन्द्र कुशवाहा खीर की राजनीति करते रहे इसी दौरान नीतीश कुमार ने कुशवाहा सम्मेलन कर उनके खीर की मिठास ही गायब कर दी। ये कहना ज्यादा सटीक होगा कि चुनाव को लेकर बिहार में राजनीतिक दलों की जो खीचड़ी पक रही है उससे कोई स्पष्ट तस्वीरें सामने नहीं आ रही है। सोचिए अगर नीतीश NDA का साथ छोड़ दिये तो क्या होगा? https://www.kanvkanv.com
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

लड़कियों के PG में रात को घुसा लड़का, फिर सो रही लड़की के साथ की ‘गंदी’ हकरत, CCTV में हुआ कैद

Published

on

अहमदाबाद। गुजरात के अहमदाबाद के नवरंगपुरा के सीजी रोड पर मौजूद एक पेईंग गेस्ट (PG) मकान में एक अंजान लड़के ने घुसकर वहीं सो रही एक लड़की के साथ अश्लील हरकतें करनी शुरू कर दी। सीसीटीवी कैमरे में ये सारा मामला कैद हो गयी।

लड़क‍ियों के PG में रात को घुसा लड़का, CCTV में अश्लील हरकतें कैद

घटना 14 जून की है पर लड़की ने बदनामी के चलते पुलिस में शिकायत नहीं की लेकिन यह सीसीटीवी फुटेज वायरल हो गई जिसके बाद खुद गुजरात महिला आयोग ने इस मामले में अहमदाबाद पुल‍िस कम‍िश्नर से र‍िपोर्ट मांगी है। सीसीटीवी सामने आते ही पुल‍िस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

लड़क‍ियों के PG में रात को घुसा लड़का, CCTV में अश्लील हरकतें कैद

वहीं, इस मामले में जो लड़कियां पीजी में रहती हैं वह काफी खौफजदा है। चार मंज‍िल के इस फ्लैट में ग्राउंड फ्लोर पर पर‍िवार के साथ लोग रहते हैं लेक‍िन ऊपर की मंज‍िल पर पूरा पीजी चलता है। जहां एक साथ 19 लड़क‍ियां रहती हैं।

लड़क‍ियों के PG में रात को घुसा लड़का, CCTV में अश्लील हरकतें कैद

जो लड़की बाहर सो रही थी वह इस पीजी की मह‍िला केयर टेकर थी। लड़क‍ियों का कहना है क‍ि मह‍िला केयर टेकर बीमार होने की वजह से दवाई लेकर सो गई थी। जब एक लड़की उठी तो उसने लड़के को घर के अंदर देख ल‍िया। तभी लड़का वहां से भाग गया।

लड़क‍ियों के PG में रात को घुसा लड़का, CCTV में अश्लील हरकतें कैद

इस पीजी में रहने वाली एक लड़की जेनी (बदला हुआ नाम) का कहना है क‍ि यह हादसा हमारी वॉर्डन के साथ हुआ, वह बीमार थी और दवाई लेकर सो रही थी। पीजी माल‍िक सन्नी स‍िंह के मुताब‍िक यहां पर एक स‍िक्योर‍िटी गार्ड काम करता है जो क‍ि वारदात के समय छुट्टी पर गया था।

लड़क‍ियों के PG में रात को घुसा लड़का, CCTV में अश्लील हरकतें कैद

लड़क‍ियों के PG में रात को घुसा लड़का, CCTV में अश्लील हरकतें कैद

पुलिस अब इस मामलें में जांच कर रही है कि यहां दिन में कितने लोग आते-जाते हैं। रात को करीबन 1 बजे हुई इस वारदात को लेकर पुलिस अब आसपास के सीसीटीवी भी खंगाल रही हैं। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

देश

जब अठावले के भाषण पर मोदी-सोनिया व राहुल ने लगाए ठहाके, वीडियो देख आप भी नहीं रोक पाएंगे हंसी

Published

on

नई दिल्ली। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के नेता रामदास अठावले अपनी सरल कविताओं और स्पष्ट बातों से अक्सर सदन के महौल को खुशनुमा कर देते हैं। इसी क्रम में उन्होंने बुधवार को अध्यक्ष चुने जाने पर ओम बिरला को बधाई देते समय भी किया।

केन्द्र में मंत्री और राज्यसभा से सांसद रामदास अठावले ने ओम बिरला के लिए कुछ छंद पढ़े। इसके बाद पूरा सदन हंसने लगा, जिसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल रहे।

राहुल को जन्मदिन की बधाई दी

अठावले ने इस दौरान राहुल गांधी को जन्मदिन की बधाई दी और कहा कि वह आज विपक्ष में बैठे, इसके लिए भी उन्हें बधाई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की बहुत साल तक सत्ता रही। जब कांग्रेस की सत्ता थी तो वह उनके साथ थे। चुनाव से पहले कांग्रेस वाले उन्हें अपनी ओर आने को कह रहे थे, लेकिन उन्हें देश में मोदी की लहर दिखाई दी और वह सरकार के साथ रहे और आज मंत्री हैं।

केंद्रीय मंत्री बोले कि बिल पास करने के लिए विपक्ष की जरूरत है। हमारी सरकार 5 साल तक चलेगी, पांच साल होने के बाद भी पांच साल चलेगी और चलती ही रहेगी। हम अच्छा काम नहीं करेंगे, तो आपकी सरकार आएगी लेकिन हम ऐसा नहीं होने देंगे। उन्होंने ओम बिड़ला को लेकर कहा कि आप हंसते नहीं हैं, लेकिन मैं आपको हंसाकर रहूंगा। अठावले ने कहा…

‘एक देश का नाम है रोम, लेकिन लोकसभा अध्यक्ष बन गए हैं बिरला ओम

लोकसभा का आपको चलाना है अच्छी तरह काम, वेल में आने वालों का ब्लेकलिस्ट में डालना है नाम।

नरेंद्र मोदी और आपका दिल है विशाल, राहुल जी आप रहो खुशहाल

हम सब मिलकर एकता की मशाल, भारत को बनाते हैं और भी विशाल

आपका राज्य है राजस्थान, लेकिन लोकसभा की आप बन गए शान

भारत की हमें बढ़ानी है शान, लोकसभा चलाने के लिए आप हैं परफेक्ट हैं मैन’

विपक्ष की जरूरत

इस दौरान उन्होंने कहा कि विधेयक पास करने के लिए विपक्ष की सहायता की जरूरत है। विपक्ष को देश में आए नतीजों का स्वागत कर सरकार चलाने में मदद करनी चाहिए। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

देश

मासूमों की मौत के सवाल पर डिप्टी सीएम ने साधी चुप्पी, पत्रकारों से कहा- जा सकते हैं बाहर

Published

on

पटना। मुजफ्फरपुर में एईएस से मासूमों की मौत पर बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कुछ भी जवाब देने से इंकार कर दिया। सुशील मोदी राजधानी में बैंकर्स समिति की बैठक के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे। राजधानी पटना के एक होटल में बुधवार को आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में सुशील मोदी ने कहा कि इस  प्रेस कांफ्रेंस में सिर्फ बैंक से जुड़े हुए प्रश्नों का ही हम जवाब देंगे। लेकिन, इसके बाद भी जब पत्रकारों ने मुजफ्फरपुर से जुड़े प्रश्न किये तो सुशील मोदी ने कहा कि जिन्हें बैंक से इतर और कोई प्रश्न करने हैं वे बाहर जा सकते हैं।

अब तक 125  से ज्यादा बच्चों की मौत

अभी हम सिर्फ और सिर्फ बैंक से जुड़े  प्रश्नों का ही जवाब देंगे। पत्रकारों  द्वारा बार -बार पूछे जाने पर भी सुशील मोदी ने मुजफ्फरपुर से जुड़े प्रश्नों का कुछ भी जवाब नहीं दिया। मुजफ्फरपुर में एईएस बीमारी से अब तक 125  से ज्यादा बच्चों की मौत हो चुकी है। 100 से ज्यादा बच्चे अभी भी पीड़ित हैं। मौत का आंकड़ा हर दिन बढ़ता जा रहा है। इस घटना से आक्रोशित लोगों ने मंगलवार को सीएम का मुजफ्फरपुर में विरोध करते हुए मुख्यमंत्री वापस जाओ के नारे भी लगाए थे। सीएम मंगलवार को एईएस से पीड़ित बच्चों को देखने मुजफ्फरपुर गए थे। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading
मनोरंजन30 mins ago

कंगना रनौत की बहन ने ऋतिक रोशन पर लगाया सबसे बड़ा आरोप, कहा- उनकी बहन मुस्लिम…

खेल48 mins ago

टीम इंडिया को बड़ा झटका, विश्व कप से बाहर हुए शिखर धवन, भावुक होकर ‘गब्बर’ ने शेयर किया वीडियो

राज्य2 hours ago

श्रावस्ती : होटलों पर मजदूरी कर रहे कई बच्चों को बाल कल्याण समिति को सौंपा

Uncategorized2 hours ago

श्रावस्ती : बार एसोसिएशन भिनगा का चुनाव नामांकन प्रक्रिया पूर्ण, मतदान 1 जुलाई को

राज्य2 hours ago

कन्नौज : परिवहन आयुक्त ने लगाई तिर्वा की मुगरा ग्राम पंचायत में चौपाल

राज्य2 hours ago

कन्नौज : तिर्वा तहसील के निरीक्षण में नोडल अफसर को सब कुछ लगभग ठीक मिला

राज्य2 hours ago

कन्नौज : डीएम को गलत सूचना देकर गुमराह करने वाले तीन पूर्ति निरीक्षकों का रोका वेतन

राज्य2 hours ago

कन्नौज : जिले के प्रभारी अधिकारी ने अपनी प्रथम निरीक्षण यात्रा में सड़क सुरक्षा पर दिया खास जोर

राज्य2 hours ago

अयोध्या : फैजाबाद शहर के जनौरा नाका स्थित पक्के तालाब में डूबकर तीन बच्चों की मौत

राज्य2 hours ago

अयोध्या : बिना बिजली कनेक्शन और तार-खम्भों के ही भेज दिया 32 हजार का बिल

राज्य4 hours ago

प्राइवेट विश्वविद्यालयों पर CM योगी ने कसा शिकंजा, जारी किया नया अध्यादेश, गरीबों पर हुए मेहरबान

राज्य4 hours ago

अयोध्या : बाइकर ने युवक को मारी टक्कर, मौत, बाइक सवार गंभीर रूप से घायल

देश4 hours ago

लड़कियों के PG में रात को घुसा लड़का, फिर सो रही लड़की के साथ की ‘गंदी’ हकरत, CCTV में हुआ कैद

राज्य5 hours ago

बस और ट्रक की आमने-सामने हुई भीषण टक्कर, 7 लोगों की मौत, कई घायल, 5 की हालत गंभीर

देश5 hours ago

जब अठावले के भाषण पर मोदी-सोनिया व राहुल ने लगाए ठहाके, वीडियो देख आप भी नहीं रोक पाएंगे हंसी

देश6 hours ago

मासूमों की मौत के सवाल पर डिप्टी सीएम ने साधी चुप्पी, पत्रकारों से कहा- जा सकते हैं बाहर

मनोरंजन6 hours ago

पाक अभिनेत्री वीना मलिक और सानिया मिर्जा की तू-तू मैं-मैं, एक दूसरे पर छोड़े शब्दों के व्यंग्य बाण

Uncategorized6 hours ago

12 घण्टे में इंसेफेलाइटिस के 26 मरीज हुए भर्ती, 3 मरीजों की मौत, 11 की हालत गंभीर

राज्य3 weeks ago

बसपा की तरफ से सपा प्रत्याशियों को हराने वाला लेटर वायरल, लिखी है ये बातें, जानें क्या है पूरा मामला

राज्य3 weeks ago

स्मृति के करीबी सुरेन्द्र सिंह हत्याकांड : कांग्रेस नेता समेत हत्या के सभी नामजद आरोपी गिरफ्तार

वीडियो2 weeks ago

नन्हें फैंस को धक्का देने पर सलमान खान ने खोया आपा, सिक्योरिटी गार्ड को जड़ा जोरदार थप्पड़, देखें वीडियो

मनोरंजन3 days ago

भारत-पाकिस्तान मैच को लेकर स्वरा भास्कर ने लगाई ये शर्त, कहा- मुझे क्या मिलेगा…

बिज़नेस2 weeks ago

लगातार पांचवें दिन कम हुए पेट्रोल और डीजल के दाम, जानिए क्या है आज की कीमत

बिज़नेस2 weeks ago

पाकिस्तान में महंगाई से जनता बेहाल, जानें प्याज और नींबू का दाम

देश4 weeks ago

एग्जिट पोल के बाद मायावती की बड़ी कार्रवाई, इस करीबी विधायक को दिखाया बाहर का रास्ता

देश4 weeks ago

कांग्रेस ने जारी किया अपना एग्जिट पोल, खुद को दिखाईं इतनी सीटें, भाजपा को बताया सत्ता से दूर

हेल्थ1 week ago

पनीर खाने से दूर होती हैं ये बीमारियां, जानें पनीर से होते हैं और कौन-कौन से फायदे?

राज्य1 week ago

पांडेय की जगह कौन होगा यूपी भाजपा का नया अध्यक्ष? इन 8 नामों में लग सकती है किसी पर मोहर!

राज्य4 weeks ago

ढाई लाख से जीतकर भी हार गये सपा प्रमुख अखिलेश यादव, ये है मुख्य कारण

हेल्थ3 weeks ago

नए रिसर्च का दावा, ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मददगार है ये आसान सा नुस्खा

हेल्थ4 weeks ago

बैली फैट को कम करने में अंडा है बेहद कारगर, अपनाएं ये रेसिपी

लाइफ स्टाइल4 weeks ago

रेसिपी : नाश्ते में ऐसे बनाएं कच्चे केले के कटलेट, खाने में होते हैं बेहद स्वादिष्ट

लाइफ स्टाइल3 weeks ago

रेसिपी : इस वीकेंड घर में ऐसे बनायें मलाई कोफ्ता, जीत लेंगे सबका दिल

मनोरंजन2 weeks ago

फिल्म आर्टिकल 15 के खिलाफ लामबंद हुआ ब्राह्मण समुदाय, लगाया गंभीर आरोप, जानें क्या है विवाद

देश3 weeks ago

मोदी सरकार में मंत्री बनने के लिए स्मृति सहित इन सांसदों को आया फोन, देखें लिस्ट

हेल्थ4 weeks ago

मोटापा है सबसे बड़ी समस्या, हो सकती हैं गंभीर बीमारियां, जानें कारण, आजमाएं ये तरीका

Trending