Connect with us

देश

कुलगाम में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, एनकाउंटर में बुरहान वानी के साथी समेत दो आतंकी ढेर

Published

on

नयी दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में शनिवार की देर रात सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में दो आतंकियों को ढेर कर दिया है। मारे गए आतंकियों में से एक आतंकी बुरहान वानी का साथी भी था। इसके साथ ही सुरक्षाबलों ने मुठभेड स्थल से भारी तादात में गोला-बारूद बरामद किया है। मुठभेड़ स्थल के पास पत्थरबाजों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प भी हुई है। वहीं कुलगाम और शोपियां जिलों में मोबाइल-इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

आतंकियों की हुई पहचान

मीडिया रिपोर्ट्स के यह मुठभेड़ दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के यारीपोरा क्षेत्र में काटापोरा गांव में हुई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक आतंकवादियों की उपस्थिति की खबर मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने तलाशी व घेराबंदी अभियान शुरू किया था। छिपे हुए आतंकवादियों के चारों तरफ घेराबंदी सघन होते ही उन्होंने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी शुरू कर दी जिससे मुठभेड़ शुरू हो गई।

जिसके बाद सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया। मारे गए आतंकियों की पहचान जीनत-उल-इस्लाम और शकील अहमद डार के तौर पर की गई है। जीनत-उल- इस्लाम 2016 में मारे गए हिजबुल कमांडर बुरहान वानी का साथी था।

ए++ श्रेणी का आतंकी था जीनत

2019 में यह सुरक्षाबलों को पहली बड़ी कामयाबी है। आतंकी जीनत IED बनाने में तो माहिर ही था और दर्जनों आतंकी वारदातों में वांछित भी था। इस आतंकी का मारा जाना कई और आतंकियों के लिए भी एक झटका है। जीनत 2007 में अलबदर में शामिल हुआ था। इससे पहले वह हिज्बुल मुजाहिद्दीन था लश्कर में शामिल था। सुरक्षाबलों के लिए यह ए++ श्रेणी का आतंकी था।

262 आतंकी ढेर

गौरतलब है कि घाटी में भारतीय सुरक्षा एजेंसियां के चलाए गए ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ के तहत साल 2018 में सुरक्षाबलों द्वारा 262 आतंकियों को को ढेर किया जा चुका है। ये आंकड़े 31 दिसंबर 2018 तक के हैं। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

तो इसलिए अखिलेश यादव आजमगढ़ से ठोक रहे हैं ताल, जानिए इसके पीछे की क्या है पूरी रणनीति

Published

on

नई दिल्ली। बसपा प्रमुख मायावती ने पहले ही ऐलान कर रखा था कि वह लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी लेकिन समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने रविवार को यह कहकर सबको चौंका दिया कि वह आजमगढ़ से चुनाव लड़ेंगे। यह सीट 2014 में उनके पिता मुलायम सिंह यादव ने जीती थी। अब मुलायम सिंह मैनपुरी से लड़ रहे हैं, ऐसे में अखिलेश ने यहां से चुनाव लड़ने का फैसला किया है।

अखिलेश की राजनीति की शुरुआत ही कन्नौज से सांसद बनकर हुई थी

पूर्व मुख्यमन्त्री अखिलेश की राजनीति की शुरुआत ही कन्नौज से सांसद बनकर हुई थी। उनके पिता ने जब कन्नौज लोकसभा सीट खाली की तो साल 2000 में हुए उपचुनाव में अखिलेश ने जीत दर्ज करके राजनीति में कदम रखा। 2004 के आम चुनाव में भी अखिलेश यादव ने कन्नौज सीट से चुनाव लड़ा और बसपा के ठाकुर राजेश को एकतरफा शिकस्त दी। 2009 में भी अखिलेश की जीत का सिलसिला नहीं रुका और उन्होंने कन्नौज सीट से ही बसपा के महेश चंद्र वर्मा को हराकर हैट्रिक बनाई।

उन्होंने कन्नौज के साथ-साथ फिरोजाबाद सीट से भी जीत हासिल की लेकिन कन्नौज सीट बरकरार रखते हुए फिरोजाबाद सीट छोड़ दी। इसके बाद इस सीट पर हुए उपचुनाव में अखिलेश ने अपनी पत्नी डिम्पल को चुनाव मैदान में उतारा। डिम्पल के खिलाफ कांग्रेस से राजबब्बर मैदान में थे। राजबब्बर ने 3,12,728 वोट हथियाकर डिम्पल को 85,343 वोटों के अंतर से हरा दिया। डिम्पल की यह हार सैफई कुनबा आज तक नहीं भुला पाया है।

यादव-मुस्लिम वोट के जनाधार को भी बरकरार रखने की कोशिश

अब एक बार फिर अखिलेश यादव उस सीट (आजमगढ़) से चुनावी मैदान में उतरे हैं, जो उनके पिता मुलायम सिंह ने छोड़ी है। राजनीतिक प्रेक्षकों का मानना है कि अखिलेश का यह फैसला पूर्वी उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन के समर्थन में कार्यकर्ताओं के साथ-साथ यादव-मुस्लिम वोट के जनाधार को भी बरकरार रखने की कोशिश है।

मुस्लिम, यादव और गैर-यादव ओबीसी के कुछ वर्गों का आजमगढ़ के आसपास के क्षेत्र में आधा दर्जन से अधिक सीटों पर प्रभाव है, जहां सीट-बंटवारे की व्यवस्था के तहत बसपा चुनाव लड़ रही है। इन निर्वाचन क्षेत्रों में गाजीपुर, जौनपुर, सलेमपुर, घोसी, लालगंज, अंबेडकरनगर, संत कबीर नगर, देवरिया और मच्छलीशहर आदि प्रमुख हैं। इन समुदायों और जातियों के मतदाताओं का गोरखपुर, कुशीनगर, आज़मगढ़, बलिया और कुछ अन्य क्षेत्रों में भी प्रभाव है जहां सपा अपने उम्मीदवारों को मैदान में उतार रही है।

प्राथमिक एजेंडा भाजपा को हराने के लिए वोटों के विभाजन को रोकना

2014 के चुनावों में सपा को इन समुदायों और जातियों के वोट मिले थे और इन सीटों पर पार्टी के उम्मीदवार दूसरे या तीसरे स्थान पर थे। सपा ने आजमगढ़ सीट जीती थी क्योंकि मुलायम सिंह यादव एक भारी-भरकम उम्मीदवार थे। हालांकि 2014 में इनमें से कई सीटों पर मुस्लिम वोटों का विभाजन भाजपा के पक्ष में हुआ था। इस बार गठबंधन का प्राथमिक एजेंडा भाजपा को हराने के लिए वोटों के विभाजन को रोकना है। प्रदेश में सीट-बंटवारे की व्यवस्था के अनुसार बसपा 38 सीटों पर, सपा 37 पर और राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) तीन सीटों (पश्चिमी उप्र) पर चुनाव लड़ रही है।

यादव और दलित मतदाताओं को एकजुट करने की संभावना

इसके अलावा इस बात की भी आशंका है कि यादव और दलित मतदाता स्थानीय मुद्दों के कारण चुनाव में एक साथ नहीं आ सकते हैं। इस प्रकार आजमगढ़ से अखिलेश की उम्मीदवारी और निर्वाचन क्षेत्र में सपा-बसपा नेताओं के संयुक्त अभियान से यादव और दलित मतदाताओं को एकजुट करने की संभावना है। आजमगढ़ में लगभग चार लाख यादव, तीन लाख मुस्लिम और लगभग 2.75 लाख दलित मतदाता हैं।

मुलायम सिंह यादव ने भाजपा के रमाकांत यादव को हराया था

रमाकांत यादव 2009 में आजमगढ़ से भाजपा के उम्मीदवार के रूप में जीते थे और 2004 में उन्हें बसपा के टिकट से चुना गया था। 1998 में भी बसपा वहां जीती थी। सपा 1996, 1999 और 2014 में जीती थी। 2014 में, मुलायम सिंह यादव ने भाजपा के रमाकांत यादव को मात्र 63,000 मतों के अंतर से हराया था। बसपा ने मुस्लिम उम्मीदवार शाह आलम उर्फ​गुड्डू जमाली को उतारा था, जो 2.66 लाख वोटों के साथ तीसरे स्थान पर रहे थे। भाजपा उम्मीदवार को यादव वोटों का एक हिस्सा मिला, जबकि बसपा उम्मीदवार ने मुस्लिम वोटों में कटौती की। सपा नेताओं का कहना है कि चूंकि अखिलेश यादव खुद इस बार बसपा के समर्थन से चुनाव लड़ रहे हैं, इसलिए मुस्लिम और यादव मतदाताओं में विभाजन की संभावना कम है। इसका आसपास के निर्वाचन क्षेत्रों में भी प्रभाव पड़ेगा।

भाजपा और कांग्रेस ने आजमगढ़ से अभी अपना उम्मीदवार घोषित नहीं किया

आजमगढ़ कभी सपा का गढ़ तो नहीं रहा लेकिन अखिलेश की उम्मीदवारी इस बार सपा-बसपा गठबंधन में मददगार साबित हो सकती है। मायावती ने 2004 में चुनाव लड़ा था और वह अकबरपुर से सांसद चुनी गई थीं। 2000, 2004 और 2009 में अखिलेश चुनाव लड़े और जीते। उन्होंने 2012 में लोकसभा से इस्तीफा दे दिया था। सपा के एक शीर्ष नेता का कहना है कि अगर अखिलेश यादव आजमगढ़ से जीत जाते हैं और 2022 के उप्र विधानसभा चुनाव के बाद राज्य की राजनीति को तरजीह देना चाहेंगे, तो उस समय वे संसद की सदस्यता से इस्तीफा दे सकते हैं। भाजपा और कांग्रेस ने आजमगढ़ से अभी अपना उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

देश

मुलायम व अखिलेश की बढ़ीं मुश्किलें, आय से अधिक संपत्ति मामले में सुप्रीम कोर्ट का सीबीआई को नोटिस

Published

on

नई दिल्ली। मुलायम सिंह और अखिलेश यादव की आय से अधिक संपत्ति मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को नोटिस जारी किया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच ने सीबीआई से 2 हफ्ते में जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है। याचिका विश्वनाथ चतुर्वेदी ने दायर की है। याचिकाकर्ता की ओर से आज सुप्रीम कोर्ट को बताया गया कि सीबीआई ने अब तक मामले में कोई कार्रवाई नहीं की है।

जबकि, मार्च 2007 में सुप्रीम कोर्ट ने शुरुआती सबूतों के आधार पर नियमित केस दर्ज करने का आदेश दिया था। चतुर्वेदी ने 2005 में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर मांग की थी कि मुलायम सिंह यादव और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ आय के अधिक संपत्ति के मामले में सीबीआई से जांच कराने का निर्देश दे।

याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 1 मार्च 2007 के अपने फैसले में सीबीआई को निर्देश दिया था कि वह आरोपों की जांच करे और यह पता लगाए कि समाजवादी पार्टी के नेताओं की आय से अधिक संपत्ति के संदर्भ में लगाए गए आरोप सही है या नहीं। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

देश

भाजपा ने 9 तो कांग्रेस ने 10 उम्मीदवारों के नाम का किया एलान, देखें कौन कहां से लड़ेगा चुनाव

Published

on

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ में अपने पांच मौजूदा सांसदों के टिकट काट चुकी भाजपा ने रविवार को पांच अन्य सीटों पर नए चेहरों को उतारा है, और इस क्रम में रायपुर से छह बार के सांसद रमेश बैस और पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के बेटे अभिषेक सिंह सहित मौजूदा सांसदों के टिकट काट दिए हैं। भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति द्वारा तैयार की गई सूची के अनुसार, पार्टी की राज्य इकाई के महासचिव संतोष पांडेय को राजनांदगांव से टिकट दिया गया है। अभिषेक सिंह ने 2014 के लोकसभा चुनाव में इस सीट से 2.35 लाख से अधिक वोटों से जीत दर्ज की थी।

वर्ष 1999 से रायपुर सीट पर लगातार जीत दर्ज करा रहे बैस के स्थान पर सुनील सोनी को टिकट दिया गया है। भाजपा ने कोरबा से बंशीलाल महतो के स्थान पर ज्योति नंद दूबे को उम्मीदवार बनाया है, जबकि बिलासपुर में लखनलाल साहू के स्थान पर अरुण सॉ को टिकट दिया गया है। महासमुंद के सांसद चंदूलाल साहू के स्थान पर चुन्नी लाल साहू को उम्मीदवार बनाया गया है। चंदूलाल ने 2014 के आम चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी को पराजित किया था।

भाजपा ने दुर्ग सीट से विजय बघेल को प्रत्याशी बनाया

भाजपा ने दुर्ग सीट से विजय बघेल को प्रत्याशी बनाया है। पिछले आम चुनाव में इस एकमात्र सीट पर भाजपा जीत दर्ज नहीं कर पाई थी, और पार्टी उम्मीदवार सरोज पांडेय कांग्रेस उम्मीदवार ताम्रध्वज साहू के सामने चुनाव हार गई थीं। भाजपा ने पहली सूची में राज्य के पांच उम्मीदवारों के नाम तय किए थे। केंद्रीय राज्य मंत्री विष्णु देव साई को इस बार टिकट नहीं दिया गया, जबकि 1999 से ही वह रायगढ़ सीट का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ में मतदान 11, 18 और 23 अप्रैल को होना है

राज्य की पांच आरक्षित लोकसभा सीटों -सरगुजा, बस्तर, रायगढ़, कांकेर और जांजगीर-चम्पा के लिए उम्मीदवारों की घोषणा गुरुवार को पहली सूची में कर दी गई थी। पिछले साल विधानसभा चुनाव में हार के बाद ही पार्टी ने घोषणा की थी कि राज्य के सभी 10 सांसदों को टिकट नहीं दिया जाएगा। छत्तीसगढ़ में मतदान 11, 18 और 23 अप्रैल को होना है।

कांग्रेस ने जारी की नौवीं सूची, कार्ति चिदंबरम तमिलनाडु से लड़ेंगे चुनाव

लोकससभा चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी ने 10 उम्मीदवारों की नौवीं लिस्ट जारी की है। इस सूची में तारिक अनवर, बीके हरिप्रसाद और कार्ति चिदंबरम समेत 10 प्रतियाशियों के नाम हैं। इस सूची में पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को तमिलनाडु के शिवगंगा सीट से चुनाव लड़ेगे।

वहीं कांग्रेस ने राकांपा के पूर्व नेता तारिक अनवर को बिहार की कटिहार, वरिष्ठ नेता बी के हरिप्रसाद को दक्षिण बेंगलुरु लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में उतारा है। बता दें इससे पहले कांग्रेस ने अपनी 8वीं सूची जारी की है। कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, उत्तराखंड और मणिपुर में लोकसभा की 38 और सीटों के लिए शनिवार को उम्मीदवारों के नाम की 8वीं लिस्ट जारी की है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
देश3 mins ago

तो इसलिए अखिलेश यादव आजमगढ़ से ठोक रहे हैं ताल, जानिए इसके पीछे की क्या है पूरी रणनीति

दुनिया22 mins ago

पत्नी को चेन से बांधकर 20 दिन तक पीटता रहा, पुलिस पहुंची तो बोला- ‘इसमें प्रेत का साया है…’

देश32 mins ago

मुलायम व अखिलेश की बढ़ीं मुश्किलें, आय से अधिक संपत्ति मामले में सुप्रीम कोर्ट का सीबीआई को नोटिस

राज्य1 hour ago

यूपी : मॉर्निंग वॉक पर निकले बसपा नेता की हत्या, घर से 100 मीटर दूर बदमाशों ने गोलियों से भूना

राज्य1 hour ago

दर्दनाक हादसा : आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर डिवाइडर से टकराई बस, 4 यात्री जिंदा जले

देश16 hours ago

भाजपा ने 9 तो कांग्रेस ने 10 उम्मीदवारों के नाम का किया एलान, देखें कौन कहां से लड़ेगा चुनाव

राज्य16 hours ago

बहराइच : आपराधिक प्रवृत्ति वाले अभ्यर्थियों के सम्बन्ध में अपनी वेबसाइट पर सूचना अपलोड करेंगे राजनैतिक दल

राज्य16 hours ago

श्रावस्ती : पड़ोसी की हरकत से परेशान महिला ने बच्चों संग लगाई नदी में छलांग, एक की मौत 

राज्य16 hours ago

गायत्री परिवार ने बलरामपुर में निकाली भव्य शक्ति कलश यात्रा

राज्य16 hours ago

पीलीभीत में वन विभाग की लापरवाही से लाखों रुपये की गेहूं की 7 एकड़ फसल जलकर राख

राज्य16 hours ago

अयोध्या : चाणक्य परिषद ने दर्शन नगर सूर्य मंदिर पर किया काव्य गोष्ठी व होली मिलन

राज्य16 hours ago

श्रावस्ती : तमंचे के साथ 1 व 155 लीटर कच्ची शराब के साथ 8 आरोपी गिरफ्तार

राज्य16 hours ago

अयोध्या : विधानसभा और महापौर का चुनाव लड़ चुकी किन्नर सपा नेता गुलशन बिंदू ने थामा कांग्रेस का हाथ

राज्य16 hours ago

कन्नौज : डीईओ ने अफसरों को व्हाट्सप्प ग्रुप बनाने के दिए निर्देश

राज्य16 hours ago

लखीमपुर : देश में जनता अगर सीधे प्रधानमंत्री चुनती तो राहुल की जमानत जब्त हो जाती : केशव प्रसाद

राज्य17 hours ago

कन्नौज : सपाइयों ने धूम धाम से मनाई डॉ. लोहिया की जयंती, नवाब बोले, अखिलेश ने पूरे किए सपने

राज्य17 hours ago

अयोध्या : ट्रेन से कटकर ग्रामीण और आग में झुलसकर अबोध बालक की दर्दनाक मौत

राज्य17 hours ago

कन्नौज : 26 को आएंगे डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, अफसरों ने कार्यक्रम स्थल का लिया जायजा

हेल्थ3 weeks ago

मर्दों के लिए खास : स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए खाएं ये असरदार चीजें

देश3 weeks ago

जानिए कौन है ये महिला, जो जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन को वाघा बॉर्डर तक छोड़ने आई?

देश4 weeks ago

ब्रेकिंग न्यूज़ : भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनन्दन को कल रिहा करेगा पाकिस्तान : इमरान खान

देश3 weeks ago

अपने ही पायलट की मौत को छिपा रही पाक सेना, भारतीय समझ पाकिस्तानियों ने मार डाला था

हेल्थ4 weeks ago

सुबह खाली पेट लहसुन खाने के होते हैं ये जबरदस्त फायदे, आप भी जानें

देश1 day ago

सपा ने जारी की 40 स्टार प्रचारकों की लिस्ट, मुलायम सिंह का नाम नहीं, देखें कौन-कौन हैं शामिल

देश4 weeks ago

PCS परीक्षा-2016 का रिजल्ट घोषित, कानपुर की जयजीत कौर फर्स्ट, टॉपर्स में ये 10 नाम

देश4 weeks ago

पाकिस्तान में घुसकर भारतीय विमानों ने जैश के ठिकानों पर की भारी बमबारी, 300 आतंकी मारे गए

राज्य4 weeks ago

यूपी की सभी लोकसभा सीटों पर कांग्रेस के लड़ने की तैयारी से सपा परेशान, रामगोपाल यादव ने दी धमकी

देश3 weeks ago

अपनी ही नाबालिग बेटी से देह व्यापार कराती थी मां, अलग-अलग तस्वीरें भेज बुलाए जाते थे ग्राहक

देश1 week ago

पिता ने जबरन करा दी नाबालिग लड़की की अधेड़ से शादी, सुहागरात पर हुआ बड़ा खुलासा

राज्य2 weeks ago

आजमगढ़ से अखिलेश यादव लड़ेंगे चुनाव, कांग्रेस करेगी समर्थन!, जानिए इस सीट का जातीय समीकरण

देश2 weeks ago

इस लोकसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे शत्रुघ्न सिन्हा, लेंगे इन दो पार्टियों का सहयोग! 

देश1 week ago

समाजवादी पार्टी ने जारी की 4 उम्मीदवारों की एक और लिस्ट, जानिए किस सीट से किसको मिला टिकट

देश4 weeks ago

पाकिस्तानी सेना का दावा, भारत के दो पायलट हमारे कब्जे में, जारी किया वीडियो

देश3 weeks ago

वतन वापस लौटे विंग कमांडर अभिनंदन, अटारी-वाघा बॉर्डर पर गूंजा-हे शूर वीर तुम्हारा अभिनंदन…महाअभिनंदन

देश3 weeks ago

यूपी की 11 व गुजरात की 4 लोकसभा सीटों पर कांग्रेस ने घोषित किए उम्मीदवारों के नाम, देखें लिस्ट

देश3 weeks ago

Breaking news : मीडिया रिपोर्ट्स में दावा, भारत की एयर स्ट्राइक में मारा गया जैश सरगना मसूद अजहर

Trending