दिव्यांगों और बुजुर्गों को अब घर जाकर लगेगा कोरोना का टीका

ऐसे लोग जो कोरोना की वैक्सीन लगावाने के लिए सेंटर पर जाने में असमर्थ हैं ( खास कर दिव्यांग और बुजुर्ग ) को घर जाकर कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी। 
 
corona vaccination

डोर-टु-डोर वैक्सीनेशन (door-to-door vaccination)

नई दिल्ली। ऐसे लोग जो कोरोना की वैक्सीन लगावाने के लिए सेंटर पर जाने में असमर्थ हैं ( खास कर दिव्यांग और बुजुर्ग ) उनको  केंद्र सरकार ने बड़ी राहत दी है। ​ऐसे लोगों को अब घर जाकर वैक्सीन लगाई जाएगी। सरकार ने डोर-टु-डोर वैक्सीनेशन

(door-to-door vaccination) की अनुमति दे दी है। इसके लिए गाइडलाइंस भी जारी कर दी गई है। नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी।

डॉक्टर पॉल ने बताया कि  हम उन लोगों के लिए घर पर टीकाकरण शुरू कर रहे हैं, जो सेंटर पर जाने में सक्षम नहीं हैं। इसके लिए एडवाइजरी जारी की गई है। आदेश में कहा गया है कि वैक्सीनेशन सेंटर पर जाने में अक्षम लोगों को टीका लगाना सुनिश्चित किया जाए। सभी राज्य और केंद्रशासित राज्य इसके लिए खास इंतजाम करें।


स्थानीय स्तर पर शहरी निकाय के कर्मचारी या फिर गांवों में आशा वर्कर यह सूची बनाएंगी कि किस क्षेत्र में कितने बुजुर्ग और दिव्यांग हैं और फिर उसके बाद उस क्षेत्र में नजदीक ही वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित किया जाएगा। हर वैक्सीनेशन सेंटर पर 5 लोगों की टीम को नियुक्त किया जाएगा। इसमें एक डॉक्टर, एक प्रशिक्षित नर्स और तीन वैक्सीनेशन ऑफिसर शामिल होंगे, जो पूरी कागजी कार्रवाई करेंगे।