Connect with us

देश

दिल्ली पर कोरोना की बड़ी आफत : 31 जुलाई तक हो जाएंगे 5.32 लाख केस

Published

on

उप राज्यपाल के फैसले को अक्षरश: लागू किया जाएगा, इस पर कोई विवाद नहीं

यह समय राजनीति करने और आपस में लड़ने का नहीं, वरना कोरोना जीत जाएगा

कोरोना की इस लड़ाई को अब जन आंदोलन बनाना होगा

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि आने वाले समय में दिल्ली में कोरोना बहुत तेजी से फैलने वाला है। पिछले 8 दिनों में 1900 कोरोना पॉजिटिव के केस अस्‍पताल पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि विभिन्‍न अस्‍पतालों में अभी भी 4200 बेड खाली हैं। केजरीवाल ने यह भी कहा कि उप राज्यपाल के फैसले को अक्षरश: लागू किया जाएगा, इस पर कोई विवाद नहीं है।

दिल्ली में कोरोना के केस और बढ़ेंगे

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को राज्य में कोरोना की स्थिति पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि आने वाले दिनों में दिल्ली में कोरोना के केस और बढ़ेंगे। उन्होंने राज्य के निवासियों को कोरोना से बचने की सलाह देते हुए कहा कि अब दिल्ली के सभी अस्पतालों में सभी का इलाज होगा। उनका मानना है कि कोरोना के 50 फीसद तक मरीज बाहर से आते हैं, ऐसे में अनुमान है कि जुलाई तक हमें डेढ़ लाख बेड की जरूरत पड़ेगी। साथ ही उन्‍होंने बताया कि स्‍टेडियमों और बेंक्वेट हॉल को क्‍वारंटाइन सेंटर में तब्‍दील करने की प्रक्रिया की निगरानी वह खुद करेंगे। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में अभी 18 हजार लोगों का इलाज जारी है, इनमें 15 हजार लोग अपने घरों में हैं।

31 जुलाई तक लगभग 5.32 लाख कोरोना के केस हो जाएंगे

उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना के तेजी से बढ़ने पर 15 जून को 44 हजार केस हो जाएंगे। 30 जून तक यह संख्या एक 1 लाख, 15 जुलाई को 2 लाख, 31 जुलाई तक लगभग 5.32 लाख कोरोना के केस हो जाएंगे।मुख्यमंत्री ने कहा कि इसलिए 31 जुलाई तक हमें 80 हजार बेड की जरूरत पड़ेगी। कोरोना की इस लड़ाई को अब जन आंदोलन बनाना होगा, मास्क पहनना होगा, हाथ धोने होंगे और सोशल डिस्टेंसिंग करनी होगी। खुद भी ये पालन करना है और दूसरे से भी करवाना है। हमारी सरकार ने फैसला लिया था कि दिल्ली में सिर्फ दिल्ली के ही लोगों का इलाज होगा लेकिन अब उपराज्यपाल और केंद्र सरकार के फैसले को लागू किया जाएगा, इस पर कोई विवाद नहीं है।

केजरीवाल की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि कल मेरा कोरोना वायरस का टेस्ट हुआ और रिपोर्ट निगेटिव आई है। मैं पिछले दो दिन से कमरे में बंद था। दिल्ली में आज 31 हजार कोरोना के केस हैं, जिनमें से 12 हजार लोग ठीक हो चुके हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जितने बेड हमें दिल्ली वालों के लिए चाहिए, उतने ही हमें बाहर से आने वालों के लिए चाहिए। यानी अगर दिल्ली में 33 हजार बेड की जरूरत होगी, तो बाहर से आने वालों के लिए मिलाकर कुल 65 हजार बेड की जरूरत होगी। उन्होंने कहा कि आने वाले दो दिनों में स्टेडियम और बेंक्वेट हॉल को क्‍वारंटाइन सेंटर में तब्‍दील करने की प्रक्रिया की निगरानी वह खुद करेंगे।

यह समय राजनीति करने और आपस में लड़ने का नहीं

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यह समय राजनीति करने और आपस में लड़ने का नहीं है। अगर हम लड़ते रहे तो कोरोना जीत जाएगा। उन्होंने बताया कि उनकी गैर-मौजूदगी में दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया एसडीएमए की बैठक में शामिल हुए थे। इधर, मनीष सिसोदिया ने आज दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर स्कूल खुलने पर भी स्थिति स्पष्ट कर दी। उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना के केस देखते हुए फिलहाल स्कूल खोलने का सवाल ही नहीं उठता।

Trending