Connect with us

देश

काशी को 557 करोड़ की सौगात, मोदी बोले-आप मेरे हाईकमान, हिसाब देना मेरी ड्यूटी, गिनाए 10 बड़े बदलाव

Published

on

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी से सांसद एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बीएचयू के एम्फीथिएटर मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि काशी में बदलाव लाने के जो भी प्रयास हो रहे हैं, वो उसकी परंपराओं को संजोते हुए व पौराणिकता को बचाते हुए किए जा रहे हैं।

पीएम ने वाराणसी दौरे के दूसरे दिन कई परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। पीएम मोदी ने काशी को 500 करोड़ रुपये से अधिक की सौगात देते हुए कहा कि वह भोले बाबा की नगरी बनारस को एक नए मुकाम पर पहुंचाना चाहते हैं। प्रधानमंत्री ने अपार जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा, “ मैं आपका सेवक हूं। वाराणसी के सांसद होने के नाते आपको चार वर्षों के विकास कार्यों की ये छोटी सी झलक दिखा रहा हूं। आप मेरे मालिक एवं हाईकमान हैं। आपकाे अपने सेवक से हिसाब मांगने का स्वभाविक अधिकार है और मेरा दायित्व है कि मैं पाई-पाई का हिसाब दूं।

आशीर्वाद मुझे हर पल प्रेरित करता है

पीएम मोदी ने कहा, ‘मेरे लिए ये सौभाग्य की बात है देश के लिए समर्पित एक और वर्ष की शुरुआत मैं बाबा विश्वनाथ और मां गंगा के शुभ आशीष से कर रहा हूं. आप सभी का ये स्नेह, ये आशीर्वाद मुझे हर पल प्रेरित करता है. आज यहां 550 करोड़ रुपये से ज्यादा के प्रोजेक्ट्स का या तो लोकार्पण हुआ है या फिर शिलान्यास हुआ है. विकास के ये कार्य बनारस शहर ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों से भी जुड़े हैं.’

जब हमारी काशी को भोले के भरोसे, अपने हाल पर छोड़ दिया गया था

पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘हम काशी में जो भी बदलाव लाने का प्रयास कर रहे हैं वो उसकी परंपराओं को संजोते हुए, उसकी पौराणिकता को बचाते हुए किया जा रहा है. अनंत काल से जो इस शहर की पहचान रही है उसे संरक्षित करते हुए, इस शहर में आधुनिक व्यवस्थाओं का समावेश किया जा रहा है. चार वर्ष पहले जब काशीवासी बदलाव के इस संकल्प को लेकर निकले थे, तब और आज में अंतर स्पष्ट दिखता है. वरना आप तो उस व्यवस्था के गवाह रहे हैं जब हमारी काशी को भोले के भरोसे, अपने हाल पर छोड़ दिया गया था.’

अब बनारस एलईडी बल्ब की रोशनी से जगमगाता है

पीएम मोदी ने कहा, ‘पहले भी जब मैं यहां आता था तो शहर भर में बिजली के लटकते तारों को देखकर हमेशा सोचता था कि आखिर कब बनारस को इससे मुक्ति मिलेगी? आज शहर के एक बड़े हिस्से से लटकते हुए तार गायब हो गए हैं. बाकी जगहों पर भी इन तारों को जमीन के भीतर बिछाने का काम तेजी से जारी है. अब बनारस एलईडी बल्ब की रोशनी से जगमगाता है. मैंने ठाना है कि काशी का चौतरफा विकास करना है. हम बनारस को पूर्वी भारत के गेटवे के तौर पर एक नई पहचान दिलाएंगे और हम इसके लिए प्रतिबद्ध हैं.’

BHU ने एम्स के साथ एक वर्ल्ड क्लास हेल्थ इंस्टीट्यूट बनाने के लिए समझौता किया है.’

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में आगे कहा, ‘आज काशी में एक तरफ वैदिक विज्ञान केंद्र का शिलान्यास हुआ है तो दूसरी तरफ अटल ऊष्मायन केंद्र की भी शुरुआत हुई है. हम सभी को जितना अपनी पुरातन संस्कृति और सभ्यता पर गर्व है उतना ही भविष्य की तकनीक के प्रति हमारा आकर्षण है. नए कैंसर और सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल लोगों को इलाज की आधुनिक सुविधाएं देंगे. BHU ने एम्स के साथ एक वर्ल्ड क्लास हेल्थ इंस्टीट्यूट बनाने के लिए समझौता किया है.’

BHU में आधुनिक ट्रॉमा सेंटर हजारों लोगों के जीवन को बचाने का काम कर रहा है

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘काशी आज हेल्थ हब के रूप में उभरने लगा है. BHU में आधुनिक ट्रॉमा सेंटर हजारों लोगों के जीवन को बचाने का काम कर रहा है. वाराणसी शहर ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों को भी सड़क, बिजली, पानी जैसी सुविधाएं पहुंचाई गई हैं. सांसद के रूप में जिन गांवों को विशेष रूप से विकसित करने का जिम्मा मेरे पास है, उनमें से एक नागेपुर गांव के लिए आज पानी के एक बड़े प्रोजेक्ट का लोकार्पण हुआ है.’

इलाहाबाद से बनारस तक पाइपलाइन बिछाई गई है

पीएम मोदी ने कहा, ‘भले ही मैं प्रधानमंत्री हूं लेकिन एक सांसद के तौर पर अपने चार साल के काम का हिसाब दूंगा. मैं बनारस की जनता को पल-पल और पाई-पाई का हिसाब दूंगा. वाराणसी के हर वर्ग का जीवन स्तर ऊपर उठाने के लिए हमारी सरकार प्रयास कर रही है. काशी अब देश के चुनिंदा शहरों में शामिल है, जहां के घरों में पाइप से कुकिंग गैस पहुंच रही है. इसके लिए इलाहाबाद से बनारस तक पाइपलाइन बिछाई गई है. 40,000 से ज्यादा घरों तक पहुंचाने के लिए काम चल रहा है.’ इसी के साथ पीएम मोदी ने ‘भारत माता की जय’ के नारे के साथ अपना भाषण खत्म किया.

मोदी ने गिनाए काशी में 10 बड़े बदलाव…

1. आज यहां 550 करोड़ रुपए से ज्यादा के प्रोजेक्ट्स का या तो लोकार्पण हुआ है या फिर शिलान्यास हुआ है, विकास के ये कार्य बनारस शहर ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों से भी जुड़े हैं.

2. प्रधानमंत्री ने कहा कि हम लोग वाराणसी को उसकी पहचान के साथ आधुनिक विकास से जोड़ रहे हैं. पिछले चार साल में यहां पर काफी काम हुआ है, आज ये अंतर दिख रहा है. पहले काशी को भोले के भरोसे छोड़ दिया गया था, लेकिन अब वाराणसी को विकास की नई दिशा दी जा रही है.

3. काशी का चौतरफा विकास करना है. उन्होंने कहा कि आज काशी में लटके हुए तार नहीं दिखते हैं, हम वाराणसी को पूर्वी भारत के गेटवे के तौर विकसित किया जाता है. आज LED बल्ब से काशी जगमगा रही है.

4. वाराणसी शहर ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों को भी सड़क, बिजली, पानी जैसी सुविधाएं पहुंचाई गई हैं.

5. सांसद के रूप में जिन गांवों को विशेष रूप से विकसित करने का जिम्मा मेरे पास है उनमें से एक नागेपुर गांव के लिए आज पानी के एक बड़े प्रोजेक्ट का लोकार्पण किया गया है.

6. हम पूरे समर्पण के साथ बनारस में हो रहे परिवर्तन के इस संकल्प को और मजबूत करें. नई काशी, नए भारत के निर्माण में आगे बढ़कर अपना योगदान दें.

7. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज हवाई जहाज से वाराणसी आने वाले लोगों में बढ़ोतरी हो रही है, चार साल पहले यहां पर 8 लाख लोग आते थे और लेकिन अब 21 लाख लोग हवाई जहाज से काशी में आते हैं.

8. प्रधानमंत्री ने कहा कि अब गंगा में नांव के साथ-साथ क्रूज़ भी चलाया जा रहा है. हमारी कोशिश है कि पर्यटकों को काशी में कोई परेशानी ना हो, इसके लिए पूरी कोशिश की जा रही है. सारनाथ में आज लाइट एंड साउंड का काम किया गया है.

9. नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगले साल की शुरुआत में दुनिया भर में बसे भारतीय का कुंभ काशी में लगेगा यानी पूरी दुनिया में बसे हिंदुस्तानी यहां आएंगे. बता दें कि अगले साल होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन वाराणसी में किया जाएगा.

10. गंगा सफाई के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मां गंगा की सफाई के लिए गंगोत्री से लेकर गंगा सागर तक काम चल रहा है, इसके लिए 21 हजार करोड़ से अधिक की योजनाओं को स्वीकृति दी जा चुकी है. वाराणसी में भी गंगा सफाई से जुड़े कई बड़े प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है.

मिले तोहफे – लोकार्पण

-362 करोड़ : शहरी विद्युत सुधार कार्य, पुरानी काशी (आइपीडीएस)

-84.61 करोड़ : 3722 मजरो में विद्युतीकरण का काम

-9.90 करोड़ : सिंगल फेज के 90 हजार मीटर लगाने का काम

-2.80 करोड़ : 33 केवी विद्युत उपकेंद्र बेटावर का निर्माण

-2.58 करोड़ : 33 केवी विद्युत उपकेंद्र कुरुसातो का निर्माण

-2.74 करोड़ : नागेपुर ग्राम पेयजल योजना

-20 करोड़ : बीएचयू में अटल इन्क्यूबेशन सेंटर।

मिले तोहफे- आधारशिला

-14.10 करोड़ : बीएचयू में वैदिक विज्ञान केंद्र की स्थापना

-34 करोड़ : रीजनल इंस्टीट्यूट ऑफ आफ्थेल्मोलाजी

-23.08 करोड़ : 132 केवी विद्युत उपकेंद्र चोलापुर का निर्माण।

मिले तोहफे- बांटे रोजगार

-98 लाख : कुंभकारी उद्योग के तहत 260 विद्युत चालित चाक, आधुनिक भट्ठी

-53.25 लाख : हनी मिशन के तहत 500 मधुमक्खी बॉक्स

– 7.50 लाख : खादी व सोलर वस्त्र के अंतर्गत 3 रेडीबार्प मशीन। https://www.kanvkanv.com

 

 

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

वीडियो : PM मोदी ने दी शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि, रूसी दूतावास ने भी जताया दुख, रविवार को अंतिम संस्कार

Published

on

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला व संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार शाम दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के आवास पर जाकर उन्हें श्रद्धांजली दी। इस दौरान पीएम मोदी ने शीला के बेटे और पूर्व सांसद संदीप दीक्षित से मुलाकात भी की। शीला दीक्षित का शनिवार दोपहर 81 वर्ष की आयु में निधन हो गया।

शीला दीक्षित के पार्थिव शरीर को उनके निजामुद्दीन स्थित आवास पर आम लोगों के दर्शनार्थ रखा गया है। रविवार दोपहर उनका पार्थिव शरीर 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय पर रखा जाएगा। शाम को उन्हें निगमबोध घाट ले जाया जाएगा, जहां उनका अंतिम दाह-संस्कार किया जाएगा।

मातृ तुल्य थीं शीला-बिरला

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने पूर्व मुख्यमंत्री के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इससे पहले संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी दिवंगत नेता को पुष्पांजलि अर्पित की।

लोकसभा अध्यक्ष ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि वह मातृ तुल्य थीं। एक सामाजिक और राजनीतिक कार्यकर्ता के तौर पर उन्होंने दिल्ली के  लिए बहुत काम किया है। पूरा देश उनके निधन से दुखी है।

रूसी दूतावास ने भी जताया दुख

रूसी दूतावास ने ट्वीट कर दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन पर जताया दुख। दूतावास ने कहा कि शीला दीक्षित ने दोनों देशों के दोस्ताना संबंधों में अहम भूमिका निभाई।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दी शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि दी। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading

देश

घर लाया गया शीला दीक्षित का पार्थिव शरीर, रविवार को होगा अंतिम संस्कार, जानें दिवंगत नेता का सियासी सफर

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस की वरिष्ठ नेता व दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का शनिवार को निधन हो गया। 81 वर्षीय शीला दीक्षित लंबे समय से बीमार थीं। कांग्रेस ने उन्हें दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दे रखी थी। वह लंबे समय से बीमार चल रही थीं।
उनका एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था। एस्कॉर्ट्स हॉस्पिटल के निदेशक डॉ. अशोक सेठ ने कहा कि सीने में दर्द के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें दोपहर 3.15 मिनट पर दोबारा दिल का दौरा पड़ा था जिसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था जहां उन्होंने 3.55 पर अंतिम सांस ली। शीला दीक्षित का अंतिम संस्कार रविवार को दोपहर ढाई बजे दिल्ली के निगमबोध घाट पर होगा। आज शाम 6 बजे से निजामुद्दीन स्थित घर पर अंतिम दर्शन के लिए पार्थिव शरीर रखा जाएगा।

दिल्ली में दो दिन का राजकीय शोक

पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन पर दिल्ली में दो दिनों का राजकीय शोक घोषित किया गया है। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसका ऐलान किया।

शीला दीक्षित का एक परिचय

कांग्रेस की कद्दावर नेता रहीं शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ। उन्होंने दिल्ली के कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी स्कूल से पढ़ाई की और फिल दिल्ली यूनिवर्सिटी के मिरांडा हाउस कॉलेज से मास्टर्स ऑफ आर्ट्स की डिग्री हासिल की। शीला दीक्षित का राजनीतिक सफर उतार-चढ़ाव भरा रहा है। शीला की कांग्रेस के बड़े नेता उमाशंकर दीक्षित के बेटे विनोद दीक्षित से शादी हुई थी। इसी के साथ उनका राजनीतिक सफर भी शुरू हुआ था। दिल्ली की सबसे ज्यादा समय यानी 15 साल तक (1998 से 2013) तक मुख्यमंत्री रही हैं। शीला के बारे में कहा जाता है कि वह सबको साथ लेकर चलती हैं। मुख्यमंत्री रहते हुए भी वह जमीनी स्तर पर कार्यकर्ताओं से जुड़ी रही।

दिल्ली में तीन बार लगातार कार्यकाल संभालने के बाद 2013 में उन्हें उन्हीं की नई दिल्ली सीट से आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने हरा दिया था। इसके बाद उन्हें केरल का राज्यपाल बनाया गया। इस बीच केन्द्र में सरकार बदल गई और उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा। उत्तर प्रदेश में 2017 के चुनावों के दौरान उन्हें ब्राह्मण चेहरे के तौर पर मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया गया  था।

शीला दीक्षित दिल्ली के कान्वेंट स्कूल में पढ़ीं। बाद में उन्होंने दिल्ली के मिरांडा हाउस कॉलेज से कला में स्नातक की डिग्री हासिल की। उन्होंने 1984 से लेकर 1989 तक कन्नौज लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व किया। इस दौरान वह संसदीय कार्य राज्यमंत्री और प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री रही। 1998 में शीला दीक्षित दिल्ली की पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के लाल बिहारी तिवारी से हार गईं। शीला दीक्षित 1998 में दिल्ली की मुख्यमंत्री बनी। इसके बाद 15 साल तक मुख्यमंत्री रही। पहले पांच साल तक उन्होंने गोल मार्केट सीट और बाद में नई दिल्ली सीट का प्रतिनिधित्व किया।

आईएएस अधिकारी से हुई थी शादी

शीली दीक्षित की शादी यूपी के उन्नाव के आईएएस अधिकारी स्वर्गीय विनोद दीक्षित से हुई थी। बता दें कि विनोद दीक्षित बंगाल के पूर्व राज्यपाल और कांग्रेस के बड़े नेता स्वर्गीय उमाशंकर दीक्षित के बेटे थे। शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित भी दिल्ली के पूर्व सांसद रहे हैं। शीला दीक्षित के दो बच्चे हैं- संदीप दीक्षित और बेटी लतिका सैयद।

पीएम नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति ने दी श्रद्धांजलि

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर शीला दीक्षित ने निधन पर दुख जाहिर किया। पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘शीला दीक्षित जी के निधन से बेहद दुखी हूं। वह मिलनसार व्यक्तित्व की धनी थीं। दिल्ली के विकास के लिए उन्होंने अभूतपूर्व कार्य किए। उनके परिवार और समर्थकों को मेरी सांत्वना। ओम शांति।

कोविंद ने लिखा, शीला दीक्षित के निधन की खबर से दुखी हूं

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शीला दीक्षित के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ‘दिल्ली की पूर्व सीएम और सीनियर नेता शीला दीक्षित के निधन की खबर से दुखी हूं। उनका कार्यकाल दिल्ली में बदलाव का दौर था, जिसके लिए उन्हें याद किया जाएगा। उनके परिवार और साथियों के प्रति संवेदनाएं।

राहुल बोले, कांग्रेस की प्यारी बेटी थीं शीला

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी गांधी ने ट्वीट करते हुए शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने लिखा, ‘शीला जी के निधन की खबर से मैं बेहद दुखी हैं। वह कांग्रेस की एक प्यारी बेटी थीं, जिनसे व्यक्तिगत तौर पर मेरे संबंध थे। उनके परिवार और दिल्ली के नागरिकों के प्रति मैं संवेदना व्यक्ति करता हूं।

अरविंद केजरीवाल बोले, हमेशा करेंगे याद

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि दी है। केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘शीला दीक्षित जी के निधन की हाल ही में खबर मिली है। यह दिल्ली के लिए बड़ी क्षति है। उन्हें हमेशा याद किया जाएगा। उनके परिवार के सदस्यों के प्रति मैं ह्रदय से संवेदना व्यक्त करता हूं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।

मनमोहन ने कहा- खबर सुनकर हुआ हैरान

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शीला दीक्षित के निधन की खबर को हैरान कर देनेवाला बताया। उन्होंने कहा कि शीला दीक्षित के अचानक निधन की खबर ने हैरान किया। उनके निधन से देश ने कांग्रेस के एक समर्पित नेता को खो दिया। दिल्ली की जनता हमेशा उनके मुख्यमंत्री के कार्यकाल के दौरान शहर के विकास में दिए योगदान को लेकर याद करते रहेंगे। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

देश

नहीं रहीं दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, 81 साल की उम्र में निधन

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस की वरिष्ठ नेता व दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का शनिवार को निधन हो गया। 81 वर्षीय शीला दीक्षित लंबे समय से बीमार थीं। कांग्रेस ने उन्हें दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दे रखी थी। वह लंबे समय से बीमार चल रही थीं।
उनका एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था। एस्कॉर्ट्स हॉस्पिटल के निदेशक डॉ. अशोक सेठ ने कहा कि सीने में दर्द के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें दोपहर 3.15 मिनट पर दोबारा दिल का दौरा पड़ा था जिसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था जहां उन्होंने 3.55 पर अंतिम सांस ली। शीला दीक्षित का अंतिम संस्कार रविवार को दोपहर ढाई बजे दिल्ली के निगमबोध घाट पर होगा। आज शाम 6 बजे से निजामुद्दीन स्थित घर पर अंतिम दर्शन के लिए पार्थिव शरीर रखा जाएगा।

पीएम नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति ने दी श्रद्धांजलि

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर शीला दीक्षित ने निधन पर दुख जाहिर किया। पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘शीला दीक्षित जी के निधन से बेहद दुखी हूं। वह मिलनसार व्यक्तित्व की धनी थीं। दिल्ली के विकास के लिए उन्होंने अभूतपूर्व कार्य किए। उनके परिवार और समर्थकों को मेरी सांत्वना। ओम शांति।

कोविंद ने लिखा,  शीला दीक्षित के निधन की खबर से दुखी हूं

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शीला दीक्षित के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ‘दिल्ली की पूर्व सीएम और सीनियर नेता शीला दीक्षित के निधन की खबर से दुखी हूं। उनका कार्यकाल दिल्ली में बदलाव का दौर था, जिसके लिए उन्हें याद किया जाएगा। उनके परिवार और साथियों के प्रति संवेदनाएं।

राहुल बोले, कांग्रेस की प्यारी बेटी थीं शीला

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी गांधी ने ट्वीट करते हुए शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने लिखा, ‘शीला जी के निधन की खबर से मैं बेहद दुखी हैं। वह कांग्रेस की एक प्यारी बेटी थीं, जिनसे व्यक्तिगत तौर पर मेरे संबंध थे। उनके परिवार और दिल्ली के नागरिकों के प्रति मैं संवेदना व्यक्ति करता हूं।

अरविंद केजरीवाल बोले, हमेशा करेंगे याद

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि दी है। केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘शीला दीक्षित जी के निधन की हाल ही में खबर मिली है। यह दिल्ली के लिए बड़ी क्षति है। उन्हें हमेशा याद किया जाएगा। उनके परिवार के सदस्यों के प्रति मैं ह्रदय से संवेदना व्यक्त करता हूं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।

शीला दीक्षित का एक परिचय

कांग्रेस की कद्दावर नेता रहीं शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ। उन्होंने दिल्ली के कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी स्कूल से पढ़ाई की और फिल दिल्ली यूनिवर्सिटी के मिरांडा हाउस कॉलेज से मास्टर्स ऑफ आर्ट्स की डिग्री हासिल की। शीला दीक्षित साल 1984 से 1989 तक उत्तर प्रदेश के कन्नौज से सांसद रहीं। शीला दीक्षित राजीव गांधी सरकार में केन्द्रीय मंत्री भी रह चुकी हैं। इसके बाद वह 2014 में केरल की राज्यपाल भी रहीं।
शीला दीक्षित साल 1998 से 2013 तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं। उनके नेतृत्व में लगातार तीन बार कांग्रेस ने दिल्ली में सरकार बनाई। वह सबसे लंबे समय (15 साल) तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं।

आईएएस अधिकारी से हुई थी शादी

शीली दीक्षित की शादी यूपी के उन्नाव के आईएएस अधिकारी स्वर्गीय विनोद दीक्षित से हुई थी। बता दें कि विनोद दीक्षित बंगाल के पूर्व राज्यपाल और कांग्रेस के बड़े नेता स्वर्गीय उमाशंकर दीक्षित के बेटे थे। शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित भी दिल्ली के पूर्व सांसद रहे हैं। शीला दीक्षित के दो बच्चे हैं- संदीप दीक्षित और बेटी लतिका सैयद। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading

राज्य8 hours ago

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को पीड़ित परिवारों से मिलने जाएंगे सोनभद्र

राज्य8 hours ago

श्रावस्ती : भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष की ह्रदयगति रुकने से मौत, कार्यकर्ताओं में शोक की लहर

देश8 hours ago

वीडियो : PM मोदी ने दी शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि, रूसी दूतावास ने भी जताया दुख, रविवार को अंतिम संस्कार

राज्य9 hours ago

यूपी : उपनिरीक्षक की करतूत से खाकी हुई दागदार, किशोरी के साथ होटल में गुजारी दो रात, ये है पूरा मामला

राज्य9 hours ago

बहराइच : संभावित बाढ़ से बचाव की तैयारियों को लेकर मंत्री ने कसे अफसरों के पेंच

राज्य9 hours ago

श्रावस्ती : 1.100 किलो ग्राम चरस के साथ अंतर्जनपदीय चोरों का गिरोह गिरफ्तार

राज्य9 hours ago

श्रावस्ती : प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेसियों ने डीएम को राज्यपाल के नाम दिया ज्ञापन

राज्य9 hours ago

श्रावस्ती : लापरवाही बरतने पर लेखपाल को प्रतिकूल प्रविष्टि व राजस्व निरीक्षक को मिली चेतावनी

राज्य9 hours ago

गोण्डा : परिश्रम के सामने सभी लक्ष्य बौना : डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य

राज्य9 hours ago

गोंडा : ग्राम न्यायालय के विरोध में अधिवक्ताओं ने खोला मोर्चा, निकाला जुलूस

राज्य9 hours ago

गोंडा : डीआईजी ने पेंशनरों के साथ की गोष्ठी, समस्याएं सुन अफसरों को दिए निर्देश

देश12 hours ago

घर लाया गया शीला दीक्षित का पार्थिव शरीर, रविवार को होगा अंतिम संस्कार, जानें दिवंगत नेता का सियासी सफर

हेल्थ12 hours ago

बारिश में बढ़ जाता है अपेन्डिक्स के दर्द, जानें कारण और उपचार

देश13 hours ago

नहीं रहीं दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, 81 साल की उम्र में निधन

मनोरंजन14 hours ago

रेप केस में पंचोली को 3 अगस्त तक गिरफ्तारी से छूट, अभिनेत्री ने पुलिस को बताई थी दरिंदगी की ये पूरी दास्तां

हेल्थ14 hours ago

ये हैं वो छोटी-छोटी आदतें जिससे कम हो रहा आपका स्पर्म, बढ़ाने के लिए इन असरदार चीजों को खाएं

टेक्नोलॉजी15 hours ago

Google पिक्सेल 4, पिक्सेल 4 XL में होगा 6 जीबी रैम, इस महीने होगा लॉन्च, जानें स्पेसिफिकेशन

दुनिया15 hours ago

ईरान ने जब्त किए ब्रिटिश टैंकर, क्रू में भारतीय भी शामिल, यूके ने कहा-परिणाम भुगतने को रहो तैयार

देश2 weeks ago

पत्नी एम्स में थी नर्स, पति को चरित्र पर था शक, बीवी व 3 बच्चों की हत्या कर किया सुसाइड

वीडियो1 week ago

भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी ने दलित युवक से की शादी, कहा-पिता से जान का खतरा, देखें वीडियो

देश2 weeks ago

नई नवेली दुल्हन ने वॉट्सएप पर लोकेशन भेज प्रेमी को बुलाया, पति देखता रहा और कर दिया ये बड़ा कांड

राज्य7 days ago

नशेबाज व गुंडा प्रवृत्ति का है साक्षी मिश्रा का कथित पति अजितेश, लिखता है क्षत्रिय, कई युवतियों से हैं संबंध

देश4 weeks ago

रात में टहल रही थीं दो सगी बहनें, 8 लड़कों ने किया रेप, वीडियो भी बनाया

हेल्थ3 weeks ago

बैली फैट को कम करने में अंडा है बेहद कारगर, अपनाएं ये रेसिपी

वीडियो3 weeks ago

देखें वीडियो : आमिर की बेटी इरा ने बॉयफ्रेंड संग किया रोमांटिक डांस, यूजर बोले-पिता का नाम बदनाम कर रही

बिज़नेस4 weeks ago

कारोबारी सप्ताह के आखिरी दिन शेयर बाजार में मायूसी, 219 अंक फिसला सेंसेक्स

राज्य1 week ago

दलित से शादी करने वाली BJP विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा के पति की पहले हो चुकी है सगाई, देखें फोटो

राज्य7 days ago

साक्षी मिश्रा के बाद इस लड़की ने भी की इंटरकास्ट शादी, पिता बोले-वापस आओ नहीं बन जाऊंगा मुसलमान

दुनिया4 weeks ago

US के ड्रोन को मार गिराए जाने से अमेरिका और ईरान के बीच सैन्य टकराव की बढ़ी आशंका

मनोरंजन4 weeks ago

लखनऊ की मिजाजी शाम में महानायक अमिताभ ने की शूटिंग, भुट्टा खाते हुये आए नजर

देश3 weeks ago

हाई प्रोफाईल सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, पांच महिलाओं सहित 9 गिरफ्तार, 7 मॉडलों को कराया मुक्त

राज्य3 weeks ago

पढ़ाई में बहन थी तेज, कमजोर करने के लिए भाई करने लगे गैंगरेप, इस तरह हुआ खुलासा

वीडियो2 weeks ago

अमरनाथ श्रद्धालुओं पर गिरने लगे पत्थर तो चट्टान बनकर खड़े हो गए जवान, देखें सांसे थमा देने वाला वीडियो

राज्य1 week ago

दलित से शादी करने वाली भाजपा विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा ने की पापा से बात, मिला ये जवाब 

देश5 days ago

पिता ने पैर छूने झुकी गर्भवती बेटी का काटा गला, सामने आई हत्या की ये बड़ी वजह

राज्य4 weeks ago

बरेली : उर्स-ए-ताजुशारिया को लेकर कलेक्ट्रेट सभागार में हुई बैठक

Trending