देश में हर नागरिक का होगा यूनिक हेल्थ कार्ड, पीएम मोदी सोमवार को करेंगे एलान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 सितंबर यानी कि सोमवार को नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन (एनडीएचएम) की शुरुआत करेंगे। बता दें कि इसका नाम बदलकर प्रधानमंत्री डिजिटल हेल्थ मिशन (पिएच-डीएचएम) कर दिया गया है. इस बात कई जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने दी.
 
देश में हर नागरिक का होगा यूनिक हेल्थ कार्ड, पीएम मोदी सोमवार को करेंगे एलान 

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 सितंबर यानी कि सोमवार को नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन (एनडीएचएम) की शुरुआत करेंगे। बता दें कि इसका नाम बदलकर प्रधानमंत्री डिजिटल हेल्थ मिशन (पिएच-डीएचएम) कर दिया गया है. इस बात कई जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने दी.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट कर कहा कि 27 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के राष्ट्रव्यापी रोलआउट की घोषणा करेंगे. इसके तहत लोगों को एक यूनिक डिजिटल हेल्थ आईडी दी जाएगी, जिसमें व्यक्ति के सभी स्वास्थ्य रिकॉर्ड होंगे।

बता दें कि देश में स्वास्थ्य सेवा और बेहतर बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2020 को नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन (एनडीएचएम) का ऐलान किया था. इसके तहत 6 केंद्र शासित प्रदेशों में एनडीएचएम को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में लॉन्च किया गया था.

हेल्थ आईडी

डिजिटल हेल्थ मिशन का उद्देश्य लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करना है. इस मिशन के तहत हर व्यक्ति की एक हेल्थ आईडी बनेगी. हेल्थ-आईडी बनाने का विकल्प चुनने पर, लाभार्थी का नाम, जन्म का वर्ष, लिंग, मोबाइल नंबर और पता कलेक्ट किया जाता है. इसके बाद हेल्थ आईडी बनती है.

हेल्थ-आईडी की मदद से किसी भी व्यक्ति का पर्सनल हेल्थ रिकॉर्ड रखा जा सकेगा. इस रिकॉर्ड को डॉक्टर व्यक्ति की सहमति से देख सकेंगे. इसमें व्यक्ति के डॉक्टरों, स्वास्थ्य सुविधाओं और लैब जैसे सभी जेल्थ रिकॉर्ड्स मौजूद होंगे. इसके जरिए अगर कोई व्यक्ति डॉक्टर के पास जाता है, तो डॉक्टर उसकी हेल्थ आईडी की मदद से यह जान लेगा कि उसने कब-कब डॉक्टर को दिखाया है. साथ ही उसने कब कौन सी दवाएं खाई हैं और उसे कौन सी बीमारी पहले हो चुकी है.