Connect with us

देश

मोदी कैबिनेट का बड़ा ऐलान, 80 करोड़ लोगों को मिलेगा 2 रुपये में गेहूं और 3 रुपये में चावल

Published

on

नई दिल्ली। देश में कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 21 दिन के लॉक डाउन को देखते हुए सरकार ने आम जनता को राहत देने के लिए एक बड़ा फैसला किया है। बुधवार को प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में 80 करोड़ लोगों को सस्ते दर अनाज देने का फैसला किया गया है। इसके तहत 27 रुपए किलो बिकने वाला गेहूं मात्र 2 रुपए तो 37 रुपए प्रति किलो वाला चावल 3 रुपए प्रति किलो मिलेगा।

मंत्रिमंडल के बैठक में लिए गए फैसलों  की जानकारी देते हुए केंद्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि केन्द्र सरकार ने राज्य सरकारों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के लिए 3 महीने का एडवांस सामान खरीदने को कहा है। इससे पहले, उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि बेनिफिशियरी पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम (पीडीएस) के तहत एक बार में 6 महीने का राशन ले सकते हैं। सरकार ने ये फैसला कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए लिया है। सरकार के बताया कि उसके पास 435 लाख टन सरप्लस अनाज है। इसमें 272.19 लाख टन चावल, 162.79 लाख टन गेहूं है।

गौरतलब है कि सरकार पीडीएस सिस्टम के तहत देश भर के 5 लाख राशन दुकानों पर लाभार्थियों  को प्रतिमाह अनाज रियायती दर पर देती है। इस पर सरकार को सालाना 1.4 लाख करोड़ रुपये खर्च आता है। नेशनल फूड सिक्योरिटी एक्ट के तहत राशन की दुकानों में अनाज रियायती दर पर मिलता है। कार्ड धारकों को इसके तहत 3 रुपये प्रति किलोग्राम चावल, 2 रुपये प्रति किलोग्राम गेहूं और 1 रुपये प्रति किलोग्राम मोटा अनाज दिया जाता है। परिवार के सदस्य़ों की संख्या के आधार पर उसकी मात्रा निर्धारित होती है। सरकार ने कोरोना के मद्देनजर अब 80 करोड़ लोगों तक इसका दायरा बढ़ा दिया है। सरकार शीघ्र ही राशन की दुकानों तक गेहूं, चावल आदि का आपूर्ति सुनिश्चित कर रही है।

READ  भाजपा में होने पर टीएमसी नेता के घर को लगाई आग, इलाके में तनाव, बड़ी संख्या में पुलिसबल तैनात

Coronavirus

आखिरकार कनिका की रिपोर्ट निगेटिव आई, अभी कुछ दिन और रहेंगी अस्पताल में  

Published

on

By

kanika kapoor

लखनऊ। आखिरकार बहुचर्चित, कोरोना पीड़ित बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर की पांचवी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। हांलाकि अभी वह कुछ दिन अस्पताल में ही रहेंगी। जब उनकी छठी रिपोर्ट भी नेगेटिव आएगी तभी उनको डिस्चार्ज किया जाएगा। लखनऊ के एसजीपीजीआई में भर्ती कनिका कपूर की हालत में सुधार है। शुक्रवार को भी उनका सैंपल लेकर जांच को भेजा गया। बॉलीवुड गायिका की हर दूसरे दिन जांच कराई जा रही है। उन्हें अब अन्य किसी तरह की दिक्कत नहीं है। वह खाने-पीने के साथ दवाएं भी ले रही हैं। वहीं, पीजीआई में भर्ती दो संदिग्ध मरीजों के भी सैंपल लिए गए हैं।

इलाज करने वाली पूरी टीम की भी हो रही जांच

इसके साथ ही इलाज में लगी पूरी टीम के भी सैंपल जांच को भेजे गए। एसजीपीजीआई में 36 सैंपल लिए गए। इनमें सात परिसर में रहने वाले तो एक राजधानी क्षेत्र का है। पांच ऐसे भी लोगों के सैंपल लिए गए, जो होम क्वारंटीन हैं।

कोरोना से मशहूर हुईं कनिका

बॉलीवुड स्टार कही जाने वाली कनिका कपूर को पहले लोग इतना नहीं जानते थें जितना उनको कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद जाना गया। कनिका लखनऊ कब आई और कब तक रहीं किसी को इसकी जानकारी नहीं थी वह लगातार लखनऊ में पार्टी करती रही जिसमें शासन सत्ता से जुडे़ लोगों की मौजूदगी इन पार्टियों में चार चांद लगा रही थी, नवाबों के इस शहर के पॉश इलाके में एक हसीन गायिका कनिका कपूर की रंगारंग नाइट पार्टियां चल रही थीं। लेकिन अचानक जब उनकी हालत बिगड़ी और उन्हे अस्पताल ले जाया गया तब पूरे मामले का खुलासा हुआ और लखनऊ कानपुर ही नहीं पूरे प्रदेश में हड़कंप मच गया था।

READ  बांग्लादेशी घुसपैठिए ममता बनर्जी के वोट बैंक, इसलिए TMC कर रही एनआरसी का विरोध : शाह

पीजीआई में 4 नमूने पॉजिटिव निकले, -तीन औरैया के और एक बाराबंकी का

लखनऊ। पीजीआई में हुई जांच में शनिवार को कोरोना संक्रमण के 4 मामले पॉजिटिव आये हैं। इनमें तीन औरैया के और एक बाराबंकी का है। पीजीआई की पीआरओ कुसुम यादव ने बताया कि पीजीआई में शुक्रवार को 73 नमूने जांच के लिए आये थे। इनमें कनिका समेत 5 पीजीआई के नमूने थे। यह सभी निगेटिव आये है। पीजीआई के कोरोना वार्ड में 4 संदिग्ध भर्ती हैं। शनिवार को 34 नमूने जांच के लिए भेजे गए है। इनमे कानपुर के 22, प्रतापगढ़ के 6, चित्रकूट का एक और पीजीआई के पांच नमूने भेजे गये है।

Continue Reading

देश

प्रधानमंत्री मोदी 8 अप्रैल को विपक्षी नेताओं से करेंगे बात

Published

on

By

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आगामी 8 अप्रैल को 11 बजे विपक्षी पार्टियों के नेताओं से बात करेंगे। केंद्रीय संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने शनिवार को बताया कि यह बातचीत वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगी।

प्रधानमंत्री की बातचीत में राजनीतिक दलों के लोकसभा या राज्यसभा में सदन के नेता शामिल होंगे। इसमें ऐसे दलों को शामिल किया गया है जिनके दोनों सदनों में सदस्यों की संख्या कम से कम 5 या फिर उससे अधिक है।दरअसल, देश इस समय 21 दिन के लाॅकडाउन के दौर से गुजर रहा है।

ऐसे में प्रधानमंत्री जनता में अपनी बात पहुंचाने या फिर मंत्रियों से बात करने या राज्यों के मुख्यमंत्रियों आदि से वीडिय़ो कांफ्रेंसिंग के जरिए ही बातचीत कर रहे हैं और तैयारियों का जायजा भी ले रहे हैं, ताकि कोविड-19 के बढ़ते खतरे की चुनौतियों के लिए तैयारियां पूरी तरह से चुस्त-दुरुस्त रहें। इसी क्रम में अब 8 अप्रैल को वे विपक्षी पार्टियों के नेताओं से बातचीत कर उनका नजरिया जानेंगे।

READ  बंगाल हिंसा पर बोले शाह, CRPF न होती तो मेरा बचना मुश्किल था, चुनाव आयोग पर लगाए ये आरोप
Continue Reading

Coronavirus

देश में Corona के 30 फीसदी मामले तबलीगी जमात से जुड़े

Published

on

By

आपदा

-वायरस की चपेट में आने से अब तक 68 लोगों की मौत
-देश में 2902 लोग Corona संक्रमित पाए गए

नई दिल्ली। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश में अब तक कुल 2902 लोग Corona संक्रमित पाए गए हैं, इनमें से 68 लोगों की मौत हो गई है तो 183 लोग ठीक हुए हैं। पिछले 24 घंटों में 601 नए मामले आए हैं। यह एक दिन में मिले कोरोना संक्रमितों का अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह भी कहा है कि देश में आए कुल मामलों में से 1023 केस यानी 30 फीसदी तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने शनिवार को बताया कि तबलीगी जमात से जुड़े केस तमिलनाडु, दिल्ली, राजस्थान, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक, अंडमान निकोबार, उत्तराखंड, हिमाचल, झारखंड सहित 17 राज्यों से सामने आए हैं।

अब हर दिन 10 हजार टेस्ट

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने कहा कि जांच की संख्या जरूरत के मुताबिक बढ़ाई जा रही है। अब प्रतिदिन 10 हजार जांच किए जा रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि 31 हजार रिटायर्ड डॉक्टर वॉलंटियर के रूप में सामने आए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि 97 कार्गो जहाजों के जरिए 1019 टन मेडिकल सामान राज्यों को भेजा गया है।

22 हजार लोग किए गए क्वारंटाइन

वहीं गृह मंत्रालय कि संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने कहा कि तबलीगी जमात में शामिल लोगों के संपर्क में आए 22 हजार लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। गौरतलब है कि दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में शामिल हुए हजारों लोग देश के अलग-अलग हिस्सों में जा चुके हैं। राज्य सरकारें युद्धस्तर पर उनको ट्रेस करके क्वारंटाइन कर रही हैं। इस बीच इन लोगों के संपर्क में आए अन्य लोगों को भी क्वारंटाइन किया जा रहा है।

READ  यूपी : काम के बोझ से अवसाद में आकर डिप्टी सीएमओ ने की आत्महत्या, प्रशासन में खलबली
Continue Reading

Trending