उत्तराखंड में भाजपा रच सकती है इतिहास, "पंजाब में आप" बन सकती है सबसे बड़ी पार्टी, गोवा में भी दिखाएगी दम

पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान ​तो अभी नहीं हुआ है लेकिन सियासी दलों ने अपनी जीत के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। हर कोई अपनी जीत के दावे कर रहा है। भाजपा और कांग्रेस के अलावा इस बार अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी पर भी सबकी नजरें हैं। आप दिल्ली के बाहर कई राज्यों में मजबूती के साथ दस्तक दे सकती है।
 
Goa, Punjab, Uttarakhand Assembly Election Survey
विधानसभा चुनाव सर्वे

नई दिल्ली। पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव  की तारीखों का ऐलान ​तो अभी नहीं हुआ है लेकिन सियासी दलों ने अपनी जीत के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। हर कोई अपनी जीत के दावे कर रहा है। भाजपा और कांग्रेस के अलावा इस बार अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी पर भी सबकी नजरें हैं। आप दिल्ली के बाहर कई राज्यों में मजबूती के साथ दस्तक दे सकती है।

आप की मजूबत दावेदारी 

5 राज्यों के चुनावों को लेकर टाइम्स नाउ नवभारत के ओपिनियन पोल में यह दावा किया गया है। सर्वे के मुताबिक आम आदमी पार्टी पंजाब में बहुमत से थोड़ा ही पीछे रहेगी। इसके अलावा गोवा और उत्तराखंड में भी वह मजबूत उपस्थिति दर्ज करा सकती है। यदि पोल सही साबित होता है तो राष्ट्रीय राजनीति में आम आदमी पार्टी की यह मजबूत उपस्थिति होगी, जिसमें वह पहले कई बार चूकती दिखी है। पोल के मुताबिक आम आदमी पार्टी 117 सीटों वाले पंजाब में 53 से 57 सीटें जीत सकती है।

पंजाब

पंजाब सत्ताधारी कांग्रेस को महज 41 से 45 सीटें ही मिलने का अनुमान है। अकाली गठबंधन को 14 से 17 सीटें हासिल हो सकती हैं। भाजपा, कैप्टन अमरिंदर सिंह के गठबंधन को महज 1 से 3 सीटों पर ही संतोष करना पड़ सकता है। 

उत्तराखंड

उत्तराखंड की बात करें तो पोल में भाजपा का परचम लहराने का अनुमान है। राज्य की 70 सीटों में से 42 से 48 सीटें जीतकर भाजपा आसानी से बहुमत हासिल कर सकती है, जबकि कांग्रेस के लिए 12 से 16 सीटों की ही भविष्यवाणी की गई है। लेकिन आम आदमी पार्टी यहां 4 से 7 सीटें जीतकर चौंका सकती है। यदि सर्वे सही साबित होता है तो भाजपा पहली बार पहाड़ी राज्य में सत्ता में वापसी करेगी, जबकि आप के लिए यह बड़ी दस्तक होगी। 

गोवा 

इसी तरह गोवा में भी आम आदमी पार्टी मुख्य विपक्षी दल बनने की स्थिति में आ सकती है। 40 सीटों वाले राज्य में भाजपा 18 से 22 सीटें जीतकर सत्ता हासिल कर सकती है। वहीं आम आदमी पार्टी को 7 से 11 सीटें मिलने का अनुमान है। 2017 में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरने वाली कांग्रेस को सिर्फ 4 से 6 सीटें ही मिल सकती हैं। वहीं कांग्रेस समेत कई पार्टियों के नेताओं को तोड़ने वाली तृणमूल कांग्रेस उतना अच्छा प्रदर्शन नहीं करती दिख रही है, जितना उसकी ओर से माहौल बनाया गया है। सर्वे के मुताबिक राज्य में तृणमूल का खाता खुलना भी मुश्किल है। हालांकि राज्य में 2 फीसदी वोट शेयर उसे हासिल हो सकता है।