Connect with us

देश

देश को दहलाने की साजिश, उत्तर प्रदेश में घुसे लश्कर-ए-तैय्यबा के चार आतंकी, निशाने पर हैं ये चार शहर

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में एक बार फिर आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैय्यबा ने देश को दहलाने की साजिश रची है। बड़ी खबर आ रही है कि लश्कर-ए-तैयबा अपने चार आतंकियों को नेपाल के काठमांडू से रूपईडीहा (बहराइच) बॉर्डर होते हुए भारत में प्रवेश कराया है। बताया जा रहा है कि लश्कर के इन प्रशिक्षित चार आतंकियों के निशाने पर देश के चार शहर हैं।

विशेष शाखा व पुलिस के साथ रेलवे को भी सतर्क

इन्होंने राजधानी दिल्ली के अलावा मुंबई,  हैदराबाद व यूपी के एक शहर को निशाना बनाने की साजिश है। आतंकियों के भारत की सीमा में घुसने के बाद खुफिया विभाग ने पूरे देश में अलर्ट जारी कर दिया है। खुफिया विभाग ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि इन आतंकियों में से दो मकसूद खान व मौलाना जब्बार ने बुलंदशहर में आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा भी लिया है। ये खतरनाक आतंकी किसी भी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं। इनको पकडऩे के लिए विशेष शाखा व पुलिस के साथ रेलवे को भी सतर्क किया गया है।

ट्रेन की यात्रा कर सकते हैं आतंकी

आशंका है कि शेष आतंकी हाजीपुर के रास्ते महानगर के लिए ट्रेन की यात्रा कर सकते हैं। खुफिया विभाग ने जिन चार आतंकियों को चिह्नित किया है, उन्होंने अफगानिस्तान व पाकिस्तान में आयोजित कैंप में प्रशिक्षण लिया है और किसी भी तरह का ऑपरेशन चलाने में सक्षम हैं। खुफिया सूत्रों के मुताबिक, इन चार आतंकियों की भारत में मदद के लिए लश्कर ने अपने स्लीपर सेल को पहले ही आगाह कर दिया है। बिहार व यूपी के मौजूद संगठन के स्लीपर सेल इन आतंकियों को अपने टारगेट तक पहुंचने में मदद कर रहे हैं।

खुफिया विभाग ने संबंधित अधिकारियों को इन आतंकियों पर पैनी निगाह रखने के साथ इन्हें मदद पहुंचाने वाले स्लीपर सेल की पहचान करने को भी कहा है।
माना जा रहा है कि भारत में इन्हें हथियार व पैसा यहां मौजूद स्लीपर सेल से ही मिलने वाला है। आतंकी अब इस फिराक में हैं कि किसी तरह चिह्नित जगह पर पहुंचकर ऑपरेशन के लिए हथियार व पैसा हासिल किया जाए। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

राजस्थान में कांग्रेस की सरकार, बीजेपी को लगा बड़ा झटका

Published

on

जयपुर। राजस्थान में विधानसभा चुनाव नतीजों और रुझानों से कांग्रेस की सरकार बनना तय है। हालांकि कुछ महीने पहले सत्ता की दौड़ से बाहर मानी जा रही भाजपा ने कांग्रेस को कड़ी टक्कर दी है। राजस्थान की 199 सीटों पर इस बार 74.08 प्रतिशत मतदान हुआ था, जो कि पिछले चुनाव की तुलना 75.67 प्रतिशत से 1.52 फीसदी कम है। कांग्रेस ने 75, भाजपा ने 52 और बहुजन समाज पार्टी ने 04 सीटों पर जीत हासिल की है। वहीं निर्दलीय व अन्यों 16 सीटें फतह की है।

कई दिग्गज नेताओं को हार का सामना करना पड़ा

हारने वाले नेताओं में कैबिनेट मंत्री मंत्री अरुण चतुर्वेदी, राजपालसिंह शेखावत, गजेन्द्रसिंह खिंवसर, डॉ राम प्रताप, प्रभुलाल सैनी, यूनुस खान और ओटाराम देवासी शामिल हैं। कांग्रेस नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी चुनाव हार गए हैं। प्रदेश में सत्ता विरोधी लहर के चलते भाजपा के कई दिग्गज नेताओं को हार का सामना करना पड़ा है। प्रदेश की सबसे हॉट सीट झालरापाटन से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कांग्रेस के मानवेन्द्रसिंह को पराजित कर अपनी सीट सुरक्षित कर ली है। कांग्रेस से पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर की सरदारपुरा सीट पर भाजपा के शंभूसिंह खेतासर और पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने टोंक सीट पर भाजपा के एकमात्र मुस्लिम चेहरे यूनुस खान को पराजित किया है।

किसकी कहाँ हुयी जीत 

कांग्रेस: जोधपुर की सरदारपुरा सीट से पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा के शंभूसिंह खेतासर को पराजित किया। टोंक से पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने भाजपा के युनूस खान को पराजित किया। मसूदा से राकेश पारीक, मांडल से रामलाल जाट, सांचौर से सुखराम विश्नोई, प्रतापगढ़ में रामलाल मीणा, खाजूवाला से गोविंदराम मेघवाल, अंता से प्रमोद जैन भाया, खंडार से अशोक बैरवा, नोहर से अमित चाचान, जयपुर की हवामहल सीट से महेश जोशी, राजाखेड़ा से रोहित वोहरा, पचपदरा से मदन प्रजापत, बाड़मेर से मेवाराम जैन, जयपुर के सिविल लाइंस से प्रतापसिंह खाचरियावास, अलवर ग्रामीण से टीकराम जूली, टोंक के निवाई से प्रशांत बैरवा, परबतसर से रामनिवास गावड़िया, कामां से जाहिदा खान चुनाव जीत चुकी हैं।

भाजपा:

जहाजपुर से भाजपा के गोपीचंद मीणा, भीलवाड़ा के विट्ठलशंकर, मकराना से भाजपा के रूपाराम जाट, रेवदर से भाजपा के जगसीराम कोली, भीनमाल के भाजपा के पूराराम चौधरी, आहोर से भाजपा के छगनसिंह राजपुरोहित, जालोर से भाजपा के जोगेश्वर गर्ग, डग से कालूलाल मेघवाल, सोजत से शोभा चौहान, मावली से धर्मनारायण जोशी, अजमेर से वासुदेव देवनानी, धरियावद से गौतमलाल मीणा, पिण्डवाडा-आबू से समाराम गरासिया ने चुनाव जीत लिया है।

निर्दलीय:

सिरोही से कांग्रेस के बागी संयम लोढ़ा, किशनगढ़ से भाजपा के बागी सुरेश टांक चुनाव जीत गए हैं।
25 साल की सियासी ट्रेंड के अनुसार 1993 में भाजपा ने 38.60 प्रतिशत मत मिले और 95 सीटें लेकर सत्ता में वापसी की थी, जबकि कांग्रेस को 76 सीटें मिलीं थी। 1998 में कांग्रेस ने 44.95 फीसदी वोट लिए। 153 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी। वर्ष 2003 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 39.20 प्रतिशत वोट लेकर कांग्रेस को सत्ता से निकाला। भाजपा को 120, कांग्रेस को 56 सीटें मिलीं। 2008 में कांग्रेस ने 36.82 फीसदी वोट और 96 सीटें जीतकर सरकार बनाई। भाजपा को 78 सीटें मिलीं थी। मोदी लहर की बदौलत वर्ष 2013 में भाजपा रिकॉर्ड 46.05 फीसदी वोट और 163 सीटें जीतकर सत्ता में वापसी की थी, वहीं कांग्रेस महज 21 सीटों पर सिमट गई थी।

कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुधवार को

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा है कि बुधवार को जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ने भाजपा की नीतियों के खिलाफ मतदान किया है। अगर गैर कांग्रेसी दल, जिन्होंने भाजपा के खिलाफ जाकर चुनाव लड़ा है, वह आते हैं, तो स्वागत है और हम भी उनसे सम्पर्क में हैं।

नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायकों को जयपुर बुला लिया गया है

कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि बुधवार को जयपुर स्थित प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में दोपहर करीब 12 बजे विधायक दल की बैठक होगी। नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायकों को जयपुर बुला लिया गया है। फिलहाल बैठक के लिए दिल्ली से किसी पर्यवेक्षक के आने की सूचना नहीं है लेकिन कर्नाटक से जयपुर आए पार्टी पर्यवेक्षक के सी. वेणुगोपाल और राज्य प्रभारी बैठक में मौजूद रहेंगे। बैठक में भी विधायकों की राय लेने के बाद ही पर्यवेक्षक वेणुगोपाल इसकी जानकारी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को देंगे। राहुल के निर्देशों के बाद मुख्यमंत्री पद को लेकर फैसला होगा। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

देश

मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बननी तय, शुरू हुआ जश्न

Published

on

नयी दिल्ली। मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बननी लगभग तय हो गई है। मध्यप्रेदश में दिल की धड़कन बढ़ा देने वाले रूझानों के बाद अब कांग्रेस को करीब 115 सीटों पर बढ़त मिलती दिख रही है। वहीं बीजेपी सिर्फ 105 सीटों पर ही आगे है। इसके अलावा अन्य पार्टियों को 10 सीटें मिल सकती हैं।अभी तक सिर्फ मध्यप्रदेश में भाजपा कुछ संघर्ष करते दिख रही थी। लेकिन अब लगभग यह आशा भी खत्म होती जा रही है। इसी के साथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाना भी शुरू कर दिया है। जगह-जगह ढोल नगाड़ों के साथ आतिशबाजी होती हुई दिखाई दे रही है।

कांग्रेस और भाजपा के बारी-बारी से सत्ता में आने की परंपरा

गौरतलब है कि राजस्थान में हर पांच साल पर कांग्रेस और भाजपा के बारी-बारी से सत्ता में आने की परंपरा रही है। इस बार देखना होगा कि क्या बीजेपी इस परंपरा को तोड़ पाती हैं या नहीं। पिछले विधानसभा चुनाव ने बीजेपी ने 200 में से 163 सीटें जीतकर तगड़े बहुमत के साथ सरकार बनाई थी। कांग्रेस को महज 21 सीटें ही मिल पाई थी। यहां 7 दिसंबर को हुए मतदान में 74.02 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया जो कि पिछले बार से 2.59 प्रतिशत कम था। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

देश

परिवार की इजाजत के बाद रेप पीड़िता की पहचान उजागर न करें पुलिस और मीडिया : सुप्रीम कोर्ट

Published

on

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि पुलिस और मीडिया रेप पीड़िता की पहचान उजागर न करें। कोर्ट ने दिशा-निर्देश जारी करते हुए कहा कि मृतक या मानसिक रूप से कमजोर रेप पीड़िता की पहचान उसके परिवार की इजाजत से भी नहीं जाहिर की जा सकती। अगर किसी वजह से ऐसा करना जरूरी है तो इसका फैसला कोर्ट करेगी।
कोर्ट ने कहा कि मृतक की भी गरिमा होती है। रेप पीड़िता के साथ आरोपित से भी ज्यादा बुरा बर्ताव किया जाता है। उनसे अछूतों की तरह का व्यवहार किया जाता है। समाज रेप पीड़िता को ही दोषी मानने लगता है। कोर्ट ने रेप और पॉक्सो एक्ट के तहत दर्ज एफआईआर को सार्वजनिक करने से मना किया है।

नौकरी पाना या शादी कर पाना तक मुश्किल हो जाता है

जस्टिस मदन बी लोकुर ने कहा कि कोर्ट में रेप पीड़िता को कठोर सवालों का सामना करना पड़ता है। समाज में उसे भेदभाव का सामना करना पड़ता है। उसके लिए नौकरी पाना या शादी कर पाना तक मुश्किल हो जाता है।
सुप्रीम कोर्ट ने ये आदेश एक याचिका पर फैसला सुनाते हुए दिए हैं, जिसमें कोर्ट से मांग की गई थी कि दुष्कर्म पीड़ित की पहचान उजागर की जानी चाहिए या नहीं? कोर्ट ने कहा कि दुष्कर्म पीड़ित महिलाएं जिनकी मौत हो चुकी है या वो कोमा में हैं, उनका नाम और पहचान भी उजागर न किया जाए।

सुप्रीम कोर्ट ने दिशा-निर्देश जारी करते हुए कहा कि दुष्कर्म पीड़ित का नाम व पहचान किसी आम रैली या सोशल मीडिया पर भी उजागर नहीं की जा सकती। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि फॉरेंसिक विभाग भी पीड़ितों की पहचान व नाम उजागर नहीं करेगा। भले ही पीड़िता के परिजन अपनी सहमति दें। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
राज्य10 mins ago

बाल वैज्ञानिक की उपाधि से सम्मानित हुई खीरी की बेटी दीपिका

देश1 hour ago

राजस्थान में कांग्रेस की सरकार, बीजेपी को लगा बड़ा झटका

वीडियो2 hours ago

सालगिरह पर अनुष्का शर्मा ने शेयर किया शादी का पहला VIDEO, दिखा विराट कोहली का रोमांटिक अंदाज

हेल्थ2 hours ago

अनचाहे गर्भ से महिलाएं पा सकेंगी छुटकारा, विशेषज्ञों ने एक सुई को दी स्वीकृति

देश3 hours ago

मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बननी तय, शुरू हुआ जश्न

देश3 hours ago

परिवार की इजाजत के बाद रेप पीड़िता की पहचान उजागर न करें पुलिस और मीडिया : सुप्रीम कोर्ट

बिज़नेस4 hours ago

मांग कम होने के चलते सोना-चांदी स्थिर, जानें कितनी है कीमत

देश5 hours ago

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार!, राजस्थान में आगे और मध्य प्रदेश में है बीजेपी से कड़ी टक्कर

लाइफ स्टाइल5 hours ago

रेसिपी : नाश्ते में ऐसे बनाएं लाजवाब मुगलई पराठे, खाने में होता है बेहद स्वादिष्ट

राज्य5 hours ago

सुल्तानपुर : उद्योगपतियों के कर्ज सहित कई मामले पर अपनी ही सरकार को घेरते दिखे वरुण गांधी

देश5 hours ago

राजस्थान में बीजेपी-कांग्रेस के बीच कड़ी टक्कर, कांग्रेस 91 तो बीजेपी 86 सीटों पर चल रही आगे

खेल6 hours ago

संदिग्ध गेंदबाजी को लेकर इस धांसू स्पिनर को ICC ने किया निलंबित

देश6 hours ago

माहौल भाजपा के खिलाफ, जनता ने कांग्रेस को बेहतर विकल्प के तौर पर किया पसंद : पूर्व मुख्यमंत्री

राज्य6 hours ago

जन्मदिन पर ही चौकी प्रभारी ने सर्विस रिवाल्वर से खुद को गोली से उड़ाया, जांच में जुटी पुलिस

राज्य6 hours ago

अखिलेश का भाजपा पर कसा तंज, कहा- बड़े-बड़ों की सत्ता हो जाती है ‘नौ दो ग्यारह’

देश7 hours ago

मध्य प्रदेश : रुझानों में कांग्रेस-बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर, कांग्रेस 110 तो बीजेपी को 111 पर बढ़त

देश7 hours ago

छत्तीसगढ : विधानसभा चुनाव के रुझानों में रमन राज खत्म, कांग्रेस ने पार किया जादुई आंकड़ा

दुनिया7 hours ago

मेंग वांग्जो की गिरफ्तारी के विरोध में चीन ने एप्पल पर की कार्रवाई, पुराने वर्जन के फोन पर प्रतिबंध

देश1 week ago

यूपी : बुलंदशहर में प्रदर्शनकारियों और पुलिस की भिड़ंत, इंस्पेक्टर शहीद, स्थिति तनावपूर्ण

देश1 week ago

देखें : इंस्पेक्टर की मौत का वीडियो आया सामने, घटना स्थल पर मौजूद सिपाही ने सुनाई खौफनाक कहानी

मनोरंजन4 weeks ago

देखें फोटो : पहलवान से भिड़ना राखी सावंत को पड़ा महंगा, उठाकर एेसा पटका कि पहुंच गईं अस्पताल

राज्य2 weeks ago

यूपी : पांच साल का बच्चा बना एक दिन का विधायक, कोतवाली का किया निरीक्षण, सुनीं शिकायतें

देश3 weeks ago

डीएम की पत्नी पहनती है छोटे कपड़े और करती है अंग्रेजी में बात, रोका तो धरने पर बैठी

देश2 weeks ago

सीएम योगी आदित्यनाथ ने हनुमानजी को बताया दलित, मिला कानून नोटिस

राज्य4 weeks ago

योगी सरकार की बड़ी तैयारी, इलाहाबाद-फैजाबाद के बाद अब बदले जाएंगे इन शहरों के नाम

देश1 week ago

छोटी सी दुकान में आयकर का छापा, मिले 300 लॉकर्स, एक महीने से हो रही नोटों की गिनती

दुनिया4 days ago

किस्मत हो तो एेसी, घर से निकली थी गोभी खरीदने वापस आई तो बन गई 1.5 करोड़ की मालकिन

वीडियो3 weeks ago

यूपी : भाजपा विधायक की दबंगई, इंस्पेक्टर को दी जूते से मारने की धमकी, एसपी नतमस्तक, देखें वीडियो

वीडियो2 weeks ago

देखें वीडियो : एेसे भी आती है मौत, स्टेज पर नाचते हुए 12 साल की लड़की ने तोड़ा दम

दुनिया3 weeks ago

ब्वॉयफ्रेंड को मारकर किए छोटे-छोटे टुकड़े फिर बिरयानी बनाकर लोगों को खिला दिया, एेसे हुआ खुलासा

देश4 weeks ago

पहले फौजी से फेसबुक पर की दोस्‍ती, एक मुलाकात के बाद लड़की भेजने लगी अपनी ही अश्‍लील तस्‍वीरें

राज्य3 weeks ago

अयोध्या : भारत जैसा लोकतंत्र और एकरसता पूरी दुनिया में नहीं : हाफिज उस्मान

राज्य3 weeks ago

यूपी : अवैध संबंध के शक में महिला हेड कांस्टेबल को पति ने चापड़ से काटा डाला, गिरफ्तार

राज्य4 weeks ago

यूपी : काम के बोझ से अवसाद में आकर डिप्टी सीएमओ ने की आत्महत्या, प्रशासन में खलबली

देश1 week ago

बुलंदशहर हिंसा : खेत में मारी गई थी इंस्पेक्टर को गोली, निर्दोष था मारा गया छात्र सुमित, एसआईटी गठित

देश20 hours ago

डीएम की पत्नी ने लगाई आरोपों की झड़ी, कहा-यूपी की इस एसडीएम के साथ पति के हैं अवैध संबंध

Trending