Connect with us

देश

कमलनाथ की प्रेस कांफ्रेंस में शामिल पत्रकार निकाला Corona positive, पूर्व सीएम ने खुद को किया आइसोलेट

Published

on

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बुधवार को उस समय हड़कंप मच गया जब खबर आई कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रेस कांफ्रेंस में शामिल होने वाला एक पत्रकार कोरोना पॉजिटिव  (Corona positive) पाया गया है। पत्रकार के साथ साथ उसकी बेटी भी कोरोना से संक्रमित है। इसके बाद कमलनाथ ने भी खुद को आइसोलेट कर लिया है।

20 मार्च को कमलनाथ ने मुख्यमंत्री आवास में प्रेस कांफ्रेंस बुलाई थी। इसमें वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, पार्टी के विधायक और प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों समेत करीब 200 पत्रकार भी मौजूद थे। इसमें वो पत्रकार भी था जो बाद में कोरोना पॅजिटिव निकला।

खबर आते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया है। प्रशासन ने प्रेस कांफ्रेंस में मौजूद सभी पत्रकारों को खुद को आइसोलेट करने की सलाह दी है। हालांकि अभी प्रेस कांंफ्रेंस में शामिल अन्य प्रशासनिक अधिकारियों और विधायकों के बारे में कोई सूचना नहीं है कि उन्हें विभाग की ओर से क्या हिदायत दी गई है या वे क्या एहतियात बरत रहे हैं।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएचएमओ) सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि गत दिनों कोरोना संक्रमण पॉजिटिव पाई गई लड़की के पिता का कोरोना संक्रमण सेंपल भी पॉजिटिव आया है। सीएचएमओ डेहरिया ने बताया कि पत्रकार के संपर्क में आये प्रत्येक व्यक्ति को 14 दिन तक होम आइसोलेशन में रहने की आवश्यकता है। इसके साथ ही 6 से 7 दिनों में सर्दी, खांसी के साथ बुखार आने पर तुरन्त कंट्रोल रूम से संपर्क करने की हिदायत दी जा रही है।

कोरोना पीड़ित लड़की के स्वास्थ्य मानकों के अनुसार उससे मिलने-जुलने वाले 10 व्यक्तियों के सैंपल जांच के लिये भेजे गए थे। उनमें से 9 लोगों के टेस्ट नेगेटिव आए हैं। उनकी माताजी, भाई, घर में काम करने वाले लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। केवल उनके पिताजी का टेस्ट पॉजिटिव आया है, जिन्हें इलाज के लिये एम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया जा रहा है।

READ  राजधानी फिर हुई शर्मसार, सरकारी स्कूल में दूसरी क्लास की छात्रा से रेप, एेसे हुआ खुलासा

 

Coronavirus

आखिरकार कनिका की रिपोर्ट निगेटिव आई, अभी कुछ दिन और रहेंगी अस्पताल में  

Published

on

By

kanika kapoor

लखनऊ। आखिरकार बहुचर्चित, कोरोना पीड़ित बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर की पांचवी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। हांलाकि अभी वह कुछ दिन अस्पताल में ही रहेंगी। जब उनकी छठी रिपोर्ट भी नेगेटिव आएगी तभी उनको डिस्चार्ज किया जाएगा। लखनऊ के एसजीपीजीआई में भर्ती कनिका कपूर की हालत में सुधार है। शुक्रवार को भी उनका सैंपल लेकर जांच को भेजा गया। बॉलीवुड गायिका की हर दूसरे दिन जांच कराई जा रही है। उन्हें अब अन्य किसी तरह की दिक्कत नहीं है। वह खाने-पीने के साथ दवाएं भी ले रही हैं। वहीं, पीजीआई में भर्ती दो संदिग्ध मरीजों के भी सैंपल लिए गए हैं।

इलाज करने वाली पूरी टीम की भी हो रही जांच

इसके साथ ही इलाज में लगी पूरी टीम के भी सैंपल जांच को भेजे गए। एसजीपीजीआई में 36 सैंपल लिए गए। इनमें सात परिसर में रहने वाले तो एक राजधानी क्षेत्र का है। पांच ऐसे भी लोगों के सैंपल लिए गए, जो होम क्वारंटीन हैं।

कोरोना से मशहूर हुईं कनिका

बॉलीवुड स्टार कही जाने वाली कनिका कपूर को पहले लोग इतना नहीं जानते थें जितना उनको कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद जाना गया। कनिका लखनऊ कब आई और कब तक रहीं किसी को इसकी जानकारी नहीं थी वह लगातार लखनऊ में पार्टी करती रही जिसमें शासन सत्ता से जुडे़ लोगों की मौजूदगी इन पार्टियों में चार चांद लगा रही थी, नवाबों के इस शहर के पॉश इलाके में एक हसीन गायिका कनिका कपूर की रंगारंग नाइट पार्टियां चल रही थीं। लेकिन अचानक जब उनकी हालत बिगड़ी और उन्हे अस्पताल ले जाया गया तब पूरे मामले का खुलासा हुआ और लखनऊ कानपुर ही नहीं पूरे प्रदेश में हड़कंप मच गया था।

READ  गहलोत सरकार ने किसानों के लिए खोला खजाना, बनेगा 1000 करोड़ का कल्याण कोष, पढ़ें बजट की बड़ी घोषणाएं

पीजीआई में 4 नमूने पॉजिटिव निकले, -तीन औरैया के और एक बाराबंकी का

लखनऊ। पीजीआई में हुई जांच में शनिवार को कोरोना संक्रमण के 4 मामले पॉजिटिव आये हैं। इनमें तीन औरैया के और एक बाराबंकी का है। पीजीआई की पीआरओ कुसुम यादव ने बताया कि पीजीआई में शुक्रवार को 73 नमूने जांच के लिए आये थे। इनमें कनिका समेत 5 पीजीआई के नमूने थे। यह सभी निगेटिव आये है। पीजीआई के कोरोना वार्ड में 4 संदिग्ध भर्ती हैं। शनिवार को 34 नमूने जांच के लिए भेजे गए है। इनमे कानपुर के 22, प्रतापगढ़ के 6, चित्रकूट का एक और पीजीआई के पांच नमूने भेजे गये है।

Continue Reading

देश

प्रधानमंत्री मोदी 8 अप्रैल को विपक्षी नेताओं से करेंगे बात

Published

on

By

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आगामी 8 अप्रैल को 11 बजे विपक्षी पार्टियों के नेताओं से बात करेंगे। केंद्रीय संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने शनिवार को बताया कि यह बातचीत वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगी।

प्रधानमंत्री की बातचीत में राजनीतिक दलों के लोकसभा या राज्यसभा में सदन के नेता शामिल होंगे। इसमें ऐसे दलों को शामिल किया गया है जिनके दोनों सदनों में सदस्यों की संख्या कम से कम 5 या फिर उससे अधिक है।दरअसल, देश इस समय 21 दिन के लाॅकडाउन के दौर से गुजर रहा है।

ऐसे में प्रधानमंत्री जनता में अपनी बात पहुंचाने या फिर मंत्रियों से बात करने या राज्यों के मुख्यमंत्रियों आदि से वीडिय़ो कांफ्रेंसिंग के जरिए ही बातचीत कर रहे हैं और तैयारियों का जायजा भी ले रहे हैं, ताकि कोविड-19 के बढ़ते खतरे की चुनौतियों के लिए तैयारियां पूरी तरह से चुस्त-दुरुस्त रहें। इसी क्रम में अब 8 अप्रैल को वे विपक्षी पार्टियों के नेताओं से बातचीत कर उनका नजरिया जानेंगे।

READ  जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में ग्रेनेड हमला, एक की मौत, 15 घायल
Continue Reading

Coronavirus

देश में Corona के 30 फीसदी मामले तबलीगी जमात से जुड़े

Published

on

By

आपदा

-वायरस की चपेट में आने से अब तक 68 लोगों की मौत
-देश में 2902 लोग Corona संक्रमित पाए गए

नई दिल्ली। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश में अब तक कुल 2902 लोग Corona संक्रमित पाए गए हैं, इनमें से 68 लोगों की मौत हो गई है तो 183 लोग ठीक हुए हैं। पिछले 24 घंटों में 601 नए मामले आए हैं। यह एक दिन में मिले कोरोना संक्रमितों का अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह भी कहा है कि देश में आए कुल मामलों में से 1023 केस यानी 30 फीसदी तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने शनिवार को बताया कि तबलीगी जमात से जुड़े केस तमिलनाडु, दिल्ली, राजस्थान, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक, अंडमान निकोबार, उत्तराखंड, हिमाचल, झारखंड सहित 17 राज्यों से सामने आए हैं।

अब हर दिन 10 हजार टेस्ट

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने कहा कि जांच की संख्या जरूरत के मुताबिक बढ़ाई जा रही है। अब प्रतिदिन 10 हजार जांच किए जा रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि 31 हजार रिटायर्ड डॉक्टर वॉलंटियर के रूप में सामने आए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि 97 कार्गो जहाजों के जरिए 1019 टन मेडिकल सामान राज्यों को भेजा गया है।

22 हजार लोग किए गए क्वारंटाइन

वहीं गृह मंत्रालय कि संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने कहा कि तबलीगी जमात में शामिल लोगों के संपर्क में आए 22 हजार लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। गौरतलब है कि दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में शामिल हुए हजारों लोग देश के अलग-अलग हिस्सों में जा चुके हैं। राज्य सरकारें युद्धस्तर पर उनको ट्रेस करके क्वारंटाइन कर रही हैं। इस बीच इन लोगों के संपर्क में आए अन्य लोगों को भी क्वारंटाइन किया जा रहा है।

READ  ट्रंप ने कासिम सुलेमानी को लेकर किया बड़ा खुलासा, बताई ईरानी कमांडर के मारे जाने की असली वजह
Continue Reading

Trending