चरणजीत सिंह चन्नी बने पंजाब के नए "कैप्टन", पूर्व सीएम अमरिंदर ने बनाई शपथ ग्रहण समारोह से दूरी

चरणजीत सिंह चन्नी के तौर पर पंजाब को अपना अगला मुख्यमंत्री मिल गया है।
 
charanjit singh channi
चरणजीत सिंह चन्नी

चंडीगढ़। चरणजीत सिंह चन्नी के तौर पर पंजाब को अपना अगला मुख्यमंत्री मिल गया है। राजभवन में सोमवार को राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने चन्नी को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। 

चन्नी के साथ ही सुखजिंदर सिंह रंधावा और ओपी सोनी ने भी मंत्रीपद की शपथ ली है और इन्हें उपमुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी इस समारोह में शामिल होने के लिए राजभवन पहुंचे लेकिन तब तक चन्नी शपथ ले चुके थे। 

खास बात यह रही कि इस शपथग्रहण समारोह से कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दूरी बनाए रखी और वह इसमें शामिल नहीं हुए। हालांकि, खबरों के मुताबिक अब शपथ लेने के बाद आज दोपहर एक बजे के आसपास चन्नी कैप्टन से मिलने के लिए उनके फार्म हाउस पर जाएंगे। पंजाब की राजनीति में ये तीनों ही चेहरे कैप्टन के करीबी नहीं माने जाते हैं। 

चुनाव से पहले कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक

पंजाब में विरोधियों ने चुनाव के बाद जो वादे किए, वह कांग्रेस ने अभी ही पूरे कर दिए। भाजपा ने दलित सीएम की बात कही तो  कांग्रेस ने चरणजीत चन्नी को बना दिया। अकाली दल ने एक हिंदू व एक दलित को डिप्टी सीएम बनाने की बात कही थी। कांग्रेस ने हिंदू और जट्‌ट सिख को डिप्टी सीएम बनाकर उसका भी तोड़ निकाल लिया। अब पंजाब में सरकार बनाने के लिए विरोधियों के आगे नई चुनौती पैदा हो गई हैं। अब जातीय ध्रुवीकरण के मुद्दे पर कांग्रेस के पास उनके लिए सटीक जवाब है।