एंटिलिया केस में एनआईए ने परमबीर सिंह से की 4 घंटे पूछताछ, दागे 42 सवाल

बम्बई हाई कोर्ट का आदेश- 15 दिन में परमबीर सिंह के आरोपों की जांच करें सीबीआई
बम्बई हाई कोर्ट का आदेश- 15 दिन में परमबीर सिंह के आरोपों की जांच करें सीबीआई

मुंबई। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार को पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह से एंटिलिया केस में चार घंटे तक गहन पूछताछ की। इसके बाद परमबीर सिंह को छोड़ दिया गया। बताया जा रहा है कि इन चार घंटों में एनआईए ने परमबीर सिंह से एंटिलिया केस, सचिन वाझे की नियुक्ति व उनके साथ संबंधों को लेकर 42 सवाल दागे। हालांकि एनआईए की ओर इस बाबत अभी तक कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। इसके बाद एनआईए पूर्व पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा से भी पूछताछ कर रही है।

जानकारी के अनुसार एंटिलिया केस में गिरफ्तार आरोपित सचिन वाझे को परमबीर सिंह ने ही बहाल कर पुलिस सेवा में उसकी वापसी की थी और वाझे को क्राइम ब्रांच मुंबई की जिम्मेदारी दी थी। इसी बाबत पूछताछ करने के लिए एनआईए टीम ने बुधवार को परमबीर सिंह को सुबह अपने मुंबई स्थित कार्यालय में बुलाया था। बताया जा रहा है कि एनआईए ने परमबीर सिंह से सचिन वाझे की फिर से की गई बहाली, उद्योगपति मुकेश अंबानी के एंटिलिया बंगले के पास जिलेटिन भरी कार के बारे में पूछताछ की। इस बाबत सबसे पहले परमबीर सिंह को किसने बताया, यह सवाल भी एनआईए ने परमबीर सिंह से पूछा। इसी तरह सिर्फ एक सहायक पुलिस निरीक्षक पर इतना विश्वास क्यों किया, इसी तरह के 42 सवाल एनआईए ने परमबीर सिंह से पूछे हैं। इसके बाद एनआईए ने आज परमबीर सिंह को आफिस से जाने दिया।

उसके बाद एनआईए ने इस मामले में पूर्व पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा से पूछताछ शुरू कर दी है। प्रदीप शर्मा एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के रूप में मशहूर रह चुके हैं और पुलिस विभाग से इस्तीफा दे चुके हैं। एनआईए को शक है कि सचिन वाझे ने एंटिलिया प्रकरण व मनसुख मौत मामले में प्रदीप शर्मा का सहयोग लिया होगा।