Connect with us

देश

दिल्ली का जीबी रोड, जिस सड़क का अंत नहीं…, पैसै अच्छे नहीं मिले तो बदल देते हैं कोठे, जानें खौफनाक सच

Published

on

रीतू तोमर

नई दिल्ली । दिल्ली की एक सड़क है, जिसका नाम सुनते ही लोगों की भौंहें तन जाती हैं और वे दबी जुबान में फुसफुसाना शुरू कर देते हैं। स्कूल में जब मैंने पहली बार इसके बारे में सुना था, तो कौतूहल था कि आखिर कैसी होगी यह सड़क? फिल्मों में अक्सर देखे गए कोठे याद आने लगते थे। याद आती थी दिल्ली, सेक्स वर्कर्स, कोठे, मालकिन, जीबी रोड, जिस्मफरोशी, अवैध सेक्स धंधा, दिल्ली का जीबी रोडमर्दो को लुभाने वाली सेक्स वर्कर्स, जिस्म की मंडी चलाने वाली कोठे की मालकिन और न जाने क्या-क्या। यही कौतूहल इतने सालों बाद मुझे जी.बी. रोड खींच लाया। बीते रविवार सुबह आठ बजे जब मैं जी.बी.रोड पहुंची, तो यह सड़क दिल्ली की अन्य सड़कों की तरह आम ही लगी। सड़क के दोनों ओर दुकानों के शटर लगे हुए थे। इन दुकानों के बीच से ही सीढ़ी ऊपर की ओर जाती हैं और सीढ़ियों की दीवारों पर लिखे नंबर कोठे की पहचान कराते हैं। कुछ लोग सड़कों पर ही चहलकदमी कर रहे हैं और हमें हैरानी भरी नजरों से घूर रहे हैं। हमने तय किया कि कोठा नंबर 60 में चला जाए।

एनजीओ में काम करने वाले अपने एक मित्र के साथ फटाफट सीढ़ियां चढ़ते हुए मैं ऊपर पहुंची, चारों तरफ सन्नाटा था। शायद सब सो रहे थे, आवाज दी तो पता चला, सब सो ही रहे हैं कि तभी अचरज भरी नजरों से हमें घूरता एक शख्स बाहर निकला। बड़े मान-मनौव्वल के बाद बताने को तैयार हुआ कि वह राजू (बदला हुआ नाम) है, जो बीते नौ सालों से यहां रह रहा है और लड़कियों (सेक्स वर्कर्स) का रेट तय करता है। पहचान उजागर न करने की शर्त के साथ राजू ने एक सेक्स वर्कर सुष्मिता (बदला हुआ नाम) से हमारी मुलाकात कराई, जिसे जगाकर उठाया गया था। मैं सुष्मिता से अकेले में बात करना चाहती थी, लेकिन राजू को शायद डर था कि कहीं वह कुछ ऐसा बता न दे, जो उसे बताने से मना किया गया है।

नौकरी का झांसा देकर सुष्मिता को बेच दिया

सुष्मिता की उम्र 23 साल है और उसे तीन साल पहले नौकरी का झांसा देकर पश्चिम बंगाल से दिल्ली लाकर यहां बेच दिया गया था। सुष्मिता ठीक से हिंदी नहीं बोल पाती, वह कहती है, मैं पश्चिम बंगाल से हूं, मेरा परिवार बहुत गरीब है। एक पड़ोसी का हमारे घर आना-जाना था। उसने कहा, दिल्ली चलो। वहां बहुत नौकरियां हैं तो उसके साथ दिल्ली आ गई। एक दिन तो मुझे किसी कमरे में रखा और अगले दिन यहां ले आया। यह पूछने पर कि क्या वह अपने घर लौटना नहीं चाहती है? काफी देर चुप रहकर वह कहती है, नहीं। घर नहीं जा सकती। बहुत मजबूरियां हैं। यहां खाने को मिलता है, कुछ पैसे भी मिल जाते हैं, जो छिपाकर रखने पड़ते हैं। सुष्मिता बीच में ही कहती है, किसी को बताना मत..। इससे आगे कुछ पूछने की हिम्मत की नहीं हुई। सुष्मिता है तो 23 की, लेकिन उसका शरीर देखकर लगता है कि जैसे 15 या 16 की होगी, दुबली-पतली कुपोषित लगती है।

इमारत की पहली और दूसरी मंजिल पर जिस्मफरोशी का धंधा चलता है

इमारत की पहली और दूसरी मंजिल पर जिस्मफरोशी का धंधा चलता है। इच्छी हुई कि इन कमरों के अंदर देखा जाए कि यहां कैसे रहते हैं? अंदर घुसी की एक अजीब सी गंध ने नाक ढकने को मजबूर कर दिया। इतने छोटे और नमीयुक्त कमरे हैं, सोचती रही कि कोई यहां कैसे रह सकता है। राजू बताता है कि एक कोठे में 13 से 14 सेक्स वर्कर हैं और सभी अपनी मर्जी से धंधा करती हैं लेकिन गीता (बदला हुआ नाम) की बात सुनकर लगा कि ये मर्जी में नहीं मजबूरी में धंधा करती हैं। गीता कहती है, जैसे आप नौकरी करके पैसे कमाती हो। वैसे ही ये हमारी नौकरी है। आप बताइए, हमारी क्या समाज में इज्जत है, कौन हमें नौकरी देगा। जिस्म बेचकर ही हम अपना घर चला रहे हैं। बेटी को पढ़ा रही हूं, ये छोड़ दूंगी तो बेटी का क्या होगा।

अच्छे पैसे नहीं मिलने पर बदलना पड़ता है कोठा

गीता कहती है कि वो एक साल में तीन कोठे बदल चुकी है। वजह पूछने पर कहती है, पैसे अच्छे नहीं मिलेंगे तो कोठा तो बदलना पड़ेगा ना। गीता की ही दोस्त रेशमा (बदला हुआ नाम) कहती है, हम जैसे हैं, खुश हैं। सरकार हमारे लिए क्या कर रही है। हमारे पास ना राशन कार्ड है, ना वोटर कार्ड ना आधार। हमारे पास कोई वोट मांगेन भी नहीं आता। सरकार ने हमारे लिए क्या किया। कुछ नहीं। जेहन में ढेरों सवाल लेकर एक और कोठे पर गई, जहां 15 से लेकर 19 साल की कई सेक्स वर्कर मिली, जो शायद रातभर की थकान के बाद देर सुबह तक सो रही हैं।

जी.बी रोड का पूरा नाम गारस्टिन बास्टियन रोड

जी.बी रोड का पूरा नाम गारस्टिन बास्टियन रोड है, जहां 100 साल पुरानी इमारतें भी हैं। जगह-जगह दलालों के झांसे में नहीं आने और जेबकतरों और गुंडों से सावधान रहने की चेतावनी लिखी हुई है। इसके बारे में राजू कहते हैं, रात आठ बजे के बाद यहां का माहौल बदल जाता है। कोठे पर आने वालों की संख्या बढ़नी शुरू हो जाती है। अकेले आने वाले शख्स को जेबकतरे लूट लेते हैं, चाकूबाजी की भी कई वारदातें हुई हैं। यहां आकर लगता है कि एक शहर के अंदर कोई और शहर है। जिस्मफरोशी के लिए यहां लाई गई या यहां खुद अपनी मर्जी से पहुंचीं औरतों की जिंदगी दोजख से कम कतई नहीं है। अपने साथ कई सवालों के जवाब लिए बिना वापस जा रही हूं, इस उम्मीद में कि जल्द लौटकर जवाब बटोर लूंगी। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

अमृतसर ट्रेन हादसा : मंत्री सिद्धू की पत्नी ने बोला झूठ, फैमिली का करीबी है आयोजक

Published

on

अमृतसर । अमृतसर ट्रेन हादसे पर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सरकार ने न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं और 4 हफ्ते में पूरी रिपोर्ट मांगी है। लेकिन सवालों के घेरे में अमरिंदर कैबिनेट के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी नवजोत कौर हैं। क्योंकि जिस वक्त यह हादसा हुआ, नवजोत कौर रावण दहन कार्यक्रम के मंच पर मौजूद थीं और जिस जगह यह समारोह आयोजित किया गया वह नवजोत सिंह सिद्धू के विधानसभा क्षेत्र में आता है।

रावण दहन हादसा: सिद्धू फैमिली का करीबी है अमृतसर का आयोजक

यहां रावण दहन कार्यक्रम का आयोजन सौरभ मदन ने किया था। वह वार्ड काउंसिलर विजय मदन के बेटे हैं। काउंसलर विजय मदन को कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के परिवार का करीबी माना जाता है। कार्यक्रम में सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर मुख्य अतिथि के तौर पर भी बुलाई गई थीं। चश्मदीदों के मुताबिक कांग्रेस सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू रावण दहन के इस कार्यक्रम में मौजूद थीं और जैसे ही हादसा हुआ वह मौके से भागकर सुरक्षित जगह पर पहुंच गईं।

रावण दहन हादसा: सिद्धू फैमिली का करीबी है अमृतसर का आयोजक

लेकिन नवजोत कौर ने अस्पताल में मीडिया को बताया कि वहां से निकलने के 15 मिनट बाद हादसे के बारे में पता चला और वह घटनास्थल पर लौटने के लिए तैयार थीं। लेकिन कमिश्नर ने बताया कि वहां पथराव हो रहा है और इसी वजह से वो अस्पताल आकर घायलों का हाल-चाल लेने लगीं। उन्होंने कहा कि पीड़ितों की मदद के लिए भी यहां किसी का रहना जरूरी था और मैं आज रात यहीं रहकर इनके साथ रहूंगी। स्थानीय लोगों ने नवजोत कौर के खिलाफ नारेबाजी की और उनका इस्तीफा तक मांगा है।

वहीं अमृतसर से पूर्व सांसद और राज्य सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि हादसे से काफी दुखी हूं। उन्होंने कहा कि रेल को हॉर्न देना चाहिए क्योंकि पास में रावण दहन हो रहा था। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच होनी चाहिए।

पुलिस ने दशहरा कमेटी को दी थी रावण दहन की मंजूरी

पंजाब के अमृतसर में हुए भीषण ट्रेन हादसे से रेलवे और स्थानीय प्रशासन बेशक पल्ला झाड़ने की कोशिश कर रहे हो, लेकिन हकीकत यह है कि दशहरा कमेटी ने बाकायदा खत लिखकर पुलिस से सुरक्षा व्यवस्था की मांग की थी. साथ ही पुलिस ने दशहरा कार्यक्रम आयोजित करने की मंजूरी भी दी थी. असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर दलजीत सिंह ने दशहरा कमेटी को दिए जवाब में कहा था कि पुलिस को दशहरा कार्यक्रम आयोजित करने को लेकर कोई आपत्ति नहीं हैं.

इन दोनों के खत सामने आने के बाद से साफ हो गया है कि दशहरा कमेटी की ओर से स्थानीय प्रशासन को जानकारी दी गई थी और इसको आयोजित करने की मंजूरी ली गई थी. अभी तक स्थानीय प्रशासन कह रहा था कि इस कार्यक्रम का आयोजन करने के लिए इजाजत नहीं ली गई. अगर ऐसा है तो फिर पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर उस कार्यक्रम में ही क्यों पहुंचीं और उन्होंने आयोजक से इसकी परमिशन लेने के लिए क्यों नहीं कहा? वहीं, केंद्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा कह रहे हैं कि स्थानीय प्रशासन ने रेलवे को रावण दहन की कोई जानकारी नहीं दी थी. https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

देश

अमृतसर रेल हादसा : रेल परिचालन हुआ प्रभावित, जारी की गई रद्द ट्रेनों की लिस्ट

Published

on

संतोष राज पांडेय

पटना। अमृतसर में शुक्रवार को रावण दहन के दौरान हुए हादसे के बाद नॉर्दन रेलवे ने कई ट्रेनें रद्द कर दी है. जबकि कई ट्रेनों को डायवर्ट भी किया गया है. इस बात की जानकारी नॉर्दन रेलवे के सीपीआरओ दीपक कुमार ने दी. अमृतसर में हुए इस दर्दनाक रेल हादसे के बाद यात्रियों को परेशानी न हो इसके लिए रेलवे ने रद्द और डायवर्ट की गई ट्रेनों की लिस्ट जारी की है. ट्रेनों की लिस्ट इस प्रकार है.

रद्द की गई ट्रोनों की लिस्ट

ट्रेन नंबर 12460 अमृतसर – नई दिल्ली इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन नंबर 14681 नई दिल्ली – जलंधर एक्सप्रेस ट्रेन नंबर 12054 अमृतसर – हरिद्वार जन शताबादी एक्सप्रेस ट्रेन नंबर 12053 हरिद्वार – अमृतसर-जन शताबादी एक्सप्रेस ट्रेन नंबर 74642 अमृतसर – जलंधर सिटी यात्री ट्रेनट्रेन नंबर 74644 अमृतसर – जलंधर सिटी यात्री ट्रेन ट्रेन नंबर 74675 अमृतसर -पठानकोट पैसेंजर ट्रेन ट्रेन नंबर 74672 पठानकोट – अमृतसर यात्री ट्रेन
इन ट्रेनों को किया गया डायवर्ट ट्रेन नंबर 12904 अमृतसर-मुंबई सेंट्रल गोल्डन टेम्पल ट्रेन ट्रेन नंबर 14632 अमृतसर-देहरादून एक्सप्रेस ट्रेन ट्रेन नंबर 12715 नांदेड-अमृतसर सचखंड एक्सप्रेस ट्रेन नंबर 12483 कोचुवेली-अमृतसर एक्सप्रेस ट्रेन नंबर 1245 9 नई दिल्ली-अमृतसर इंटरसिटी एक्सप्रेस। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

देश

अमृतसर ट्रेन हादसा : चश्मदीदों की जुबानी-‘लाशें उछल रही थीं’, कुछ ऐसा था वो खौफनाक मंजर

Published

on

अमृतसर। पंजाब के अमृतसर में दशहरे के दिन रावण दहन के दौरान 60 लोगों की मौत के मामले पर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने दुख जताया है। अमरिंदर सिंह ने इस मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए। 4 हफ्ते में जांच रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने कहा कि हमारी यह जांच रेलवे की जांच से अलग जांच होगी। उन्होंने कहा कि ऐसे मौके पर आरोप-प्रत्यारोप नहीं होना चाहिए। यह हादसा बहुत ही दुखद है।

वहीं इस हादसे के बाद वहीं मौजूद चश्मदीदों ने मीडिया को बताया कि जब रावण को आग लगाई गई, तो पटाखों की बहुत तेज आवाज थी। उस वक्त ही ट्रेन आ गई और लोग रावण को देख रहे थे और ट्रेन ने ट्रैक पर जितने भी लोग थे उन्हें कुचल दिया। साथ ही जो लोग ट्रेन से भिड़ने से बच गए वो पत्थरों पर गिर गए, जिससे उनको चोट लगी है।

amritsar train accident

जब मैंने देखा तो मुझे ब्लीडिंग हो रही थी और चारों तरह लाशें ही लाशें ही थे। एक ने कहा कि पहली बार इतनी तेज ट्रेन गुजरी थी. हर बार यह ट्रेन लेट होती थी और सात बजे के बाद शुरू होती थी, लेकिन कल यह 6.45 बजे ही रवाना हो गई। एक चश्मदीद ने बताया कि रावण दहन हो रहा था और लोग ट्रैक के पास से रावण देख रहे थे। उसी वक्त ट्रेन आ गई और उसके बाद लाशें उछलकर आईं और उनसे टकराकर मैं भी गिर गया।

1947 में देखा था ऐसा मंजर

ऐसा मंजर फिल्मों में 1947 को लेकर देखा था और सुना था. 1947 के बाद अमृतसर में ऐसा मंजर पहली बार देखा गया जब यहां पर सिर्फ और सिर्फ शव पड़े हैं। जो भी इसके लिए जिम्मेदार है उसपर कार्रवाई हो।

लाशों के कई टुकड़े हो गए थे

मौके पर रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए सबसे पहले पुलिस पहुंची। घटनास्थल के आसपास रह रहे लोग भी मदद के लिए आगे आए। उन्होंने लाशों को ढकने और उठाने के लिए घरों से चादरें और कंबल लाकर दिए। लाशों के कई टुकड़े हो गए थे। एक पुलिसवाले ने बताया कि लाशें उठाते वक्त समझ नहीं आ रहा था कि किसका पैर है और किसका हाथ है। ट्रेन से कुचले गए लोगों की लाशें 150 मीटर तक बिखर गईं थी।

प्रत्यक्षदर्शी बोलें

  • एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा- रेलवे ट्रैक के आसपास कोई बैरिकेडिंग नहीं की गई थी। हादसे के मंजर को देखा नहीं जा सकता। ट्रैक के आसपास खून से लथपथ लाशें बिखरीं हैं।
  • एक चश्मदीद ने यह भी बताया कि पटरियों से महज 200 फीट की दूरी पर पुतला जलाया जा रहा था। कार्यक्रम बिना इजाजत हो रहा था।
  • एक और चश्मदीद ने कहा कि हर तरफ से लोगों के रोने-बिलखने की आवाज आ रही थी। इस हादसे के बाद लोग अपने परिजनों को तलाश रहे थे।
  • एक चश्मदीद ने कहा- 7 बजकर 10 मिनट पर पुतलों का दहन किया गया। अगर समय रहते यह सब हुआ होता तो हादसा बच सकता था। एक तो रोशनी होती और दूसरा उस वक्त ट्रेन का टाइम भी नहीं था।
  • एक ने कहा- बेटा दशहरा देखने आया था। ढूंढते हुए यहां पहुंचा तो ट्रैक पर उसकी लाश पड़ी थी।
  • उधर, लोको पायलट का कहना है कि रावण का पुतला दहन होने की वजह से आसपास इतना धुआं था कि उसे ट्रैक पर खड़ी भीड़ नजर ही नहीं आई।

10 साल पहले इसी ट्रैक पर पिता की मौत हुई थी

Ravan - Dalbeer

चार साल से रावण का किरदार निभाने वाले दलबीर सिंह (32) की भी इस हादसे में मौत हो गई। वे रामलीला का मंचन होने के बाद अपनी ड्रेस और स्मृति चिन्ह घर पर रखकर रावण दहन देखने जा रहे थे। उनकी आठ महीने की बेटी है। उनके बड़े भाई ने चश्मदीदों के हवाले से बताया कि दलबीर ने ट्रेन आती देखकर लोगों को ट्रैक से हटने को कहा। ट्रैक से खींचकर तीन लोगों की जान बचाई, लेकिन खुद ट्रेन की चपेट में आ गया। उन्होंने बताया कि 10 साल पहले इसी ट्रैक पर उसके पिता की भी मौत हुई थी। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
देश10 mins ago

अमृतसर ट्रेन हादसा : मंत्री सिद्धू की पत्नी ने बोला झूठ, फैमिली का करीबी है आयोजक

राज्य35 mins ago

अमृतसर हादसा दुखद, नहीं होनी चाहिए राजनीति : मनोज केशान

देश43 mins ago

अमृतसर रेल हादसा : रेल परिचालन हुआ प्रभावित, जारी की गई रद्द ट्रेनों की लिस्ट

मनोरंजन51 mins ago

#MeToo कैंपेन के खिलाफ बोले बिहारी बाबू, सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली

देश1 hour ago

अमृतसर ट्रेन हादसा : चश्मदीदों की जुबानी-‘लाशें उछल रही थीं’, कुछ ऐसा था वो खौफनाक मंजर

देश2 hours ago

घटनास्थल पर पहुंचे मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, दिए न्यायिक जांच के आदेश, 4 हफ्ते में मांगी रिपोर्ट

राज्य2 hours ago

यूपी : भाजपा पार्षद ने चांटे मार-मार कर दरोगा को पीटा, महिला वकील को भी नहीं बख्शा, देखें वीडियो

राज्य3 hours ago

यूपी : दशहरा व दुर्गापूजा के दौरान कई जगहों पर हिंसक झड़प और गोलीबारी, दो की मौत

देश3 hours ago

अमृतसर ट्रेन हादसा : जिसने निभाया था रावण का किरदार, उसे भी ‘मौत’ खींच ले गयी पटरी के पास

देश3 hours ago

8 बार विधायक रहे और वर्तमान भाजपा सांसद भोला सिंह का निधन, श्रद्धांजलि देने पहुंचे PM मोदी

देश4 hours ago

वीडियो : अमृतसर में बड़ा हादसा, ट्रेन से कुचलकर 60 लोगों की मौत, रेलवे और ड्राइवर ने दी सफाई

देश1 day ago

चला गया बहेड़ी को खास पहचान देने वाला नारायण दत्त तिवारी

हेल्थ2 days ago

डॉक्टरों का हैरतअंगेज कारनामा : देश में पहली बार मां के गर्भाशय से बेटी ने दिया बच्चे को जन्म

राज्य2 days ago

बलरामपुर में बड़ा हादसा, मार्शल चालक की टक्कर से मोटरसाइकिल सवार तीन की मौत

दुनिया2 days ago

अफगानिस्तान में बड़ा आतंकी हमला : गवर्नर, पुलिस चीफ और इंटेलिजेंस चीफ की गोलियों से भूनकर हत्या

राज्य2 days ago

उर्स के मौके पर नजर आएगा आला हजरत का इल्मी खजाना

राज्य2 days ago

मंडी में चल रहे घटिया निर्माण को देख भड़के विधायक पप्पू भरतौल

राज्य2 days ago

रज़ा के मेहमानों की मेहमान नवाज़ी को पूरा बरेली तैयार

देश1 week ago

VIDEO : मोदी के मंत्री ने एक्टिंग कर चौंकाया, लंबी मूंछें और राजशाही लिबास में आए नजर

देश4 days ago

दोस्त सईद ने घर बुलाकर किया 20 साल की मॉडल मानसी का मर्डर, सूटकेस में ले गया बॉडी

राज्य2 weeks ago

विवेक हत्याकांड : अब इंस्पेक्टर ने लिखा फेसबुक पर पोस्ट, ‘मैं पुलिस में हूं जिसे जानकारी नहीं वो समझ ले’…

देश1 week ago

शिवपाल पर मेहरबान हुई योगी सरकार, मायावती का खाली बंगला किया उनके नाम, सियासी हलचल तेज

देश3 weeks ago

लखनऊ गोलीकांड : योगी बोले कराएंगे सीबीआई जांच, DGP बोले, बर्खास्त होंगे दोनों आरोपी सिपाही

देश7 days ago

वीडियो : पुलिसवाले ने सरेराह न्यायाधीश की पत्नी और बेटे को मारी गोली, बोला-ये शैतान हैं

राज्य4 weeks ago

योगी आदित्यनाथ के गढ़ में शोहदों का आतंक, गोरखपुर का इंटर कॉलेज बंद

देश3 weeks ago

यूपी : SDM ने गोली मारकर तो महिला सिपाही ने फांसी लगाकर की खुदकुशी, सुसाइड नोट से मचा हड़कंप

देश1 week ago

गैर मर्द के साथ शारीरिक संबंध बना रही थी पत्नी, अचानक आया पति और फिर…

देश6 days ago

अखिलेश को झटका देने की तैयारी में योगी सरकार, शिवपाल के बाद अब राजा भैया पर हुई मेहरबान

दुनिया2 weeks ago

बेहोश होने तक ISIS के आतंकी करते थे रेप, पढ़ें, 2018 की नोबेल विजेता नादिया की दर्दभरी कहानी

देश3 weeks ago

लखनऊ शूटआउट : पत्नी बोली-अपना जुर्म छिपाने के लिए पति को चरित्रहीन साबित करने में जुटी पुलिस

राज्य3 weeks ago

1986 से अब तक AK-47 की गोलियों से दहलता रहा है मुजफ्फरपुर

राज्य4 weeks ago

मुलायम सिंह यादव बने दादा, छोटी बहू ने बेटी को दिया जन्‍म

राज्य3 weeks ago

विवेक तिवारी के हत्यारोपी सिपाही प्रशांत के रोम-रोम में भरी है दबंगई, लोग बुलाते हैं ‘छोटा डॉन’

राज्य2 weeks ago

विवेक हत्याकांड के आरोपी सिपाही के समर्थन में उतरी लखनऊ पुलिस, देखें तस्वीरें

देश2 weeks ago

विवेक हत्याकांड : आरोपी के समर्थन में बगावत पर उतरे पुलिसकर्मी, एक सस्पेंड, लीडर हिरासत में

राज्य6 days ago

मुज़फ्फरपुर अब सिंघम के हवाले, अपराधियों की उड़ी नींद, पूरी रात सड़कों पर पुलिस

Trending