किसान संगठनों को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- "आपने पूरे शहर का गला घोंट दिया अब अंदर घुसना चाहते हैं"

केंद्र की मोदी सरकार के कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों को सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी फटकार लगाई है।
 
suprem court
सुप्रीम कोर्ट


नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार के कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों को सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी फटकार लगाई है। शीर्ष अदालत ने कहा कि  आपने पूरे दिल्ली शहर का दम घोंट दिया है और हाईवे को जाम कर दिया है। 

किसान महापंचायत ने जंतर-मंतर पर सत्याग्रह करने के लिए सुप्रीम कोर्ट से अनुमति मांगी थी। समूह ने कहा था कि जंतर-मंतर पर शांतिपूर्ण और अहिंसक विरोध प्रदर्शन करने के लिए 200 किसानों को एकजुट होने की अनुमति दी जाए। 

इसके जवाब में बाद कोर्ट ने कहा कि पूरे शहर का दम घोंटने के बाद आप शहर के अंदर आना चाहते हैं। यहां रहने वाले नागरिक क्या इस प्रदर्शन से खुश हैं? ये गतिविधियां रुकनी चाहिए।

किसान आंदोलनकारियों को अदालत पर भरोसा रखने की नसीहत देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा, 'आप तीन कृषि कानूनों के खिलाफ एक बार जब कोर्ट पहुंचे गए तो फिर न्यायिक व्यवस्था पर भरोसा रखना चाहिए और फैसला आने का इंतजार करना चाहिए।' अदालत ने कहा कि आपके आंदोलन की वजह से लोगों का कहीं भी बिना रोकटोक आने-जाने का मूल अधिकार प्रभावित हो रहा है। कोर्ट ने कहा कि नागरिकों के पास आजादी से और बिना किसी डर के घूमने के समान अधिकार हैं। उनकी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है