Connect with us

देश

1 जुलाई 2020 की यादगार तस्वीर : आतंकी गोलियां बरसा रहे थे, 3 साल के मासूम को फौजी ने बचाया

Published

on

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के सोपोर में बुधवार को एक जांबाज जवान ने अपनी जान पर खेलकर 3 साल के मासूम को बचाकर इंसानियत की तस्वीर पेश की। दरअसल आज सुबह आतंकियों ने सोपोर के रेबन मॉडल टाउन में सीआरपीएफ की पार्टी पर हमला कर दिया। हमला सरेआम एक बाजार में किया गया। हमले में CRPF के दो जवान शहीद हो गए। जबकि एक जवान घायल है। दो नागरिकों की भी आतंकियों की गोली से मौत हो गई। इनमें एक 60 साल के बुजुर्ग भी हैं।

आतंकी बरसा रहे थे गोलियां, जवान ने बच्चे को बचाया, वायरल हो रही फोटो

आतंकी बरसा रहे थे गोलियां, जवान ने बच्चे को बचाया, वायरल हो रही फोटो

जिद पर बच्चे को बाजार लेकर आए थे बशीर

बुजुर्ग का नाम है बशीर अहमद। बशीर अपने 3 साल के नाती सोहेल की जिद की वजह से उसे बाजार लेकर आए थे। गोलीबारी के बीच बशीर को भी गोली लगी तो वहीं सड़क पर गिर पड़े। गोलीबारी के बीच सोहेल नाना बशीर के शव पर तब तक बैठा रहा जब तक जवान ने उसे वहां से हटाया नहीं। सोहेल को ये नहीं पता था कि उसके नाना के साथ क्या हुआ है। जमीन पर खून से लथपथ नाना के शव पर वह उसी तरह बैठा था जैसे कभी वो उनकी गोद में खेलता होगा। लेकिन नाना का शरीर गोलियों से छलनी था और उनके कपड़े खून से सने थे। जवानों ने जब सोहेल को बुलाया तो सोहेल एक जवान के पास गए।

नाना अपने नाती को गोद में उठा नहीं सकते थे। तभी एक CRPF के एक जवान ने बच्चे को अपनी तरफ बुलाया। उस समय भी गोलीबारी चल रही थी। बच्चा नाना के शव से उठकर उस जवान की तरफ बढ़ा। इसके बाद एक जवान ने बच्चे को सुरक्षित एनकाउंटर वाली जगह से दूर ले गया। ताकि बच्चा सुरक्षित रह सके। सोहेल रो रहा था। वह डरा हुआ था। बच्चे को बिस्किट और चॉकलेट दिया गया। लेकिन उसे कुछ समझ में नहीं आ रहा था।

इसके बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस की वैन में बच्चे को उसके घर पहुंचाया गया। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें बच्चा रोते हुए घर और अपनी मां के पास जाने की बात कर रहा है। पुलिस वाले उसे समझा रहे हैं। आज यानी 1 जुलाई 2020 की एक तस्वीर लोग हमेशा याद रखेंगे।

देश

विश्वकर्मा इंटर प्राइजेज स्टील फैक्ट्री में आग लगने से लाखों का सामान हुआ खाक

Published

on

यमुनानगर । जगाधरी में विश्वकर्मा इंटर प्राइजेज स्टील फैक्ट्री में अचानक आग लग गई जिससे लाखों रुपए का नुकसान हो गया। आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। शनिवार देर रात को लगी यह आग सुबह तक चलती रही, जिसको बुझाने के लिए मौके पर फायर ब्रिगेड की गाड़ियां भी पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।
करीब 50 लाख रुपए का हुआ नुकसान
 जगाधरी में गौरी शंकर आश्रम लिंक रोड पर विश्वकर्मा इंटर प्राइजेज स्टील फैक्ट्री में आग लगने के बाद भारी संख्या में लोग वहां इकट्ठा हो गए। इसी बीच लोगों ने फायर ब्रिगेड को इसकी सूचना दी। इस आग से फैक्ट्री में 10 से 12 लाख रुपए का तेल तथा 15 लाख रुपए की भट्ठी व कई मोटरें जल गई। जिससे फैक्ट्री मालिक को करीब 50 लाख रुपए का नुकसान हुआ। फैक्ट्री मालिक नरेश कुमार ने बताया कि रविवार सुबह छः बजे उन्हें लोगों से सूचना मिली जिसके बाद वह मौके पर पहुंचे और फायर ब्रिगेड को फोन किया। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि सबसे पहले बिजली की तारों में आग लगी और उसके बाद तेल के टैंक में आग लगी जिससे उसका भारी नुकसान हुआ।
Continue Reading

देश

‘गिड़गिड़ा रहा था विकास दुबे, कह रहा था मुझे यूपी पुलिस के हवाले मत करो’

Published

on

भोपाल। मध्य प्रदेश के उज्जैन में तैनात एक पुलिस के जवान ने एक स्थानीय अखबार से बातचीत में विकास दुबे को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया है। जवान ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद जब हमारी पुलिस टीम विकास को यूपी पुलिस के हवाले करने जा रही थी तो विकास रास्ते में गिड़गिड़ा रहा था कि मुझे यूपी पुलिस के हवाले मत करो।

जवान के मुताबिक, विकास को पता था कि कानपुर कांड के बाद यूपी में लगातार उसके साथियों का एनकाउंटर हो रहा है। ऐसे में विकास दुबे के मन में भी यह डर बैठा गया था कि उज्जैन पुलिस की टीम जब उसे यूपी एसटीएफ के हवाले करेगी तो उसे छोड़ेगी नहीं। इसीलिए वह ऐसा करने से मना कर रहा था।

उज्जैन जेल में ही रहने दो

जवान के मुताबिक, विकास को यूपी पुलिस के हवाले करने 16 जवानों की टीम गई थी। वह लगातार पुलिस की टीम से कहा रहा था कि मुझे उज्जैन जेल में ही डाल दो। एक जवान ने बताया कि वह उज्जैन में ही रखे जाने को लेकर रास्ते भर गिड़गिड़ा रहा था। एक बार तो पुलिसकर्मियों ने उसे सख्ती दिखाते हुए चुप रहने को कहा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उज्जैन में पुलिस की पूछताछ के दौरान विकास दुबे कई बार रोया भी था। उसने उज्जैन में अधिकारियों से भी गुहार लगाई थी कि मुझे कोर्ट में पेशी को बाद उज्जैन जेल में ही भिजवा दो। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से ही कोर्ट में उसकी पेश हुई। उसके बाद उज्जैन पुलिस ने गुना बॉर्डर पर ले जाकर उसे यूपी पुलिस के हवाले कर दिया।

एक दिन पहले ही आ गया था इंदौर

उज्जैन के एसपी मनोज कुमार सिंह ने बताया है कि वह गिरफ्तारी से एक दिन पहले ही उज्जैन पहुंच गया था। उन्होंने बताया कि अलवर से राजस्थान परिवहन निगम की बस से वह झालावाड़ पहुंचा था। झालावाड़ से वह बस के जरिए उज्जैन पहुंचा। वह सुबह 4 बजे के करीब देवास गेट बस स्टैंड पर उतरा था। वहां से ऑटो लेकर रामघाट गया। वहां स्नान ध्यान करने के बाद मंदिर में गया।

एसपी ने कहा है कि उज्जैन में अभी तक किसी भी व्यक्ति के द्वारा उसे संरक्षण देने की बात सामने नहीं आई है। उसके खुलासे पर हम जांचे करेंगे, उसके बाद ही कुछ कह पाएंगे। उज्जैन वह दर्शन करने के लिए ही आया था। हम लगातार यूपी पुलिस को इनपुट्स शेयर कर रहे हैं। जानकारी सामने आने के बाद मीडिया से भी शेयर करूंगा।

Continue Reading

Latest

सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में एक आतंकवादी ढेर

Published

on

श्रीनगर। सोपोर के रेबन इलाके में रविवार सुबह सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में एक आतंकवादी को मार गिराया। माना जा रहा है कि अभी और आतंकी सुरक्षाबलों के घेरे में फंसे हुए हैं। समाचार लिखे जाने तक मुठभेड़ जारी थी।
इलाके की घेराबंदी कर शुरू की तलाशी 
सुरक्षाबलों को रेबन इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इसके बाद सेना, पुलिस व सीआरपीएफ के जवानों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी  शुरू की।इस दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों को पास आता देख गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। इस मुठभेड़ में अभी तक सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को मार गिराया है।
Continue Reading

Trending