Connect with us

देश

अब नवंबर तक 80 करोड़ लोगों को मिलेगा मुफ्त अनाज

Published

on

  • प्रधानमंत्री मोदी बोले- प्रधान से प्रधानमंत्री तक सबके लिए एक नियम

  •  एक राष्ट्र एक राशन कार्ड से गरीबों को मिलेगा लाभ

  • लाॅकडाउन में लापरवाही नहीं बरतने की अपील

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अनलाक-2 शुरू होने की पूर्व संध्या पर एक बार फिर देश को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए घोषणा की कि कोरोना से लड़ते-लड़ते अब त्यौहारों के मौसम तक आ गए हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना को नवंबर तक बढ़ा दिया गया है, ताकि कोई गरीब और बेसहारा भूखा न सोए। इसका लाभ 80 करोड़ लोगों को होगा।

एक राष्ट्र और एक राशन कार्ड

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने एक राष्ट्र और एक राशन कार्ड का भी जिक्र किया और कहा कि इससे एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने वाले प्रवासी को फायदा मिलेगा।

दो गज की दूरी का ईमानदारी से करें पालन

प्रधानमंत्री ने लाॅकडाउन के दौरान फेस मॉस्क और दो गज की दूरी का ईमानदारी से पालन करने की नसीहत देते हुए सभी से कोई लापरवाही नहीं बरतने की अपील की।

कयासों पर लगाया विराम

मंगलवार को प्रधानमंत्री ने अपने छठवें संबोधन में पहले से चल रही सभी तरह की अटकलों पर विराम लगा दिया। संबोधन से पहले ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि चीन की धोखेबाजी या फिर कोराना की वैक्सीन आदि के बारे में प्रधानमंत्री कुछ बोलेंगे, लेकिन शाम 4 बजे के करीब 15 मिनट के संबोधन में उन्होंने कोरोना की लड़ाई का पूरा श्रेय किसानों और आयकरदाताओं को दिया।

किसान और करदाताओं का श्रेय

उन्होंने कहा कि किसानों से पैदा हुए अनाज की वजह से कोई भूखा नहीं सो पाया तो आयकरदाताओं की वजह से इस मुश्किल लड़ाई को लड़ने में आसानी हुई।

कृषि क्षेत्र में ज्यादा काम

प्रधानमंत्री ने कहा कि बारिश के दौरान और उसके बाद मुख्य तौर पर कृषि क्षेत्र में ज्यादा काम होता है। अन्य दूसरे सेक्टरों में थोड़ी सुस्ती रहती है। जुलाई से धीरे-धीरे त्योहारों का भी माहौल बनने लगता है।

गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार

उन्होंने कहा कि 5 जुलाई को गुरुपूर्णिमा, फिर सावन, 15 अगस्त, रक्षाबंधन, कृष्ण जन्माष्टमी और आगे जाएं तो दशहरा, दीपावली और छठ मैया की पूजा है, जो जरूरतों के साथ ही खर्च भी बढ़ाता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीपावली और छठ पूजा तक यानि नवंबर महीने तक कर दिया गया है। इससे 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली यह योजना अब जुलाई, अगस्त, सितंबर, अक्टूबर, नवंबर में भी लागू रहेगी।

इतना मिलेगा राशन

सरकार द्वारा इन पांच महीनों के लिए 80 करोड़ से ज्यादा गरीब भाई-बहनों को हर महीने परिवार के हर सदस्य को 5 किलो गेंहूं या चावल मुफ्त मुहैया कराया जाएगा। साथ ही, प्रत्येक परिवार को हर महीने एक किलो चना भी मुफ्त दिया जाएगा। इस विस्तार पर 90 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे।

गरीब साथियों को मिलेगा लाभ

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लाॅकडाउन शुरू होते ही सरकार प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना लेकर आई। इस योजना के तहत गरीबों के लिए पौने 2 लाख करोड़ रुपये का पैकेज दिया गया। प्रधानमंत्री ने कहा कि एक राष्ट्र एक राशन कार्ड की व्यवस्था भी हो रही है। इसका लाभ उन गरीब साथियों को मिलेगा जो रोजगार या दूसरी आवश्यकताओं के लिए अपना गांव छोड़कर कहीं और जाते हैं, किसी और राज्य में जाते हैं।

लॉकडाउन ने बचाया लाखों का जीवन

कोरोना की वर्तमान स्थिति का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वैश्विक स्तर पर देखा जाए तो कोरोना से होने वाली मृत्युदर अन्य देशों की तुलना में बहुत संभली हुई है। समय पर किए गए लाॅकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया है।

अनलाॅक-1 में बढ़ी लापरवाही

उन्होंने इसके लिए सबको सावधान करते हुए कहा कि जब से देश में अनलाॅक-1 हुआ है, व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही बढ़ती ही चली जा रही है। पहले मास्क, दो गज की दूरी, 20 सेकेंड तक दिन में कई बार हाथ धोने आदि को लेकर बहुत सतर्क थे, लेकिन अब जब ज्यादा सतर्कता की जरूरत है तो लापरवाही बढ़ना बहुत ही चिंता का कारण है।

मॉस्क न पहनने पर जुर्माने की चर्चा

उन्होंने अपने संबोधन के दौरान एक प्रधानमंत्री पर लगाए गए 13 हजार के जुर्माने का जिक्र करते हुए कहा कि उन पर जुर्माना इसलिए लग गया, क्योंकि वे सार्वजनिक स्थल पर मॉस्क पहने बिना गए थे। भारत में भी स्थानीय प्रशासन को इसी चुस्ती से काम करना चाहिए। यह 130 करोड़ देशवासियों की रक्षा करने का अभियान है।

सबके लिए एक नियम

भारत में गांव का प्रधान हो या देश का प्रधानमंत्री, कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि आने वाले समय में अपने प्रयासों को और तेज किया जाएगा, ताकि गरीब, पीड़ित, शोषित, वंचित हर किसी को सशक्त करने के लिए निरंतर काम किया जाएगा।सभी ऐहतियात बरतते हुए इकोनामी एक्टिविटी को और आगे बढ़ाने का काम किया जाएगा। आत्मनिर्भर भारत के लिए दिन-रात एक करेंगे। लोकल के वोकल होंगे।

देश

जयपुर एयरपोर्ट पर पकड़ा गया 32 किलो सोना, इमरजेंसी लाइट में छिपाकर लाया जा रहा था

Published

on

By

जयपुर। सीमा शुल्क दल ने जयपुर एयरपोर्ट पर शुक्रवार रात पहुंची इवेक्यूशन फ्लाइटों से इमरजेंसी लाइट की में छिपाकर लाया गया 15 करोड़ 67 लाख का 32 किलो सोना बरामद किया। यूएई के रास उल खेमा से 3 और सउदी अरब के रियाद से आए 11 यात्रियों के कब्जे से यह सोना बरामद हुआ। कोरोनाकाल में यह पहला मामला है जब इवेक्यूशन फ्लाइटों से सोने की इतनी बड़ी मात्रा में तस्करी का मामला उजागर हुआ है।

15 करोड़ से ज्यादा की कीमत

सीमा सुरक्षा विभाग के अनुसार संयुक्त अरब अमीरात और सऊदी अरब से दो चार्टर उड़ानों द्वारा 3 जुलाई 2020 की रात्रि 14 भारतीय यात्री जयपुर के अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे, जिन्हें जयपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के सीमा शुल्क दल द्वारा रोका गया। इन यात्रियों के पास से उनके सामान में छिपाया हुआ पंद्रह करोड़ सड़सठ लाख उनसठ हजार आठ सौ बीस रुपये मूल्य का 31.9918 किलोग्राम सोना बरामद किया गया।

स्पाइसजेट से लाया गया था

इन 14 यात्रियों में से तीन यात्री स्पाइसजेट की उड़ान संख्या एसजी-9055 से रास उल खेमा यूएई से आए थे और उनके पास से चार करोड़ सत्तावन लाख इकसठ हजार एक सौ रुपये मूल्य की 9.339 किलोग्राम वजन की 12 सोने की सलाखें-ईंटें बरामद की गई। ग्यारह यात्री रियाद (सऊदी अरब) से आए थे, जिनके पास से ग्यारह करोड़ नौ लाख अठानवें हजार सात सौ बीस रुपये मूल्य की 22.6528 किलोग्राम सोने की सलाखें बरामद की गई, जो मुख्य रूप से स्विस मार्का की थी।

 

Continue Reading

देश

भगवान बुद्ध के आदर्शों से मिलेगा चुनौतियों से लड़ने का समाधान : PM मोदी

Published

on

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आषाढ़ पूर्णिमा/गुरु पूर्णिमा के अवसर पर भगवान बुद्ध के उपदेशों और उनके दिखाए अष्टमार्ग पर चलने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि दुनिया आज असाधारण चुनौतियों से लड़ रही है और इसका समाधान भगवान बुद्ध के आदर्शों से मिल सकता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मैं आज आषाढ़ पूर्णिमा के अवसर पर सभी को अपनी शुभकामनाएं देना चाहता हूं। इसे गुरु पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। यह हमारे गुरुओं को याद करने का दिन है, जिन्होंने हमें ज्ञान दिया। उस भावना से, हम भगवान बुद्ध को श्रद्धांजलि देते हैं।’

समाधान भगवान बुद्ध के आदर्शों से आ सकता

मोदी ने कहा कि भगवान बुद्ध का दिखाया अष्टमार्ग समाज और राष्ट्र के कल्याण का रास्ता दिखाता है। करुणा और दया के महत्व को दर्शाने वाली बुद्ध की शिक्षाएं विचार और क्रिया दोनों को प्रभावित करती हैं। आज दुनिया असाधारण चुनौतियों से लड़ रही है। इसका समाधान भगवान बुद्ध के आदर्शों से आ सकता है, जो हमेशा से प्रासंगिक थे।

उल्लेखनीय है कि भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय बौद्ध परिसंघ (आईबीसी) चार जुलाई को धर्म चक्र दिवस के रूप में आषाढ़ पूर्णिमा मना रहा है। यह दिवस उत्तर प्रदेश में वाराणसी के निकट सारनाथ में ऋषिपत्तन स्थित हिरण उद्यान में आज के दिन महात्मा बुद्ध द्वारा प्रथम पांच शिष्यों को दिए गए ‘प्रथम उपदेश’ को ध्यान में रखकर मनाया जाता है। आज के दिन को दुनियाभर के बौद्ध धर्म चक्र प्रवर्तन दिवस के रूप में भी मनाते हैं। जबकि हिंदु आज के दिन को ‘गुरु पूर्णिमा’ के रूप में मनाते हैं।

Continue Reading

देश

देश में कोरोना के 24 घंटों में सबसे ज्यादा 22,771 नए मामले, 442 लोगों की मौत

Published

on

देश में 3,79,892 मरीज इलाज के बाद हुए स्वस्थ

नई दिल्ली। देश में वैश्विक महामारी कोरोना के मरीजों की संख्या अब छह लाख 40 हजार के पार पहुंच गई है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 22,771 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 6,48,315 पर पहुंच गई है। वहीं कोरोना से पिछले 24 घंटों में 442 लोगों की मौत हो गई। कोरोना संक्रमण से अबतक 18655 लोगों की मौत हो चुकी है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में 2,35,433 एक्टिव मरीज हैं। राहत भरी खबर यह है कि पिछले 24 घंटों में कोरोना के 14,335 मरीज स्वस्थ हुए हैं। देश में 3,94,227 कुल मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।

राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों में कोरोना के मरीजों की संख्या और बढ़ोतरी क्रम

अंडमान और निकोबार- 116(+6), आंध्रप्रदेश में 16,934(+837), अरुणाचल प्रदेश- 252(+57), असम- 9673 (+660), बिहार- 10,954(+483), चंडीगढ़- 457(+7), छत्तीसगढ़- 3,065(+52), दिल्ली- 94,695(+2520), दादरा नगर हवेली और दमण व दीव- 257(+27), गोवा- 1482, गुजरात- 34,600(+687), हरियाणा- 16,003 (+494), हिमाचल प्रदेश- 1033 (+19), झारखंड- 2695(+111), कर्नाटक- 19,710(+1694), केरल- 4964(+211), मध्यप्रदेश- 14,297(+191), महाराष्ट्र- 1,86,626 (+6364), मणिपुर- 1316(+37), मिजोरम- 162, मेघालय- 62(+6), नगालैंड- 501(+38), ओडिशा- 8106(+561), पुदुचेरी- 802, पंजाब- 5937(+153), राजस्थान- 18,052 (+390), सिक्किम- 102, तमिलनाडु- 1,02721 (+4329), तेलंगाना- 20,462 (+1892), त्रिपुरा- 1525(+90), जम्मू-कश्मीर- 8019(+170), लद्दाख- 1001(+11), उत्तर प्रदेश में 25,797(+972), उत्तराखंड- 3048(+64) और पश्चिम बंगाल में 20,488(+669) मामलों की पुष्टि हो चुकी है।
Continue Reading

Trending